S M L

लोग तो सवाल पूछेंगे, जवाब देना होगा साहेब!

बीजेपी भले कुछ भी कहे लेकिन, सवाल तो लोग पूछेंगे ही, सवाल सर्वे पर भी होगा

Updated On: Nov 24, 2016 06:42 PM IST

Amitesh Amitesh

0
लोग तो सवाल पूछेंगे, जवाब देना होगा साहेब!

लोकसभा में हो-हंगामा जारी है. लेकिन, राज्यसभा में नोटबंदी पर आखिरकार चर्चा शुरू हो ही गई. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सदन के भीतर पहुंचे. सरकार ने भरोसा दिलाया इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री बोलेंगे.

सवाल यही खड़ा हो रहा है कि प्रधानमंत्री आखिर इतनी देर से सदन में बोलने के लिए तैयार क्यों हुए? यह बात गौर करने वाली इसलिए हो जाती है कि बुधवार को ही नमो ऐप पर लोगों की राय से प्रधानमंत्री ने सबको अवगत कराया था. ऐप पर लोगों का जवाब सरकार के समर्थन में था.

नमो ऐप के सर्वे के मुताबिक, 98 फीसदी लोगों ने माना था कि भारत में कालाधन है. जबकि, 92 फीसदी लोगों ने कालेधन के खिलाफ सरकार के कदम को बेहतर बताया था. वहीं, 500 और 1000 रुपए के नोट को बैन करने के फैसले की सराहना 90 फीसदी लोगों ने की थी.

पांच लाख से ज्यादा लोगों  ने दी राय 

नमो ऐप पर 5 लाख से ज्यादा लोगों की राय आई है जिस पर बीजेपी और सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है. इसे जनता के मिजाज से जोड़कर सरकार विपक्ष को आईना दिखाना चाहती है.

लेकिन, इस आईने से देश की साफ तस्वीर नहीं दिख रही है. सवाल खड़ा हो रहा है कि देश के भीतर केवल स्मार्ट फोन यूजर ही इस सर्वे में भाग ले पाए हैं.

इसमें भी अधिकतर शहरी क्षेत्र के ही लोग हैं. ऐसे में सुदूर क्षेत्रों में परेशान लोगों की राय को इस सर्वे में नजरअंदाज कर दिया गया है.

विपक्ष इसी मुद्दे को लेकर सर्वे पर सवाल खड़ा कर रहा है. नोटबंदी के बाद सरकार पर सबसे ज्यादा आक्रामक ममता और माया हैं. यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले मायावती किसी भी सूरत में इस मुद्दे को छोड़ना नहीं चाहती.

मायावती ने कहा-फर्जी सर्वे

मायावती ने सर्वे को फर्जी बताया है. मायावती ने तो प्रधानमंत्री को सीधे इसी समय लोकसभा चुनाव करा लेने की चुनौती तक दे डाली है. माया ने कहा है कि इससे देश के मूड का पता चल जाएगा.

सर्वे पर सवाल के बीच बीजेपी पलटवार कर रही है. बीजेपी कह रही है यूपी में चुनाव होने ही हैं. केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने तो कहा कि जिनके पास पैसा है, वही इस तरह डरे हुए हैं. बीजेपी ने विपक्ष को चुनौती दी है कि चाहे तो विपक्ष नोटबंदी पर सर्वे करा ले.

बीजेपी भले कुछ भी कहे लेकिन, सवाल तो लोग पूछेंगे ही, सवाल सर्वे पर भी होगा और सवाल सर्वे के बाद प्रधानमंत्री के संसद में बोलने के राजीनामे पर भी.

 

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और जी प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi