S M L

पीएम मोदी ने मंत्रियों से मांगा नोटबंदी के बाद का रिपोर्ट कार्ड

मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद मंत्रियों के कामकाज की यह दूसरी रिव्यू मीटिंग होगी.

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Feb 13, 2017 11:21 AM IST

0
पीएम मोदी ने मंत्रियों से मांगा नोटबंदी के बाद का रिपोर्ट कार्ड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर से अपने मंत्रियों से रिपोर्ट कार्ड देने को कहा है. रिपोर्ट कार्ड में मंत्रियों से पिछले तीन महीने का लेखा-जोखा देने को कहा गया है.

मोदी ने इस बार कैबिनेट स्तर के मंत्रियों के साथ राज्यमंत्रियों से भी रिपोर्ट कार्ड देने को कहा है. आठ फरवरी को पीएमओ के तरफ से मंत्रियों के पास कॉल आया था. पिछले साल भी पीएमओ ने मंत्रियों से रिपोर्ड कार्ड मांगवाया था.

सरकार के सूत्रों के अनुसार मोदी सरकार नोटबंदी के बाद से अपने मंत्रियों के काम करने के तरीके से चिंतित है. मंत्रियों के काम करने के धीमे रफ्तार के लिए मंत्रियों को क्लास भी लगाई गई है. रिपोर्ट कार्ड में पूछा गया है कि पिछले तीन महीने में मंत्रालय ने क्या-क्या कदम उठाए हैं और उनके द्वारा उठाए कदमों पर अभी तक कितना अमल हुआ है.

मीटिंग में होगी कामकाज की समीक्षा

सरकार के सूत्रों के अनुसार चार राज्यों के चुनाव परिणाम आने के बाद एक मीटिंग बुलाई जाएगी, जिसमें मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा होगी. कैबिनट कमेटी ऑन इकनॉमिक अफेयर्स (सीसीईए) मंत्रालयों के लिए गए कदम की प्रगति की जांच करेंगी.

मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद मंत्रियों के कामकाज की यह दूसरी रिव्यू मीटिंग होगी. इस मीटिंग में सभी कैबिनेट मंत्रियों के साथ राज्य मंत्रियों को भी बुलाया जाएगा.

कई मंत्रालय अपनी उपलब्धियों और किए गए कामों का लिस्ट बनाने में लग गए हैं. कैबिनेट और राज्य स्तर के मंत्रियों को एक प्रेजेटेंशन देने को कहा गया है. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नोटबंदी के बाद की हालात से फिक्रमंद हैं.

Report

पीएमओ की इस कवायद में पीएमओ का भी इनपुट होगा. पीएमओ भी विभिन्न मंत्रालयों के द्वारा उठाए गए कदम पर अपनी रिपोर्ट कार्ड पेश करेगी.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी को पता चला है कि पीएमओ ने इस काम को समन्वय को लेकर ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को जिम्मेदारी सौंपी है. रिपोर्ड कार्ड में मंत्रियों से कैशलेस प्रचार के बारे में पूछा गया है.

सभी मंत्रियों से पिछले तीन महीने के दौरान उनकी शहर से बाहर यात्रा के कार्यक्रमों का भी विवरण देने को कहा गया है. जो मंत्री दिल्ली में थे उनसे पूछा गया है कि क्या वह कार्यालय गए थे? अगर कार्यालय गए तो उन्होंने किन कामों को निपटारा किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi