S M L

घोघा-दहेज रोरो फेरी सर्विस के उद्घाटन में पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

पीएम ने कहा कि जब मैं गुजरात में मुख्यमंत्री था तो हमारी सारी योजनाओं को पर्यावरण के नाम पर रोक दिया गया था

FP Staff Updated On: Oct 22, 2017 02:43 PM IST

0
घोघा-दहेज रोरो फेरी सर्विस के उद्घाटन में पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने भावनगर जिले में घोघा और भरूच में दहेज के बीच 615 करोड़ रुपये की 'रोल ऑन, रोल ऑफ (रो-रो)' नौका सेवा के पहले चरण का शुभारंभ किया.

पीएम मोदी ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि नए संकल्प के साथ नए भारत, नए गुजरात की दिशा में अनमोल उपहार घोघा की धरती से पूरे हिंदुस्तान को मिल रहा है. यह भारत ही नहीं, बल्कि दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है.

इस महीने पीएम मोदी का यह तीसरा दौरा है. ये रही पीएम मोदी के भाषण की 10 मुख्य बातें:

- गुजरात में नाव बनाने की परंपरा थी. लोथल में चौरासी देशों झंडे फहराते थे. सोने की लंका की तुलना घोघा की भव्यता से की जाती थी. दुनिया में कोई 24 घंटे के 25 घंटे नहीं कर सकता. भारत सरकार ने आपके 8 घंटे को मगर 1 घंटे में बदल दिया. इस सर्विस के चलते जब अहमदाबाद जैसे इलाकों में ट्रैफिक कम होगा तो उसका असर गुजरात के साथ-साथ मुंबई और दिल्ली पर भी पड़ेगा.

- पुरानी सरकार ने ऐसी गलती की थी कि रो-रो सर्विस चल ही नहीं सकती थी. पुराने नियमों में सर्विस चलाने वाले को ही पोर्ट बनाने की बात कही जाती थी. हमने नीतियां बदली, हमने तय किया टर्मिनल सरकार बनाएगी, टर्मिनल में सर्विस को चलाने काम प्राइवेट एजेंसी को दिया. सरकार तट से पत्थर और गाद हटाएगी. इसके बदले में एजेंसी के मुनाफे में हिस्सा लेगी.

- जब मैं गुजरात में मुख्यमंत्री था तो हमारी सारी योजनाओं को पर्यावरण के नाम पर रोक दिया गया था.

- गुजरात में 1600 किलोमीटर से ज्यादा सी फ्रंट उपलब्ध है. मैं शुरू से गुजरात में पोर्ट लेड डेवलपमेंट की बात कर रहा हूं. हमने शिप बिल्डिंग की योजना बनाई. शिप बिल्डिंग पार्क बनाए. शिप ब्रेकिंग के नए नियम बनाए.

- सरकार आने वाले दिनों में मैरीन टाइम यूनिवर्सिटी और म्यूजियम बनाने वाली है. स्थानीय मछुवारों के लिए सागर सेतु जैसी योजनाएं शुरू की. तटीय परियोजनाओं में स्थानीय युवाओं को रोजगार दिया जाएगा. जापान की एक संस्था हमें सहयोग देगी.

- आज देश में छोटे पोर्ट के जरिए होने वाली कुल आवाजाही का 32 प्रतिशत गुजरात से होता है. पिछले कुछ सालों में गुजरात ने अपनी क्षमता को चार गुना बनाया है. गुजरात समुद्री मार्ग के लिहाज से बहुत खास जगह पर है.

- दिल्ली और मुंबई के बीच जब डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर बन जाएगा. घोघा और दहेज की इस रो-रो फेरी सर्विस का महत्व तब बहुत बढ़ जाएगा.

- जब फेरी सर्विस का इस्तेमाल बढ़ेगा तो नर्मदा को भी इस तंत्र से जोड़ा जा सकता है. भारत की समृद्धि के प्रवेश द्वार समुद्र गेटवे हैं. पिछली सरकारों ने इसपर ध्यान नहीं दिया. हमने केंद्र से सागर माला परियोजना की है. ये परियोजना कोस्टल ट्रांसपोर्टेशन के जरिए देश को लाभ दे रही है. एक अनुमान के तहत सागरमाला प्रोजेक्ट आने वाले में समय में एक करोड़ नौकरियां देगी.

- एक समय पर देश में 5 नेशनल वॉटर वे थे. आज 106 वॉटर वे हैं. ब्लू रेवोल्यूशन में मछु्आरों को लॉन्ग लाइनर ट्रॉलर के लिए सब्सिडी दी जाएगी. इससे मछुआरों की जिंदगी और कारोबार दोनों सुधरेंगी. नए ट्रॉलर्स के जरिए मछुआरों के भटक कर दूसरे देश की सीमा में जाने की दिक्कत भी कम होगी.

- बचपन से देखे सपने को आज पूरा होता देखकर मैं कैसा महसूस कर रहा हूं, बयां नहीं कर सकता. ये पहली फेरी सिर्फ एक शुरुआत है. आने वाले समय में घोघा का भाग्य फिर बदलने वाला है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi