S M L

LIVE संसद में अविश्वास प्रस्ताव: हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा की मांग को लेकर दोनों पार्टियां सदन में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी में हैं

| March 19, 2018, 12:22 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Mar 19, 2018

  • 12:21(IST)

    #No-Confidence motion: मैं विपक्ष में हूं. जो कुछ भी विपक्ष करेगा, मैं भी वहीं करूंगा- फारूक अब्दुल्ला

  • 12:12(IST)
  • 12:12(IST)

    केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कहा, अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा हो.

  • 12:10(IST)

    हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई है.

  • 12:05(IST)

    हम आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने के पक्ष में हैं. लेकिन हम मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में नहीं हैं. हम सरकार का समर्थन करेंगें: शिरोमणि अकाली दल

  • 12:01(IST)

    हमने एक एनडीए सदस्य के रूप में सोचा कि बीजेपी राज्य के साथ न्याय करेगी. लेकिन कुछ भी नहीं हुआ. हमने चार सालों तक इंतजार किया. लेकिन पिछले बजट में भी न्याय नहीं किया गया: एन. चंद्रबाबू नायडू, सीएम, आंध्र प्रदेश

  • 12:01(IST)

    टीडीपी माइनॉरिटी विंग के सदस्यों को संबोधित करते हुए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने कहा, आप हमेशा टीडीपी के समर्थक रहे हैं. लेकिन आप हमारे बीजेपी के साथ गठबंधन से खुश नहीं थे. हम मुस्लिमों के कल्याण के लिए काम कर रहे हैं.

  • 11:18(IST)

    अविश्वास प्रस्ताव को शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा, न हम सरकार का समर्थन करेंगे और न ही विपक्ष का, हम इससे अलग रहेंगे.

  • 11:13(IST)
  • 11:11(IST)
  • 11:09(IST)

    राज्यसभा दिन भर के लिए और लोकसभा 12 बजे तक के लिए स्थगित

  • 11:04(IST)

    दिल्ली: आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने को लेकर संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने टीडीपी सांसदों ने किया विरोध प्रदर्शन. कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी ने भी दिया टीडीपी सांसदों का साथ.

  • 10:58(IST)

    हम पूरी तरह आश्वस्त हैं. सदन में हमारे पास बहुमत है और हम अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने को तैयार हैं: अनंत कुमार, संसदीय कार्यमंत्री

  • 10:41(IST)

    सीपीएम ने अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन किया है.

  • 10:28(IST)

    संसद के सचिवालय को अविश्वास प्रस्ताव के तीन नोटिस मिले हैं. जिनमें 2 टीडीपी और एक वाईएसर कांग्रेस ने दिए हैं. अगर अविश्वास प्रस्ताव को 50 सांसदों का समर्थन मिल जाता है तो लोकसभा के स्पीकर प्रश्नकाल के बाद अविश्वास प्रस्ताव पेश कर सकते हैं.

  • 10:15(IST)

    टीडीपी के सांसद आरएम नायडू ने कहा है कि वो सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रहे हैं और इसके लिए वो सभी विपक्षी पार्टियों से संपर्क करेंगे. संसद के सभी दलों की ये जिम्मेदारी है कि वो हमें सपोर्ट करें.

  • 10:13(IST)

    वाईएसआर कांग्रेस के नेता के पार्थसारथी ने कहा है कि वो सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे. उन्होंने कहा है कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए सरकार पर प्रेशर बनाए रखेंगे.

  • 10:10(IST)

    टीडीपी ने अपने सभी सांसदों को व्हिप जारी किया है. पार्टी ने बजट सत्र के आखिर तक संसद में उपस्थित रहने को कहा है. टीडीपी और एनडीए से अलग हो चुकी है और वो आज संसद में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने वाली है. संसद का आज का सत्र हंगामेदार होगा.

LIVE संसद में अविश्वास प्रस्ताव: हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ आज यानी सोमवार को वाईएसआर कांग्रेस लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है. वाईएसआर कांग्रेस के सांसद वाई वी सुब्बा रेड्डी ने लोकसभा सचिवालय को पत्र लिखकर इसे सोमवार की वर्क लिस्ट में उनका नोटिस रखने के लिए कहा है. उन्होंने पिछले दिनों इस मुद्दे पर विपक्षी दलों के नेताओं से मुलाकात कर उनका समर्थन मांगा था.

वहीं एनडीए छोड़कर अलग हुई तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने भी केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए अलग से नोटिस दिया है. टीडीपी ने अपने सांसदों को संसद के बजट सत्र की कार्यवाही के अंत तक मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है.

इसे देखते हुए संसद की कार्यवाही में गतिरोध दूर होने का कोई संकेत नजर नहीं आ रहा है.

इन दोनों पार्टियों ने पिछले हफ्ते ही इस बारे में नोटिस दिया था. वहीं लोकसभा की कार्यसूची में इसे नहीं लिए जाने पर संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा था कि वेल में जाकर विपक्षी पार्टियों के सदस्यों की नारेबाजी से सदन में व्यवस्था नहीं बन पाने के कारण ऐसा नहीं हो पाया.

आंध्र प्रदेश को विशष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर वाईएसआर कांग्रेस ने पिछले हफ्ते अविश्वास प्रस्ताव लाने का नोटिस दिया था. वहीं लंबे समय से बीजेपी की सहयोगी रही टीडीपी ने इसके बाद सरकार से अपना नाता तोड़ने का फैसला किया और खुद भी अविश्वास प्रस्ताव लाई. दोनों पार्टियां अपने-अपने नोटिसों पर समर्थन जुटाने के लिए विपक्षी दलों को लामबंद कर रही हैं.

सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव नोटिस के लिए सदन में कम से कम 50 सदस्यों का समर्थन चाहिए. सरकार को भरोसा है कि नोटिस स्वीकार कर लिए जाने पर भी उसकी संख्या बदल की बदौलत लोकसभा में यह अविश्वास प्रस्ताव औंधे मुंह गिर जाएगा.

वर्तमान में लोकसभा में सदस्यों की संख्या 539 है. यहां बहुमत के लिए 270 का आंकड़ा चाहिए. सत्तारूढ़ बीजेपी के पास अकेले 274 सदस्य हैं. लोकसभा में एनडीए का यह आंकड़ा बढ़कर 314 हो जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi