S M L

तमिलनाडु में राजनीतिक क्रांति लाना चाहता हूं: रजनीकांत

रजनीकांत का कहना है कि वो तमिलनाडु में राजनैतिक क्रांति लाने की इच्छा रखते हैं. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु एक ‘ऐतिहासिक’ राज्य है जिसने कई बड़े बदलाव लाए हैं

Bhasha Updated On: Jan 03, 2018 11:52 AM IST

0
तमिलनाडु में राजनीतिक क्रांति लाना चाहता हूं: रजनीकांत

राजनीति में आने की घोषणा कर हलचल पैदा कर चुके सुपरस्टार रजनीकांत का कहना है कि वो तमिलनाडु में राजनैतिक क्रांति लाने की इच्छा रखते हैं. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु एक ‘ऐतिहासिक’ राज्य है जिसने कई बड़े बदलाव लाए हैं.

उन्होंने कहा, ‘तमिलनाडु बेहद ऐतिहासिक स्थान है. चाहे गांधीजी का अपना सामान्य पहनावा छोड़कर धोती अपनना हो-सबकुछ यहां से शुरू हुआ था.’ मीडिया को चार मिनट की अनौपचारिक संबोधन में उन्होंने कहा, ‘मेरी यहां से एक राजनैतिक क्रांति शुरू करने की इच्छा है.’ उन्होंने कहा कि अगर अभी बदलाव किए गए तो भावी पीढ़ी बेहतर जिंदगी जिएगी.

उन्होंने कहा कि इस पहल में सबकी जिम्मेदारी है. यह स्वतंत्रता के लिये संघर्ष की तरह है. रजनी ने मौजूदा संघर्ष को ‘लोकतांत्रिक संघर्ष’ बताया.

मीडिया से बातचीत को लेकर रजनीकांत ने कहा कि वो मीडिया से बातचीत करने से संकोच करते हैं और बहुत कभी-कभी ही संवाददाताओं से बातचीत करते हैं. उन्होंने मुस्कराते हुए कहा कि वह मीडिया से निपटने को लेकर आश्वस्त नहीं थे.

हालांकि, उन्होंने पत्रकारों को भरोसा दिलाया कि वह पार्टी से संबंधित काम हो जाने के बाद उन्हें संबोधित करेंगे. रजनीकांत ने एक नई बात का खुलासा कर सबको चौंका दिया. उन्होंने बताया कि उन्होंने दो महीने के लिए कर्नाटक में एक अखबार में प्रूफरीडर के तौर पर काम किया था.

कुछ लोगों द्वारा ‘आध्यात्मिक राजनीति’ की ‘सांप्रदायिक राजनीति’ के तौर पर व्याख्या किए जाने पर रजनीकांत ने कहा कि उनका आशय ऐसी राजनीति से था जो सच्चाई और ईमानदारी पर आधारित हो और जाति, मजहब और धर्म की राजनीति से मुक्त हो.

हालांकि, उन्होंने यह बताने से इंकार कर दिया कि वह कब अपनी प्रस्तावित पार्टी के नाम और चुनाव चिह्न की घोषणा करेंगे. उन्होंने कहा, ‘मैं खुद नहीं जानता हूं.’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह लोगों से मिलेंगे तो उन्होंने कहा कि आने वाले समय में इसका पता चलेगा.

उन्होंने कहा, ‘एकबार में मैं आपको सबकुछ नहीं बता सकता हूं.’ रजनीकांत ने कल यहां रामकृष्ण मठ के आध्यात्मिक प्रमुखों से मुलाकात की थी और उनसे आशीर्वाद मांगा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi