विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

राष्ट्रपति चुनाव: पीएम मोदी के 5 मास्टरस्ट्रोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रामनाथ कोविंद को एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने से पहले भी कई फैसले अचानक ले चुके हैं

Puneet Saini Puneet Saini Updated On: Jun 20, 2017 09:38 AM IST

0
राष्ट्रपति चुनाव: पीएम मोदी के 5 मास्टरस्ट्रोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कठोर फैसलों के चलते कई बार चर्चा का केंद्र बने हैं. राष्ट्रपति के लिए एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के नाम की घोषणा के बाद एक बार फिर साबित हो गया, कि पीएम मोदी के फैसले की कोई जानकारी ना तो मीडिया में लीक होती है. और ना ही इसकी किसी दूसरे नेता को जानकारी होती है. ये कोई पहली बार नहीं है जब मोदी के फैसलों ने सबको चौंका दिया. इससे पहले भी कई बार कुछ इसी तरह के फैसले ले चुके हैं पीएम मोदी.

कुछ ऐसे ही फैसलों के आपको रू-ब-रू करवाते हैं. जिसकी जानकारी ना तो मीडिया को थी और ना ही किसी अन्य व्यक्ति को.

नोटबंदी

8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री ने ऐतिहासिक फैसला लिया था. इस फैसले ने पूरे देश की नजर भारत की तरफ घुमा दी थी. ये फैसला था नोटबंदी का. जापान यात्रा से लौटने के एक दिन बाद नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोट बंद करने का फैसला किया था.

BannedNotes1

इसकी कई लोगों ने कठोर आलोचना भी की थी. आलोचकों ने इसे तुगलकी फरमान करार दिया था. लेकिन मोदी ने इस फैसले को भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में एक कदम करार दिया था. विपक्ष भी लगातार मोदी पर आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए था. लेकिन पीएम मोदी अपने फैसले पर अटल रहे और जनसमर्थन की बात करें तो यूपी चुनाव में बीजेपी की जीत से साबित भी हो गया.

सर्जिकल स्ट्राइक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना 56 इंच का सीना पाकिस्तान को करारा जवाब देकर साबित किया. उरी हमले के 10 दिन बाद भारतीय जवानों ने भारतीय जवानों ने पाक अधिकृत कश्मीर में घुस कर 38 आतंकियों को मार गिराया था. इतना ही नहीं आतंकी शिविरों को भी नेस्तोनाबूत कर दिया था. इस फैसले की जानकारी भी पहले ना तो शेयर की गई ना ही इसकी किसी को भनक लगने दी. यह फैसला भी अचानक लिया गया था. पीएम मोदी के इस फैसले का पूरे देश ने समर्थन किया था.

योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री

यूपी में बीजेपी को मिली ऐतिहासिक जीत के बाद सबसे बड़ी चुनौती राज्य की कमान सौंपने का था. रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के नाम के कयास लगाए जा रहे थे. लेकिन इस बीच खबर आई कि यूपी के अगले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होंगे. योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाना अपने आप में एक बड़ा फैसला था क्योंकि योगी की छवि एक कट्टर हिंदू नेता की है. वहीं यह फैसला भी अचानक लिया गया था. जिसे हम कह सकते हैं सरप्राइज मूव.

Yogi Adityanath

देवेंद्र फडणवीस के महाराष्ट्र और मनोहर लाल खट्टर को हरियाणा की कमान

कई वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार कर प्रधानमंत्री ने दो बड़े राज्यों की कमान ऐसे नेताओं को सौंपी जिनका कद राजनीति में ज्यादा बड़ा नहीं था. आज वहीं दोनों नेता राजनीति में एक बड़ा नाम साबित हुए हैं. पहला नाम है महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का. महाराष्ट्र में जहां एक तरफ नितिन गडकरी जैसे वरिष्ठ नेता थे. उसमें से देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाना एक बड़ा फैसला था.

दूसरा नाम है हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का. हरियाणा में बीजेपी को मिली जीत के बाद राज्य की सत्ता सौंपने का काम सबसे बड़ा था. जहां सब एक तरफ अन्य वरिष्ठ नेताओं के नाम पर कयास लगा रहे थे. ऐसे में सबको दरकिनार कर प्रधानमंत्री ने गैर जाट मनोहर लाल खट्टर को सूबे की कमान सौंपी. जो कि एक बहुत बड़ा फैसला था.

राष्ट्रपति उम्मीदवार

एक बार फिर एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए रामनाथ कोविंद का नाम सामने आने के बाद साबित हो गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक फैसले लेते हैं. जहां एक तरफ कई लोग राष्ट्रपति के लिए लालकृष्ण आडवाणी के नाम के कयास लगा रहे थे. शिवसेना ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए संघ प्रमुख मोहन भागवत का नाम आगे कर दिया था.

Ram Nath Kovind leaves for Delhi

ऐसे में रामनाथ कोविंद पर मुहर लगाना अपने आप में बहुत बड़ा फैसला है. दूसरा रामनाथ दलित समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. दो बार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं. इन सभी फैसलों से साबित होता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले अचानक लिए जाते हैं. इसकी भनक किसी को भी नहीं होती.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi