S M L

नाराज शरद यादव ने ट्वीट कर सरकार के कामकाज पर खड़े किए सवाल

शरद यादव ने ट्वीट कर पनामा पेपर्स, काले धन पर सरकार की नाकामी पर सवाल खड़े किए हैं

Updated On: Jul 30, 2017 10:32 PM IST

FP Staff

0
नाराज शरद यादव ने ट्वीट कर सरकार के कामकाज पर खड़े किए सवाल

लगता है कि जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव बिहार में सरकार बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से हाथ मिलाने के नीतीश कुमार के फैसले को अब तक पचा नहीं पाए हैं. यह नाराजगी उनकी हालिया ट्वीट में देखने को मिली है.

नीतीश कुमार पर चुप्पी साधते हुए शरद यादव ने रविवार सुबह कई ट्वीट किए और मोदी सरकार को परोक्ष तरीके से घेरा. 70 वर्षीय शरद यादव ने ब्लैक मनी को लेकर मोदी सरकार की तीखी आलोचना की.

जदयू अध्यक्ष ने ट्वीट किया, 'अब तक विदेश से कुछ भी काला धन वापस नहीं लाया गया, जबकि लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान यह सत्ताधारी दल का प्रमुख नारा था. यहां तक कि जिन लोगों के नाम पनामा पेपर्स में थे, उनमें से भी किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई.'

किसानों की हित की बात उठाते हुए शरद यादव ने लिखा, 'फसल बीमा योजना मौजूदा सरकार की बड़ी नाकामी है. कई किसानों को इसके बारे में कुछ पता ही नहीं है. इससे केवल प्राइवेट बीमा कंपनियों को फायदा हो रहा है.

इससे पहले शरद यादव ने आर्थिक विकास की सुस्ती को लेकर केंद्र सरकार को निशाने पर लिया था.

दरअसल, नीतीश कुमार के महागठबंधन का साथ छोड़ने और बीजेपी से हाथ मिलाने के फैसले से शरद यादव नाराज बताए जा रहे हैं. जदयू सांसद अली अनवर और कई अन्य नेताओं ने नीतीश के इस फैसले पर कड़ा ऐतराज जताया था. ऐसे में नीतीश के करीबी अब भी शरद यादव को मनाने में लगे हैं.

गौरतलब है कि तेजस्वी यादव के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोप के बाद नीतीश कुमार ने महागठबंधन से नाता तोड़कर बीजेपी से हाथ मिला लिया. नई सरकार में नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं तो बीजेपी के सुशील कुमार मोदी को डिप्टी सीएम की जिम्मेदारी दी गई है. इसके अलावा, जदयू और एनडीए के 27 नेताओं ने भी शनिवार को मंत्री पद की शपथ ली थी.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi