S M L

BHU में छात्राओं पर लाठीचार्ज: राजनीतिक पार्टियों के निशाने पर पीएम मोदी

छेड़खानी के विरोध में धरना-प्रदर्शन कर रही छात्राओं पर पुलिस लाठीचार्ज के बाद पूरा बीएचयू परिसर छावनी में तब्दील हो गया है

Bhasha Updated On: Sep 24, 2017 04:53 PM IST

0
BHU में छात्राओं पर लाठीचार्ज: राजनीतिक पार्टियों के निशाने पर पीएम मोदी

बीएचयू में कथित छेड़खानी के विरोध में प्रदर्शन कर रही छात्राओं पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज की घटना की राजनीतिक दलों ने जमकर आलोचना की है.

जेडीयू के बागी नेता शरद यादव ने इस घटना पर ट्वीट किया, ‘बीएचयू के छात्रों और लड़कियों पर लाठीचार्ज निंदनीय है. क्योंकि यह अभिव्यक्ति और भाषण की आजादी पर प्रतिबंध लगाना है, यह पहले कभी नहीं हुआ.’ उन्होंने कहा, ‘हम इस मुद्दे को संसद में उठाएंगे. लोकतंत्र में यह अस्वीकार्य है. सरकार को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए.’

यादव ने इस संबंध में एक बयान भी जारी किया है. उन्होंने कहा कि ‘बीएचयू में पहले ऐसा कभी नहीं हुआ. यह संविधान के तहत भाषण और अभिव्यक्ति की आजादी का उल्लंघन है.’

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया है, ‘प्रधानमंत्री के लोकसभा क्षेत्र में नारा ‘बेटी बचाओ’ का स्थान ‘बेटी पिटवाओ’ ने ले लिया है. मोदी जी क्या यही नया भारत है?’

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया है, ‘सिर्फ एक बर्बर सरकार ही लाठियों से लैस पुरुष पुलिसकर्मियों का छात्राओं के खिलाफ इस्तेमाल करती है. बीजेपी-आरएसएस विद्यार्थियों से इतने डरे हुए क्यों हैं?’ उन्होंने लिखा है, ‘मोदी कहते हैं ‘बेटी बचाओ’. हमें नहीं मालूम था, इसका अर्थ उसकी सरकार की क्रूरताओं से महिलाओं को बचाना है. वह भी उनके अपने लोकसभा क्षेत्र में.’

सीपीएम (माले) के पोलित ब्यूरो की सदस्य कविता कृष्णन ने ट्वीट किया है, ‘बीएचयू में यौन उत्पीड़न के खिलाफ और जीएससीएएसएच की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रही छात्राओं पर लाठी चार्ज. वाह रे बेटी बचाओ.’

स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया है, ‘मैं भेदभाव पूर्ण नियमों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही छात्राओं के साथ हूं.’ यादव इस संबंध में एक फेसबुक लाइव भी कर रहे हैं.

गुरूवार को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में हुई कथित छेड़खानी के विरोध में धरना-प्रदर्शन के बाद बीती रात पूरा परिसर छावनी में तब्दील हो गया है.

शनिवार रात कुलपति आवास के पास पहुंचे छात्र-छात्राओं पर विश्वविद्यालय के सुरक्षाकर्मियों ने लाठीचार्ज कर दिया जिसमें कुछ विद्यार्थी घायल हो गए. छात्राओं का कहना है कि पुलिस ने उन पर भी लाठीचार्ज किया. इसके बाद छात्रों का गुस्सा भड़क उठा और उन्होंने सुरक्षाकर्मियों पर पथराव शुरू कर दिया. यह सभी विद्यार्थी संस्थान में गुरूवार को हुई कथित छेड़खानी के विरोध में धरना प्रदर्शन कर रहे थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi