S M L

लोकसभा चुनाव 2019: 28 मार्च को शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस से जुड़ेंगे

शत्रुघ्न सिन्हा पिछले काफी समय से बीजेपी से नाराज चल रहे हैं और कई मौकों पर 'पार्टी लाइन' से हटकर सार्वजनिक रूप से बयान देते रहे हैं

Updated On: Mar 26, 2019 06:42 PM IST

FP Staff

0
लोकसभा चुनाव 2019: 28 मार्च को शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस से जुड़ेंगे

सिने अभिनेता और बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के कांग्रेस में शामिल होने की तिथि निर्धारित हो गई है. बीजेपी के शत्रु 28 मार्च को कांग्रेस में शामिल होंगे. बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने यह जानकारी दी.

एक दिन पहले ही सिन्हा ने ट्विटर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ की थी. उन्होंने लिखा, "न्यूनतम आय गारंटी योजना की घोषणा करना 'मास्टर ऑफ सिचुएशन' राहुल गांधी का मास्टरस्ट्रोक है. इसने हमारे कुछ अहम लोगों को परेशान कर दिया है और उन्होंने तुरंत एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस घोषणा को छल कपट करार दे दिया."

इससे पहले शत्रुघ्न सिन्हा के 24 मार्च को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी के सामने कांग्रेस ज्वाइन करने की बात सामने आई थी लेकिन ऐसा नहीं हो सका था. सिन्हा अभी पटना साहिब से बीजेपी के सांसद हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि वे पटना साहिब से कांग्रेस के प्रत्याशी होंगे. बीजेपी ने पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा को टिकट नहीं दिया है और यहां से इस बार रविशंकर प्रसाद को अपना टिकट दिया है.

महागठबंधन के टूटे हुए तार को जोड़ने में पटना साहिब क्षेत्र से सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बड़ी भूमिका निभाई. पटना साहिब सीट से 'बिहारी बाबू' केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि महागठबंधन के उम्मीदवार के नाम की घोषणा अभी नहीं हुई है, लेकिन उनको टिकट मिलना तय माना जा रहा है.

हाल ही में, शत्रुघ्न सिन्हा ने पार्टी छोड़ने के संकेत दिए थे. उन्होंने ट्वीट कर लिखा था, 'मोहब्बत करने वाले कम न होंगे, (शायद) तेरी महफिल में लेकिन हम न होंगे.' उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट किए. इसमें उन्होंने इशारों ही इशारों में कई बातें कहीं. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा था, 'सर राष्ट्र आपका सम्मान करता है, पर नेतृत्व में विश्वसनीयता और विश्वास की कमी है.'

फिल्म अभिनेता और 'बिहारी बाबू' के नाम से चर्चित शत्रुघ्न सिन्हा पिछले काफी समय से बीजेपी से नाराज चल रहे हैं और कई मौकों पर 'पार्टी लाइन' से हटकर सार्वजनिक रूप से बयान देते रहे हैं. हाल में ही उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की थी. इससे पहले वे राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल और अखिलेश यादव जैसे पीएम मोदी के विरोधी नेताओं से मिलते रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi