S M L

मुरादाबाद में मोदी ने कहा, जनधन खाते में गया ब्लैक मनी गरीबों का

जनधन खाते में जिसने भी पैसा जमा किया वह जेल जाएगा

Updated On: Dec 04, 2016 11:37 AM IST

Krishna Kant

0
मुरादाबाद में मोदी ने कहा, जनधन खाते में गया ब्लैक मनी गरीबों का

मुरादाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां भाजपा की ओर से आयोजित परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए शनिवार को विरोधियों पर जमकर निशाना साधा. नोटबंदी पर जनधन खातों के दुरुपयोग पर प्रधानमंत्री बड़ी घोषणा करते हुए कहा आपके जनधन खाते में जिसने भी पैसा जमा किया वह पैसा मत निकालना. जिसका पैसा है वो जेल जाएगा. पैसा गरीबों को मिले. अगर जनधन के अकाउंट में पैसे पड़े हैं तो मैं रास्ता निकालूंगा. जिन लोगों ने गरीबों के खाते में पैसा डाला है वे जेल जाएंगे.

प्रधानमंत्री के भाषण से दस प्रमुख बातें:

1. जिन लोगों ने आपके खाते में पैसा डाला है, उसे आप लौटाएंगे? वह पैसा गरीबों का है. उसे मत निकालना. हम इसका भी उपाय खोज रहे हैं. जिन्होंने आपके खाते में पैसा डाला है, वे जेल जाएंगे.

2. इस देश में 70 साल से चली आ रही भ्रष्टाचार की बीमारी को खत्म करने के लिए कैशलेस ट्रांजैक्शन को अपनाना होगा. पिछली सरकारों ने नोट छाप-छाप कर इस देश में भ्रष्टाचार को बढ़ाया है. अब ऐसा नहीं होगा.

3. देश के सही विकास के लिए उत्तर प्रदेश की गरीबी हटाना बेहद जरूरी है. हम चाहते हैं कि हिंदुस्तान से गरीबी मिटनी चाहिए. भारत से गरीबी मिटनी चाहिए, बड़े प्रदेश से गरीबी खत्म हो तो देश की गरीबी कम होगी.

4. गरीबी को मिटाना है तो बड़े राज्यों यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल से गरीबी मिटानी होगी. केवल सांसद बनने के लिए मैं उप्र से चुनाव नहीं लड़ा. उप्र को गरीबी से मुक्ति दिलाने के लिए इस राज्य से चुनाव लड़ा. वाराणसी के लोगों ने मुझे भरपूर आर्शीवाद दिया.

5. लाल किले के प्राचीर से कहा था कि 1000 दिन में गांवों में बिजली पहुंचा दूंगा. अभी आधी अवधि भी नहीं बीती है लेकिन 950 गांवों में बिजली पहुंचा दी. सरकारें घोषणा के लिए नहीं होती हैं. योजनाएं बनाकर उन्हें लागू करना होता.

6. क्या मेरा यह गुनाह है कि मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहा हूं? आज लोग मेरे ऊपर आरोप लगा रहे हैं. लेकिन ज्यादा से ज्यादा ये लोग मेरा क्या कर लेंगे. हम तो फकीर आदमी हैं. झोला लेकर चल देंगे.

7. आज जो लोग लाइन में लगे हैं वे ईमानदार हैं. बुरे दिन तो उन लोगों के हैं जो बेईमान हैं और यह दौर जारी रहेगा.

8. सवा से करोड़ लोग ही मेरे मालिक है. यही मेरा जनता जनार्दन है. मेरा कोई नेताजी नहीं है. यह देश की पहली सरकार है जो अपना हिसाब दे रही है. घोषण करके हिसाब देने वाली यह पहली सरकार है.

9. देश की सभी मुसीबत की जड़ में भ्रष्टाचार है. भ्रष्टाचार को खत्म करने की जरूरत है. भ्रष्टाचार को डंडा लेकर भगाने की जरूरत है.

10. मैंने आपसे 50 दिनों का समय मांगा है. 50 दिन तक परेशानी रहेगी, उसके बाद परिणाम अच्छा होगा. गेहूं, तेल के लिए भी तो लाइन में लगना पड़ता है. 70 से पूरे देश को लाइन में खड़ा कर दिया था. इस लाइन को खत्म करने के लिए मैंने आखिरी लाइन लगवाई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi