S M L

लालू की सजा पर सियासत तेज, RJD और JDU-BJP में तेज हुई जुबानी जंग

चारा घोटाले के तीन मामलों में अदालत से लालू यादव को सजा हुई है. इससे बिहार की सियासत में भूचाल आ गया है. आरजेडी के लिए इस संकट से उबरना काफी मुश्किल हो रहा है

Amitesh Amitesh Updated On: Jan 24, 2018 05:28 PM IST

0
लालू की सजा पर सियासत तेज, RJD और JDU-BJP में तेज हुई जुबानी जंग

चारा घोटाले से जुड़े तीसरे मामले में लालू यादव को सजा होने के बाद अब इस मुद्दे पर सियासत तेज हो गई है. रांची में सीबीआई की विशेष अदालत का फैसला आने के तुरंत बाद बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और वर्तमान में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इसे संघ और बीजेपी की साजिश बता दिया.

तेजस्वी यादव ने कहा कि सभी जानते हैं कि यह आरएसएस और बीजेपी की साजिश है. तेजस्वी ने लालू यादव के सजा के पीछे असली ताकत बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बता दिया. हालांकि उनकी तरफ से कहा गया कि वो इस फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत में अपील करेंगे.

तेजस्वी यादव के लगाए आरोपों के बाद जेडीयू और बीजेपी दोनों ने पलटवार किया. जेडीयू की तरफ से विधान पार्षद और प्रवक्ता नीरज कुमार ने शेरो-शायरी के माध्यम से अपना जवाब दिया.

नीरज कुमार ने ट्वीट कर कहा कि 'प्यास तो मरकर भी नहीं बुझती जमाने की, मुर्दे भी जाते-जाते गंगा जल का घूंट मांगते हैं.'

जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने फ़र्स्टपोस्ट से बातचीत के दौरान कहा कि अगर तेजस्वी यादव को पिता के धन अर्जन के महापाप पर प्रायश्चित करना है तो भूमिहीन दलितों और पिछड़ों में अपने पिता की जब्त होने वाली संपत्ति पहले ही बांट दें.

लालू यादव के जेल जाने के बाद पार्टी को एकजुट रखने का दायित्व तेजस्वी यादव के कंधों पर आ पड़ा है

लालू यादव के जेल जाने के बाद तेजस्वी यादव पर आरजेडी को एकजुट रखने की चुनौती है

हमलावर जेडीयू तेजस्वी यादव को लगातार निशाने पर ले रही है

जाहिर तौर पर जेडीयू को नीतीश कुमार पर तेजस्वी का आरोप नागवार गुजरा है. इसके बाद जेडीयू लगातार तेजस्वी यादव को निशाने पर ले रही है.

उधर, आरएसएस-बीजेपी पर साजिश के आरोप लगाने को लेकर बीजेपी के बिहार अध्यक्ष नित्यानंद राय ने भी कड़ी प्रतिक्रिया दी है. नित्यानंद राय ने फ़र्स्टपोस्ट से कहा कि आरजेडी और तेजस्वी यादव का संघ और बीजेपी पर साजिश का आरोप सरासर गलत है. उनका कहना था कि विपक्ष में रहते हुए बीजेपी सड़कों पर उतरी थी. बीजेपी ने उस वक्त यह बताया था कि किस तरह गरीबों का हक मारा जा रहा है. आज लालू यादव को हो रही सजा बीजेपी के ही संघर्षों का नतीजा है.

फ़र्स्टपोस्ट से बातचीत में बिहार बीजेपी के अध्यक्ष लालू यादव और उनकी पार्टी पर जमकर बरसे. नित्यानंद राय ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है. लालू के साथ जो दूसरे लोग भी इस मामले में शामिल हैं, इसका प्रमाण अदालत के पास है. बिहार की जनता ने तो पहले ही अपना फैसला सुना दिया है. किसी जमाने में जनाधार वाले लालू यादव आज बिहार में जनता के द्वारा किनारे कर दिए गए हैं.

तेजस्वी यादव के बयान पर नित्यानंद राय ने कहा कि उन्हें राहुल गांधी से पूछना चाहिए, क्योंकि जब आरजेडी के लोगों पर एफआईआर दर्ज हुआ, जब सीबीआई को चारा घोटाले का केस सौंपा गया. और जब जांच हुई तो उस वक्त देवेगौड़ा, गुजराल और मनमोहन सिंह की केंद्र में सरकार थी. इसलिए बीजेपी पर आरोप लगाना सरासर गलत है.

बिहार बीजेपी अध्यक्ष ने तेजस्वी यादव और आरजेडी नेताओं की तरफ से बीजेपी पर आरोप लगाने की उनकी ओछी मानसिकता का परिचायक बताया.

उधर, बिहार सरकार में डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी तेजस्वी यादव के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि क्या नीतीश कुमार जज से मिले हुए हैं. सुशील मोदी ने तेजस्वी यादव के बयान को अफसोसजनक बताया है.

लालू की पार्टी आरजेडी नीतीश कुमार को उनके जेल जाने के पीछे कसूरवार ठहराती है

लालू की पार्टी आरजेडी का आरोप है कि नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ मिलकर लालू यादव के खिलाफ  साजिश रचा है

ताजा घटनाक्रम से बिहार की राजनीति में भूचाल आ गया

फिलहाल बिहार में इस वक्त सियासी तूफान मचा हुआ है. चारा घोटाले में एक के बाद एक फैसले में जिस तरह से लालू यादव को सजा सुनाई जा रही है, उससे बिहार की सियासत में भूचाल आ गया है. आरजेडी के लिए इस मामले में फिलहाल उबरना काफी मुश्किल हो रहा है, क्योंकि उनके नेता भ्रष्टाचार के मामले में लगातार दोषी ठहराए जा रहे हैं. दूसरी तरफ, लालू के जेल में रहने के दौरान उनके बगैर पार्टी का बचाव करना भी काफी मुश्किल हो रहा है.

इसे भी पढ़ें: लालू यादव दोषी करार: क्या अब बिहार की राजनीति लालू विहीन हो जाएगी?

अब बीजेपी और जेडीयू इस मौके का फायदा उठाकर नीतीश कुमार के फिर से बीजेपी के साथ आने के फैसले को सही ठहराने की कोशिश करेंगे. साथ ही आने वाले दिनों में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर लालू यादव और आरजेडी के साथ-साथ सहयोगी कांग्रेस को भी घेरने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे. कोशिश लोकसभा चुनाव से पहले आरजेडी-कांग्रेस को बैकफुट पर धकेलने की हो रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi