S M L

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी पर DMK ने लगाया भाई-भतीजावाद का आरोप

विपक्षी पार्टी डीएमके ने पलानीस्वामी के खिलाफ सत्ता के दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाई थी.

Updated On: Aug 24, 2018 03:18 PM IST

FP Staff

0
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी पर DMK ने लगाया भाई-भतीजावाद का आरोप

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई के पलानीस्वामी के खिलाफ हाईवे प्रोजेक्ट्स में धोखाधड़ी के आरोपों के चलते विजिलेंस और एंटी करप्शन निदेशालय (DVAC) ने प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है. इस बात की जानकारी DVAC ने मद्रास हाईकोर्ट को दी है. विपक्षी पार्टी डीएमके ने पलानीस्वामी के खिलाफ सत्ता के दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाई थी.

गुरुवार को डीएमके ने मद्रास हाईकोर्ट में पलानीस्वामी के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की थी. अपनी याचिका में डीएमके ने कहा कि उसने इस साल जून में DVAC को शिकायत की थी कि पलानीस्वामी ने करोड़ों के हाईवे प्रोजेक्ट्स के कॉन्ट्रेक्ट अपने रिश्तेदारों को दे दिए हैं. डीएमके ने कहा कि शिकायत के बावजूद आरोपों की जांच नहीं की गई.

डीएमके की याचिका की कॉपी सीएनएन-न्यूज18 के पास मौजूद हैं. याचिकाकर्ता आरएस भारती ने कहा, "पलानीस्वामी ने एक सरकारी कर्मचारी होते हुए सत्ता का दुरुपयोग किया. साल 2011 से 2016 के दौरान तमिलनाडु के वर्तमान मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामी राजमार्ग मंत्री थे. उस वक्त जयललिता मुख्यमंत्री थीं. उन दिनों सड़कें बनाने का कॉन्ट्रैक्ट पलानीस्वामी खुद देते थे.

आयकर विभाग ने इस साल जुलाई में ठेकेदारों के घर पर छापे मारे थे. ये छापे एक्सप्रेस-वे प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीओ नागराजन सेयादुराई के घर पर भी मारे गए थे. कहा जा रहा है कि नागराजन मुख्यमंत्री के करीबी हैं.

सेयादुराई के ठिकानों पर आयकर विभाग ने 36 घंटे तक छापे मारे थे. इस दौरान कैश में 170 करोड़ रुपए मिले थे. इसके अलावा 100 करोड़ रुपए का सोना भी मिला था.

जुलाई में छापे के बाद ही डीएमके ने मुख्यमंत्री पलानीस्वामी के इस्तीफे की मांग की थी. लेकिन उस वक्त पलानीस्वामी ने कहा था कि कॉन्ट्रेक्ट देने के दौरान कोई अनियमितता नहीं बरती गई थी.

(साभार: न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi