S M L

गरीबी हटाने के नाम पर कांग्रेस राजनीति कर रही है: अरुण जेटली

राहुल गांधी ने वादा किया है कि अगर 2019 के चुनाव के बाद उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो 20% सबसे गरीब परिवारों को हर साल 72 हजार रुपए दिए जाएंगे

Updated On: Mar 25, 2019 08:04 PM IST

FP Staff

0
गरीबी हटाने के नाम पर कांग्रेस राजनीति कर रही है: अरुण जेटली

बीजेपी ने राहुल गांधी के न्यूनतम आमदनी गारंटी योजना की जम कर आलोचना की है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस योजना का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वो राजनीति का व्यवसाय कर रही है. जेटली के मुताबिक कांग्रेस ने 7 दशकों से देश को धोखा दिया है.

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा वादा किया है. उन्होंने ऐलान किया कि अगर 2019 के चुनाव के बाद उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो 20% सबसे गरीब परिवारों को हर साल 72 हजार रुपये मिलेंगे. इस स्कीम से 25 करोड़ लोगों को सीधे फायदा होगा. राहुल ने कहा कि ये पैसे न्यूनतम आमदनी गारंटी के तहत दिए जाएंगे.

जेटली ने इस स्कीम पर सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस आज जो वादा कर रही है वो पीएम मोदी पहले ही गरीबों को दे चुके हैं. उन्होंने कहा, ''कांग्रेस का इतिहास गरीबी और गरीबी हटाने के नाम पर व्यवसाय का रहा है गरीबी हटाने का नहीं रहा. गरीबी हटाने के लिए कोई साधन नहीं दिए. साल 1971 में इंदिरा का तो मुख्य नारा था गरीबी हटाओ लेकिन हुआ कुछ नहीं, उनकी नीति ही नहीं थी जॉब पैदा करने की. उस कार्यकाल में सिर्फ गरीबी का वितरण हुआ था.

जेटली ने राहुल की इस योजना को खोखला बताते हुए कहा कि पिछले पांच सालों में केंद्र सरकार ने डीबीटी के माध्यम लोगों को सीधे फायदा पहुंचाया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी द्वारा किये गये ऐलान से 1.5 गुना ज्यादा हम पहले से डीबीटी के माध्यम से गरीबों को दे रहे हैं.

जेटलाी ने कहा, '10 वर्ष के UPA के कार्यकाल में भी कैसे छल कपट होता था सबने देखा. लोन वेवर सबने देखा, एक बार 70 हज़ार करोड़ और दिया कितना 52 हज़ार करोड़ और CAG ने कहा बड़ा हिस्सा दिल्ली के व्यापारियों को. मनरेगा में भी यही हुआ. चुनाव जीतने के लिए धोखा देना कांग्रेस का इतिहास रहा है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi