S M L

जब सदन में कामकाज नहीं होता तो लोग ठगा हुआ महसूस करते हैं: नायडू

उन्होंने राजनीतिक दलों से कार्यवाही में धैर्य रखने को कहा ताकि सदन में सुचारू कामकाज सुनिश्चित हो सके

Bhasha Updated On: Dec 14, 2017 08:15 PM IST

0
जब सदन में कामकाज नहीं होता तो लोग ठगा हुआ महसूस करते हैं: नायडू

संसद के शीतकालीन सत्र से पहले राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि विपक्ष की भले ही सदन में जो भी क्षमता हो पर उनकी बात सुनी जानी चाहिए. लेकिन अंतत: सरकार को अपना काम पूरा करना चाहिए.

उन्होंने राजनीतिक दलों से कार्यवाही में धैर्य रखने को कहा ताकि सदन में सुचारू कामकाज सुनिश्चित हो सके.

नायडू ने कहा, ‘मेरी राय है कि विपक्ष को उनकी बात रखने देना चाहिए. उन्हें अपना मत पेश करना चाहिए और सरकार को इतना धैर्य रखना चाहिए कि वह उनका मत सुन सके और जवाब दे सके.’

उन्होंने राज्यसभा टीवी से कहा, ‘मेरा यह भी मत है कि संख्या बल पर ध्यान दिए बिना विपक्ष को उनकी बात कहने का मौका मिलना चाहिए किन्तु अंतत: सरकार को अपना काम पूरा करना चाहिए.’

उन्होंने सत्ता पक्ष और विपक्ष से अनुरोध किया कि सदन का शांतिपूर्ण ढंग से चलना सुनिश्चित किया जाए और चर्चाएं गरिमापूर्ण ढंग से होनी चाहिए ‘ताकि संसद की छवि और गरिमा बढ़ सके.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi