S M L

पुतिन को सुभाषचंद्र बोस की मृत्यु की फाइल को सार्वजनिक करना चाहिएः सुब्रह्मण्यम स्वामी

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि पुतिन को प्रमाण देना होगा कि वह हमारे दोस्त है और इसके लिए उन्हें सुभाषचंद्र बोस और लाल बहादुर शास्त्री की फाइलों को सावर्जनिक करना होगा

Updated On: Oct 11, 2018 11:24 AM IST

FP Staff

0
पुतिन को सुभाषचंद्र बोस की मृत्यु की फाइल को सार्वजनिक करना चाहिएः सुब्रह्मण्यम स्वामी

पिछले दिनों ने बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने साफ कहा था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की हत्या कर दी गई थी और इसका सीधा कनेक्शन रूस से था. हाल ही में उन्होंने पुतिन पर तंज कसा है और उन्हें लेकर कई तरह की बाते कही हैं. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि पुतिन को प्रमाण देना होगा कि वह हमारे दोस्त है और इसके लिए उन्हें सुभाषचंद्र बोस और लाल बहादुर शास्त्री की फाइलों को सावर्जनिक करना होगा.

उन्होंने कहा कि पुतिन को बताना होगा कि हाल ही में सोनिया गांधी उनसे मिलने दो बार रूस क्यों गई थीं. पुतिन को सोनिया गांधी और उनके पिता के केजीबी एफीलिएशन्स का रिकॉर्ड देना होगा. फिलहाल पुतिन दोनों साइड से खेल रहे हैं. भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने इससे पहले कहा था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की हत्या में रूस के पूर्व राष्ट्रपति जोसेफ स्टालिन की भूमिका थी और 1945 में विमान हादसे में उनकी मौत नहीं हुई थी, जैसा कि ज्यादातर लोग मानते हैं.

एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वामी ने कहा था कि बोस ने साम्यवादी रूस में शरण मांगी थी, जहां बाद में उनकी हत्या कर दी गई थी. उन्होंने कहा, 'बोस की मृत्यु 1945 में नहीं हुई थी. यह बिल्कुल गलत है. यह नेहरू और जापानियों की साजिश है. सुभाष चंद्र बोस ने रूस में शरण मांगी थी और उन्हें वहां शरण दी गई थी.

जवाहर लाल नेहरू सबकुछ जानते थे. बाद में वहां बोस की हत्या कर दी गई. स्वामी ने यह भी दावा किया था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिंद सरकार के चलते ब्रितानी औपनिवेशिक शासकों ने भारत को आजादी दी जिसका गठन 75 साल पहले सिंगापुर में हुआ था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi