Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

भुवनेश्वर: भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक जारी, पीएम होंगे शामिल

भुवनेश्वर में 15 और 16 अप्रैल को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है.

Bhasha Updated On: Jun 03, 2017 11:36 AM IST

0
भुवनेश्वर: भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक जारी, पीएम होंगे शामिल

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भुवनेश्वर में जारी है. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ओडिशा समेत कोरोमंडल क्षेत्र में पार्टी के प्रभाव बढ़ाने की रूपरेखा पेश कर सकते हैं, जहां पार्टी पारंपरिक तौर पर कमजोर मानी जाती है.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक ऐसे समय में हो रही है जब हाल ही में भाजपा ने उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में जबर्दस्त जीत दर्ज की है. साथ ही गोवा और मणिपुर में सरकार बनाने में सफल रही है. ओडिशा के भुवनेश्वर में 15 और 16 अप्रैल को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, सभी भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे.

पिछले महीने उड़ीसा के स्थानीय निकाय चुनाव में मिली जीत के बाद भाजपा ने भुवनेश्वर में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करने का फैसला किया है. भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को लगता है कि 2019 में लोकसभा और विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत के लिए अभी से तैयारी शुरू की जानी चाहिए. पार्टी ओडिशा और पश्चिम बंगाल पर विशेष ध्यान दे रही है.

ओडिशा में साल 2000 से बीजद प्रमुख और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व में सरकार है और भाजपा को लगता है कि ओडिशा में सरकार विरोधी रूख का उसे लाभ मिल सकता है क्योंकि कांग्रेस वहां कमजोर हुई है.

प्रधानमंत्री का यहां ब्रिटिश सरकार के खिलाफ 1817 के संग्राम से जुड़े 16 परिवारों को सम्मानित करने का भी कार्यक्रम है. पार्टी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का नामकरण जाने माने ओडिया कवि भीमा भोई के नाम पर किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी सांसदों, नेताओं, कार्यकर्ताओं से लोगों के बीच जाने और सरकार के सुशासन एवं लोक कल्याण योजनाओं को जनता के समक्ष पहुंचाने को कह चुके हैं. इस क्रम में प्रधानमंत्री देश के विभिन्न प्रदेशों के सांसदों के साथ पांच बैठकें कर चुके हैं. भाजपा का विशेष जोर उन 120 सीटों पर है, जिनमें वह जीत दर्ज नहीं कर पाई लेकिन उसे जीत हासिल करने की उम्मीद है.

भाजपा दलित, महिलाओं, कमजोर वर्ग और युवाओं पर विशेष जोर दे रही है . हाल ही में भाजपा संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते प्रधानमंत्री ने सुधार और विकास के एजेंडे को आगे बढ़ाने पर जोर दिया. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जनता का मूड सत्तारूढ़ पार्टी के पक्ष में सकारात्मक है. यह गरीबों के लिए काम करने का स्वर्णिम अवसर है. केंद्र में मोदी के नेतृत्व वाली राजग सरकार अगले महीने तीन वर्ष पूरे करने जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi