S M L

अविश्वास प्रस्ताव: विपक्ष के आरोपों पर क्या बोले पीएम मोदी, जानिए भाषण की मुख्य बातें

पीएम मोदी ने राहुल गांधी के राफेल डील पर लगाए आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि मैं कल्पना नहीं कर सकता कि सत्य को इस प्रकार से रौंदा जाता है. बार-बार चीख कर आप देश को गुमराह करने का काम कर रहे हो.

Updated On: Jul 20, 2018 10:53 PM IST

FP Staff

0
अविश्वास प्रस्ताव: विपक्ष के आरोपों पर क्या बोले पीएम मोदी, जानिए भाषण की मुख्य बातें

संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर पीएम मोदी ने विपक्ष के आरोपों पर पलटवार किया है. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के द्वारा लगाए गए आरोपों पर पीएम मोदी ने कहा कि वो सबसे सवालों का एक-एक करके जवाब देंगे. तंज कसते हुए पीएम ने कहा कि परेशान न हों, सभी का सम्मान किया जाएगा.

पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें-

1. पीएम ने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि जितना अविश्वास कांग्रेस सरकार पर करती है कम से कम उतना विश्वास अपने संभावित साथियों पर तो करे. हम यहां इसलिए हैं क्योंकि हमारे पास संख्याबल है. हम यहां इसलिए हैं क्योंकि 125 करोड़ देशवासियों का हमारे पास आशीर्वाद है.

2. पीएम ने कहा कि सबका साथ सबका विकास के मंत्र को लेकर हम चले और हमारी सरकार 18 हजार गांवों में बिजली लेकर पहुंची. ये काम पहले भी सरकारें कर सकती थीं लेकिन उन्होंने नहीं किया.

3. उज्जवाल योजना का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 4.5 करोड़ माताओं-बहनों को धुंआ मुक्त और विश्वास जगाने का काम हमने किया है. ये वो लोग थे जो 9 या 12 सिलेंडर में ही खोए हुए थे. बीते दो सालों में 5 करोड़ देशवासी गरीबी से बाहर आए.

4. पीएम मोदी ने किसानों की आय का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने की दिशा में काम कर रहे हैं. 80 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करके 99 सिंचाई योजनाओं को पूरा करने का हम काम कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस को कोई विश्वास नहीं है.

5. पीएम ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में एलईडी बल्ब 450-500 रुपए में बिकता था. अब 45 रुपए में एलईडी बल्ब मिलता है. कांग्रेस के दौर में मोबाइल बनाने वाली कंपनियां दो थीं, आज मोबाइल बनाने वाली 120 कंपनियां हैं. लेकिन कांग्रेस का विश्वास काम नहीं कर रहा है.

6. पीएम ने स्टार्ट-अप को मोदी सरकार की उपलब्धि बताते हुए कहा कि आज 10 हजार से ज्यादा स्टार्ट-अप हमारे युवा चला रहे हैं. जब हम डिजिटल लेनदेन की बात करते थे तो विपक्ष ने इसका भी विरोध किया था. जो लोग इस प्रकार से जनता की ताकत को कम आंकते थे. उनको जनता ने करारा जवाब दिया है. एक महीने में 41 करोड़ रुपए का लेनदेन देश की जनता ने किया है.

7. पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की. इससे गरीबों को अच्छा स्वास्थ्य लाभ मिला.

8. भारतीय अर्थव्यवस्था के बारे में पीएम ने कहा कि 5 मिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था की तरफ देश बढ़ गया है. मैं जानता हूं इसके कारण कैसे-कैसे लोगों को परेशानी हो रही है. हमने टेक्नोलॉजी का उपयोग किया और सरकारी खजाने से निकले रुपए रोकने का काम हमने किया है.

9. काले धन पर राहुल के आरोपों पर जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अबतक 4-4.5 हजार करोड़ रुपए की संपत्ति बेनामी संपत्ति के रूप में जब्त कर ली गई है. जो खुद पर विश्वास नहीं कर सकते वो हम विश्वास क्या करें.

10. पीएम ने कांग्रेस को अविश्वासी बताया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को खुदपर अविश्वास है. ये लोग अविश्वास से घिरे हुए हैं. इनको विश्वास नहीं है- स्वच्छ भारत, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, मुख्य न्यायधीश, आरबीआई किसी पर भी कांग्रेस को विश्वास नहीं है.

11. पीएम ने कहा कि जब भ्रष्टाचार पर सीधा प्रहार होने लगा तो कांग्रेस को परेशानी होनी स्वभाविक थी. जब कोर्ट कचहरी में उन्हें भी पेश होना पड़ा तो उन्हें भी तकलीफ होने लगी. आजकल शिव भक्ति की बातें हो रही हैं. मैं भी भगवान शिव की प्रार्थना करता हूं. आपको इतनी शक्ति दें कि 2024 में आप फिर से अविश्वास प्रस्ताव दे आएं. मेरी आपको शुभकामनाएं.

12. पीएम मोदी ने राहुल गांधी के राफेल डील पर लगाए आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि मैं कल्पना नहीं कर सकता कि सत्य को इस प्रकार से रौंदा जाता है. बार-बार चीख कर आप देश को गुमराह करने का काम कर रहे हो. ये देश कभी ऐसे लोगों को माफ नहीं करेगा. यह दुखद है कि इस सदन में लगाए गए आरोप पर दोनों देश को खंडन करना पड़ा. ऐसी बचकाना हरकत हम करते रहेंगे क्या? देश की जनता भली-भांति जानती है कि अब सुधरने का मौका है. राजनीति का स्तर देशहित में नहीं है. मैं देशवासियों को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि ये समझौता दो जिम्मेदार सरकारों के बीच में हुआ और पूरी पारदर्शिता के बीच हुआ है.

13. पीएम ने देश के सैनिकों का हवाला देते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आपको गालियां देनी है तो मोदी मौजूद है, जो देश के जवान मर मिटने के लिए निकले हैं उन्हें गाली देने का आपको कोई अधिकार नहीं है.

14. पीएम ने कहा कि मैं इस सदन को याद कराना चाहता हूं कि 1999 में राष्ट्रपति भवन के सामने खड़े होकर दावा किया गया था कि हमारे पास 272 की संख्या है. अटल जी की सरकार को सिर्फ एक वोट से गिरा दिया, लेकिन खुद जो वादा किया था वो खोखला निकला.

15. पीएम ने कांग्रेस द्वारा अपमानित किए गए नेताओं का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह जैसे एक किसान का अपमान किया गया. पहले संयोग की रस्सी फेंको और फिर उसे धोखे से वापस खींच लो. पहले देवगौड़ा जी को अपमानित किया गया और फिर इंद्र कुमार गुजराल जी की बारी आई. कौन भूल सकता है कि कांग्रेस ने इनके साथ क्या किया.

16. राहुल के आंख में आंख डालने वाले मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा कि हम कौन होते हैं जो आपकी आंख में आंख डाल सकें. एक गरीब मां का बेटा, पिछड़े समाज से आया हुआ कैसे आपकी आंख में आंख डाल सकता है. इतिहास गवाह है सुभाषचंद्र बोस, मोरारजी देसाई, जे.पी के साथ कांग्रेस ने क्या किया. चौधरी चरण सिंह के साथ कांग्रेस ने क्या किया. सरदार पटेल के साथ क्या किया. प्रणब मुखर्जी ने आंख में आंख डालने की कोशिश की तो क्या किया गया. शरद पवार ने आंख में आंख डाली तो क्या किया आपने. हम तो कामगार हैं, नामदार के साथ आंख में आंख कैसे डाल सकते हैं.

17. राहुल के भागीदार कहने पर जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज सदन में कहा गया कि आप चौकीदार नहीं भागीदार हैं. माननीय अध्यक्ष महोदय मैं गर्व से कहता हूं मैं चौंकीदार भी हूं, भागीदार भी हूं, लेकिन सौदागर नहीं हूं.

18. बाबा साहब का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बार-बार बाबा साहेब की राजनीति का मजाक उड़ाने वाले लोग आज उनके गुण गाने लगे हैं. हमें लोकतंत्र का पाठ पढ़ाने की बात करते हैं, जबकि मुख्यमंत्री पसंद नहीं आने पर उसे हटाने का काम कांग्रेस ने शुरू किया था.

19. कांग्रेस पर हमलावर रुख अपनाते हुए पीएम ने कहा कि कांग्रेस के अंदर बहुत अहंकार भरा है, ये लोग हमें कैसे स्वीकार कर सकते हैं. कांग्रेस जमीन से कट चुकी है. ये खुद तो डूब रही है साथ में सबको लेकर डूब रही है.

20. पीएम ने कहा कि 18 साल पहले अटली जी की सरकार ने तीन राज्यों का गठन किया- उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़. तीनों राज्य शांति से प्रगति कर रहे हैं. लेकिन राजनीतिक लाभ पाने के लिए आपने आंध्र और तेलंगाना का गठन किया. उस समय मैंने कहा था तेलुगू हमारी मां है.

21. पीएम ने विभाजन का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि आपने भारत-पाकिस्तान का विभाजन किया. आज भी यही मुसीबत झेल रहे हैं. चंद्रबाबू का और हमारे तेलंगाना का सीएम का केसीआर का बंटवारे को लेकर झगड़ा चल रहा था. संसाधनों का विभाजन आज भी चल रहा है.

22. मॉब लिंचिंग पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि राज्य सरकारें इस पर कार्रवाई करें. उन्होंने कहा कि हम इस मसले पर राज्यों की हरसंभव मदद करने के लिए तत्पर हैं. इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हमने महिलाओं का सस्मान बढ़ाया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi