S M L

त्रिपुरा में PM मोदी: महामिलावट के साथी भी जान चुके हैं कि देश का भविष्य मोदी के साथ ही है

बीजेपी की कोशिश पूर्वोत्तर के राज्यों के अपनी लोकसभा सीटें बढ़ाने की है, इसी को लेकर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां के तीन राज्यों- अरुणाचल, असम और त्रिपुरा के दौरे पर आए हैं

| February 09, 2019, 05:33 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Feb 9, 2019

  • 18:06(IST)

    मुझे बताया गया है कि त्रिपुरा में 11 महीनों के भीतर, 2 लाख से अधिक गैस कनेक्शन हो चुके हैं, 20,000 से अधिक घरों और 1.25 लाख से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया है. विभिन्न योजनाएं आज गरीब लोगों के जीवन स्तर को बढ़ा रही हैं: पीएम मोदी

  • 17:32(IST)

    महामिलावट के सभी साथी जान चुके हैं कि देश के युवा, देश के गरीब, देश के किसान को अपनी आकांक्षाएं मोदी में ही दिखती हैं : पीएम मोदी

  • 17:31(IST)

    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'जब मैंने राज्य के चुनावों के दौरान पिछली बार यहां का दौरा किया था, तो मैंने हीरा (HIRA) - हाईवे, आईवे, रेलवे, एयरवे के बारे में बात की थी. आज जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया है वह HIRA मॉडल का प्रतिबिंब हैं.'

  • 17:28(IST)

    त्रिपुरा, जो राज्य एक भू-भाग क्षेत्र होने के बहाने विकास से वंचित था, को अब दक्षिण पूर्व एशिया का प्रवेश द्वार बनाया जा रहा है: प्रधानमंत्री मोदी

  • 17:27(IST)

    अगरतला में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'राज्य में पहली बार एमएसपी में धान की खरीद की गई. इसके अलावा, 7वें वेतन आयोग की सिफारिश लागू की गई.'

  • 17:26(IST)

    पुर्वोत्तर के राज्यों के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुणाचल प्रदेश, असम के बाद अब त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में एक जनसभा को संबोधित कर रहे हैं.

  • 14:21(IST)

    नागरिकता संशोधन का विषय सिर्फ असम या नॉर्थ ईस्ट से जुड़ा नहीं है, बल्कि देश के अनेक हिस्सों में मां भारती पर आस्था रखने वाली ऐसी संताने हैं, ऐसे लोग हैं जिनको अपनी जान बचाकर भारत आना पड़ा है. चाहे वो पाकिस्तान से आए हों, अफगानिस्तान से आए हों या फिर बांग्लादेश से, ये 1947 से पहले भारत का ही हिस्सा थे, जब आस्था के आधार पर देश का विभाजन हुआ. हमसे अलग हुए देशों में जो अल्पसंख्यक यानि हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध पारसी और ईसाई, वहां रह गए थे उनको संरक्षण देना हमारा दायित्व है : पीएम मोदी

  • 14:19(IST)

    असम अकोर्ड के अनुसार छह समुदायों को ट्राइब का दर्जा दिया जाएगा. उनके हितों की रक्षा की जाएगी. हमने एससी-एसटी के  लोगो का नुकसान किए बिना ही हमने आर्थिक तौर पर पिछड़े सवर्णों को आरक्षण देकर यह दिखा दिया है: पीएम मोदी

  • 14:17(IST)

    बंटवारे के बाद उन देशों में जो अल्पसंख्यक थे उन्हें आस्था के खातिर यातना दी जाती थी. उस से बच कर वह भारत में आए हैं. तो उन्हें हमें आसरा देना चाहिए. - प्रधानमंत्री मोदी

  • 14:12(IST)

    आखिर ऐसा क्यों रहा कि कुछ लोगों के लिए जन्म लेते ही उनके लिए भारत रत्न तय हो जाता था और देश के मान-सम्मान के लिए जिन्होंने जीवन लगा दिया उनको सम्मानित करने के लिए दशक लग जाते थे? : पीएम मोदी

  • 14:11(IST)

    असम के अमीन गांव में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने भारत रत्न को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला. उन्होंने कहा, 'आज मुझे गर्व है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार के समय ही असम के दो सपूतों, गोपीनाथ बोरदोलोई और भुपेन हजारिका को भारत रत्न देने का काम किया गया है.'

  • 14:06(IST)

    अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में रैली को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी असम के अमीन गांव पहुंचे हैं. यहां भी वह एक जनसभा को संबोधित कर रहे हैं.

  • 11:45(IST)

    पीएम मोदी ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश देश का अभिमान है. ये भारत के विकास का, भारत की सुरक्षा का गेटवे भी है. इस गेटवे को शक्ति देने का काम बीजेपी की सरकारें करती रहेंगी.

  • 11:44(IST)

    सामान्य आदमी की सेहत के साथ-साथ देश के किसान के आर्थिक स्वास्थ्य को ताकत देने के लिए भी इस साल के बजट में किसानों के लिए बहुत बड़ी योजना लाई गई है. पीएम किसान सम्मान निधि के तहत हर उस किसान परिवार को जिसके पास 5 एकड़ या उससे कम जमीन है, हर वर्ष उसके बैंक खाते में 6,000 रुपए केंद्र सरकार सीधे जमा करेगी- पीएम मोदी

  • 11:41(IST)
  • 11:40(IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'पिछले 2 सालों में करीब 1000 गांव सड़कों से जुड़े हैं. ट्रांस अरुणाचल हाइवे का काम भी प्रगति पर है. नॉर्थ ईस्ट की सभी राजधानियों को जोड़ने के प्रयास में, ईटानगर को रेलवे से भी जोड़ा गया है.'

  • 11:40(IST)

    हमारी सरकार विकास की पंचधारा: बच्चों की पढ़ाई, युवा को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन-जन की सुनवाई सुनिश्चित करने के लिए काम कर रही है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

  • 11:39(IST)

    केंद्र सरकार देश के हर क्षेत्र की संस्कृति, भाषा, खान-पान, रहन-सहन को संरक्षित करने, उनका और विकास करने के लिए प्रतिबद्ध है. यही कारण है कि हमारी सरकार ने अरुणाचल की संस्कृति को ताकत देने के लिए यहां के अपने 24 घंटे के टीवी चैनल अरुण प्रभा को लॉन्च किया है: पीएम मोदी

  • 11:39(IST)

    पीएम मोदी ने साथ ही कहा, 'अरुणाचल के लिए ना तो प्रकृति ने कोई कमी छोड़ी है और ना ही अध्यात्म और आस्था से जुड़े स्थानों की यहां कमी है. नए एयरपोर्ट बनने से, नई रेल लाइन बिछने से, यहां देश विदेश के टूरिस्टों की संख्या भी बढ़ेगी. इससे युवाओं के लिए रोजगार के अनेक नए अवसर बनेंगे.'

  • 11:38(IST)

    मैं अरुणाचल प्रदेश को सौभाग्य योजना के तहत करीब हर परिवार तक बिजली पहुंचाने के लिए बहुत बधाई देता हूं. आज अरुणाचल ने जो हासिल किया है वो बहुत ही जल्द पूरे देश में होने वाला है. सौभाग्य योजना के तहत देश में करीब 2.5 करोड़ परिवारों के घरों से अंधेरे को दूर किया जा चुका है: पीएम मोदी

  • 11:38(IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'पिछली सरकारों ने दशकों से इस राज्य की उपेक्षा की है, लेकिन इसे बदलने के लिए हम यहां हैं. न्यू इंडिया तभी बन सकता है जब नॉर्थ ईस्ट का भी अच्छे तरह से विकास हो.'

  • 11:38(IST)

    विकास की इसी कड़ी में आज अरुणाचल में एक साथ दो एयरपोर्ट का उद्घाटन और शिलान्यास हो रहा है. अरुणाचल प्रदेश के लिए तो ये और भी अहम अवसर है, क्योंकि आजादी के इतने वर्षों तक यहां एक भी ऐसा एयरपोर्ट नहीं था जहां नियमित रूप से बड़े यात्री जहाज़ उतर पाएं- पीएम मोदी

  • 11:37(IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'मैं बार-बार कहता आया हूं कि न्यू इंडिया तभी अपनी पूरी शक्ति से विकसित हो पाएगा, जब पूर्वी भारत, नॉर्थ ईस्ट का तेज गति से विकास होगा. ये विकास संसाधनों का भी है और संस्कृति का भी. ये विकास अलग-अलग क्षेत्रों को जोड़ने का भी है और दिलों को जोड़ने का भी.'

  • 11:37(IST)

    अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'आज अरुणाचल प्रदेश में 4 हजार करोड़ से ज्यादा रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने का अवसर मिला. इससे कनेक्टिविटी तो सुधरेगी ही राज्य के पावर सेक्टर को भी मजबूती मिलेगी. स्वास्थ्य सेवाओं की सेहत बेहतर होगी और अरुणाचल की संस्कृति को भी बढ़ावा मिलेगा.'

  • 11:32(IST)

    फ़र्स्टपोस्ट हिंदी के लाइव ब्लॉग में आपका स्वागत है.

त्रिपुरा में PM मोदी: महामिलावट के साथी भी जान चुके हैं कि देश का भविष्य मोदी के साथ ही है

लोकसभा चुनावों की घोषणा होने में करीब एक महीने का वक्त बाकी है लेकिन बीजेपी ने फरवरी की शुरुआत से ही अपनी चुनावी रणनीति को जमीन पर उतारना शुरू कर दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार 8 फरवरी को सबसे पहले छत्तीसगढ़ का दौरा किया जहां उन्होंने रायगढ़ के कोंडातराई में एक रैली को संबोधित किया. वहां मोदी ने कांग्रेस की नई सरकार की तरफ से किसानों की कर्जमाफी को एक छलावा बताया. इसके बाद मोदी पश्चिम बंगाल पहुंचे और जलपाईगुडी में रैली की. मोदी की कोशिश बंगाल में पार्टी को मजबूत करने की है. पार्टी चाहती है कि 2019 चुनाव में वह ज्यादा से ज्यादा सीटें जीत सके. ममता के गढ़ में घुसकर मोदी का ललकारना यही दिखा रहा है कि बीजेपी बंगाल की जनता को यह भरोसा दिलाने की कोशिश में है कि अब ममता का विकल्प कांग्रेस और लेफ्ट नहीं बल्कि बीजेपी ही है, जिसका एहसास पंचायत चुनावों में हो चुका है.

लेकिन, पश्चिम बंगाल के अलावा मोदी की नजर बाकी उन राज्यों पर भी है जहां बीजेपी काफी उम्मीद लगाए बैठी है. बीजेपी की कोशिश नॉर्थ-ईस्ट और दक्षिण के राज्यों के अपनी सीटें बढ़ाने की है. लिहाजा मोदी आज पश्चिम बंगाल में रैली खत्म कर के सीधे असम पहुंच गए हैं. आज रात वो वहीं विश्राम करेंगे.

पूर्वोत्तर राज्यों की 21 सीटें जीतने का लक्ष्य

अगले दिन शनिवार 9 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम की राजधानी गुवाहाटी में ब्रम्हपुत्र नदी पर एक पुल की आधारशिला रखने के बाद एम्स का शिलान्यास भी करने वाले हैं. इसके बाद नई गैस पाईपलाइन का उद्घाटन भी करेंगे. असम के बाद प्रधानमंत्री मोदी का अरुणाचल प्रदेश में दौरा होगा, जहां वो एक नए ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का उद्घाटन कर राज्य के लोगों को नई सौगात देंगे. इसके बाद शाम को मोदी त्रिपुरा में एक बड़ी रैली को संबोधित करेंगे. कुल मिलाकर प्रधानमंत्री कल उत्तर पूर्वी राज्यों का बैक-टू बैक दौरा करने वाले हैं.

पूर्वोत्तर के राज्यों में कुल 25 लोकसभा सीटें हैं. इनमें से 8 सीटें बीजेपी के पास है. अब बीजेपी का लक्ष्य है कि आगामी लोकसभा चुनाव में वह पूर्वोत्तर राज्यों की 21 सीटें जीत सके.

पूर्वोतर के राज्यों में सिक्किम, असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर, मेघालय में बीजेपी की सरकार है. जबकि त्रिपुरा में पार्टी ने अपने दम पर लेफ्ट के मजबूत किले को ध्वस्त कर दिया. केवल मिजोरम में बीजेपी अपनी सरकार नहीं बना सकी. हालांकि यह पहली बार था जब बीजेपी ने राज्य में अपना खाता खोला.

प्रधानमंत्री मोदी के बैक टू बैक दौरों का मकसद चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं के भीतर उर्जा का संचार करना है. मोदी पूरी तरह से चुनावी मोड में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi