S M L

स्वीडन में मोदीः एयरपोर्ट पर पीएम स्टीफन लॉवेन ने किया स्वागत

पीएम मोदी एयरपोर्ट से निकलने के बाद भारतीय समुदाय के लोगों से मुलाकात की

Updated On: Apr 17, 2018 08:48 AM IST

Bhasha

0
स्वीडन में मोदीः एयरपोर्ट पर पीएम स्टीफन लॉवेन ने किया स्वागत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार देर रात (भारतीय समानुसार) स्वीडन पहुंचे. यहां प्रधानमंत्री स्टीफन लॉवेन खुद एयरपोर्ट पहुंचकर उनका स्वागत किया. दोनों नेता गर्मजोशी के साथ मिले. इसे पीएम मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया और लिखा, 'स्टॉकहोम में लैंड करने पर प्रधानमंत्री स्टीफन लॉवेन का एयरपोर्ट पर स्वागत करने के लिए शुक्रिया.'

पीएम मोदी एयरपोर्ट से निकलने के बाद भारतीय समुदाय के लोगों से मुलाकात की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज छह दिवसीय यात्रा पर स्वीडन और ब्रिटेन के लिए रवाना हुए जहां वह व्यापार और निवेश सहित कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत बनाने पर जोर देंगे.

16 से 21 अप्रैल तक निर्धारित स्वीडन और ब्रिटेन की यात्रा पर रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा था कि वह व्यापार, निवेश और स्वच्छ ऊर्जा समेत विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी गहरा बनाने को लेकर आशान्वित हैं.

डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड, नॉर्वे तथा स्वीडन के पीएम संग होनी है बैठक

मोदी ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा था, ‘भारत और स्वीडन के बीच दोस्ताना रिश्ता है. हमारी साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों तथा खुले, समावेशी एवं नियमों की बुनियाद पर टिकी वैश्विक व्यवस्था के प्रति कटिबद्धता पर आधारित है. स्वीडन हमारे विकास पहलों में एक मूल्यवान साझेदार है.’

तीन दशको में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली स्वीडन यात्रा होगी. इस दौरान मोदी द्विपक्षीय वार्ता करने के साथ प्रथम भारत-नोर्डिक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे.

इस सम्मेलन का सह-आयोजन भारत और स्वीडन ने किया है. इसमें डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड, नॉर्वे तथा स्वीडन के प्रधानमंत्री शामिल होंगे.

प्रधानमंत्री 16 अप्रैल को शाम को स्टॉकहोम पहुंचेंगे. 17 अप्रैल को वह कई बैठकों में शामिल होंगे. भारत-नॉर्डिक सम्मेलन के इतर मोदी की डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड और नॉर्वे के प्रधानमंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठकें होंगी.

स्वीडन के नरेश कार्ल सोलहवें से भी मिलेंगे 

इसके अलावा मोदी और स्वीडन के प्रधानमंत्री मंगलवार को द्विपक्षीय वार्ता करेंगे. मोदी ने कहा कि वह और लोफवेन दोनों देशों के शीर्ष कारोबारी नेताओं से संवाद करेंगे तथा व्यापार एवं निवेश, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, स्वच्छ ऊर्जा एवं स्मार्ट सिटी जैसे क्षेत्रों में सहयोग की भावी रूपरेखा तैयार करेंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह स्वीडन के नरेश कार्ल सोलहवें गुस्ताफ से भी मिलेंगे.

मोदी ने कहा, ‘स्वच्छ प्रौद्योगिकियों, पर्यावरण हल, बंदरगाह आधुनिकीकरण, कोल्ड चेन, कौशल विकास और नवोन्मेष में नोर्डिक देशों की ताकत का लोहा विश्व मान चुका है. नोर्डिक क्षमता भारत के परिवर्तन के हमारे दिशादृष्टि में सटीक बैठती है.’ भारत और नॉर्डिक देशों के बीच गहरा संबंध है और इनके साथ 5.3 अरब डालर का कारोबार है.

डेनमार्क, फिनलैंड और स्विडन यूरोपीय संघ में शामिल है जबकि नार्वे और आइसलैंड यूरोपीय फ्यूचर एसोसिएशन का हिस्सा हैं. भारत इन देशों के साथ कौशल विकास, पर्यावरण, कोयला, बंदरगाह विकास के अलावा स्वच्छ भारत, स्मार्ट सिटी और स्वच्छ गंगा में सहयोग करना चाहता है. दूसरी ओर, इन देशों को भारत के बाजार और प्रतिभाओं का फायदा मिलेगा.

(इनपुटः भाषा)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi