S M L

पुणे के आर्मी हॉस्पिटल में हुआ था दिव्यांग महिला से रेप, अब NHRC ने भेजा नोटिस

अक्टूबर में खड़की स्थित मिलिट्री हॉस्पिटल में काम करने वाली 34 साल की एक मूक-बधिर महिला ने चार फौजियों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था

Updated On: Dec 20, 2018 09:20 PM IST

FP Staff

0
पुणे के आर्मी हॉस्पिटल में हुआ था दिव्यांग महिला से रेप, अब NHRC ने भेजा नोटिस

कुछ महीने पहले पुणे के एक आर्मी हॉस्पिटल में एक मूक-बधिर महिला ने चार जवानों पर अपने साथ चार सालों तक दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था. ये घटना अक्टूबर में सामने आई थी. अब इस पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने संज्ञान लिया है.

अक्टूबर में खड़की स्थित मिलिट्री हॉस्पिटल में काम करने वाली 34 साल की एक मूक-बधिर महिला ने चार फौजियों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था.

मीडिया में प्रकाशित खबरों के आधार पर एनएचआरसी को मामले की शिकायत करने वाले मध्य प्रदेश के मानवाधिकार कार्यकर्ता जयेश राजपुरोहित ने गुरुवार को बताया, 'एनएचआरसी ने रक्षा मंत्रालय के सचिव और पुणे के पुलिस आयुक्त को 18 दिसंबर को नोटिस जारी कर चार हफ्ते में जवाब मांगा है. इसके साथ ही, भारतीय दंड विधान (आईपीसी) की धारा 166-ए के अनुपालन के बारे में रिपोर्ट भी तलब की है.’

उन्होंने आरोप लगाया कि पुणे पुलिस ने कथित तौर पर असंवेदनशीलता और लापरवाही दिखाते हुए पीड़ित महिला की एफआईआर दर्ज करने में देर की. नतीजतन उसे इंदौर के एक पुलिस थाने में मूक-बधिरों की मदद के लिए चलाए जा रहे केंद्र की मदद लेनी पड़ी.

इंदौर के तुकोगंज थाने में चलाए जा रहे इस पुलिस सहायता केंद्र के मुख्य समन्वयक ज्ञानेंद्र पुरोहित ने बताया कि पीड़ित महिला ने वीडियो कॉल के जरिए जून में उनसे संपर्क करते हुए इशारों की जुबान में अपने कथित यौन शोषण की आपबीती सुनाई थी.

पुरोहित ने बताया कि उन्होंने महिला की शिकायत को सरकार और फौज के जिम्मेदार लोगों तक पहुंचाया था. इसके बाद पुणे के खड़की पुलिस थाने में चार सैन्य कर्मचारियों पर दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न के आरोपों में 16 अक्टूबर की रात एफआईआर दर्ज किया गया था.

क्या था मामला?

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, उस महिला ने पुलिस में दर्ज कराई गई अपनी शिकायत में बताया कि उसने ये मिलिट्री अस्पताल 2014 में जॉइन किया था. वो वहां चतुर्थ श्रेणी की कर्मचारी की हैसियत से काम करती थी. वो नाइट शिफ्ट में आती थी. उसी दौरान एक जवान ने फैमिली वार्ड के बाथरूम में पहली दफा उसके साथ रेप किया.

उसने शिकायत पत्र में दर्ज करवाया कि उसने रेप की बात अपने सीनियर नर्सिंग असिस्टेंट और एक दूसरे जवान को टेक्स्ट मैसेज के जरिए बताई. लेकिन कोई एक्शन लेने के बजाय वो दूसरा फौजी भी उसे सेक्सुअल फेवर्स की मांग करने लगा. बात न मानने पर उसने महिला के मैसेज को सार्वजनिक करने की धमकी भी दे दी.

इसके बाद उन दोनों जवानों के साथ मिलकर दो और जवानों ने चार साल के अतंराल में कई बार उसका रेप किया. इनमें से दो जवानों ने कथित रूप से उसका वीडियो क्लिप बनाकर उसे ब्लैकमेल भी किया.

(एजेंसी से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi