S M L

गुजरात का वो 'लड़का' जिसने खिलजी को रास्ते से हटाया था

माना जाता है कि भारत की सांस्कृतिक धरोहरो में काफूर से ज्यादा तोड़-फोड़ किसी ने नहीं की

Updated On: Jan 25, 2018 05:22 PM IST

Animesh Mukharjee Animesh Mukharjee

0
गुजरात का वो 'लड़का' जिसने खिलजी को रास्ते से हटाया था

पद्मावत और पद्मावती के विवादों के बीच एक तथ्य है जिसकी चर्चा कम हो रही है. अलाउद्दीन खिलजी का व्यक्तित्व वैसा नहीं था जैसा फिल्म में बताया जा रहा है. खिलजी ने कई प्रशासनिक सुधार किए और तमाम बाज़ार नियंत्रण प्रणालियां जारी कीं. इसके अलावा खिलजी को मलिक काफूर के साथ संबंधों के लिए जाना जाता है.

कौन था मलिक काफूर

1297 ईसवी में अलाउद्दीन खिलजी ने गुजरात पर हमला किया. इतिहासकार बरनी के अनुसार, इस अभियान में गुजरात में पाटन के राजा कर्ण सिंह राज्य छोड़कर भाग गया. कर्ण सिंह की रानी कमला देवी को खिलजी के सामने पेश किया गया. खिलजी ने कमला देवी से शादी कर उन्हें हरम में भेज दिया. ये किसी मुसलमान बादशाह से हिंदू रानी/राजकुमारी की पहली शादी थी.  इसके साथ ही खिलजी की नज़र एक खूबसूरत जवान लड़के मलिक मानिक पर पड़ी. खिलजी ने उस गुलाम को लाने वाले को हज़ार दीनार दिए और मानिक को बंध्या बनवाकर अपने पास रख लिया. इसके बाद के इतिहास में मलिक मानिक को मलिक काफूर के नाम से जाना जाता है.

काफूर बहुत कम समय में खिलजी का सबसे खास बन गया. दोनों के बीच में संबंध होने की बात भी खूब कही जाती है. इन सबसे अलग काफूर बेहद शातिर मिलिट्री जनरल और बेहद क्रूर था. कहा जाता है भारत की सांस्कृतिक धरोहर को काफूर से ज्यादा किसी ने नहीं तोड़ा फोड़ा.

पद्मावत में मलिक काफूर का किरदार जिम सरभ ने निभाया है

पद्मावत में मलिक काफूर का किरदार जिम सरभ ने निभाया है

मलिक काफूर ने अलाउद्दीन खिलजी के जनरल के तौर पर तमिलनाडु तक जीत दर्ज की. काफूर इतनी बड़ी जीत दर्ज करने वाला पहला सेनानायक है. काफूर ने ही वारंगल के अभियान में कोहिनूर हीरा लूटा. हिंदुस्तान के इतिहास में कोहिनूर का ज़िक्र यहीं से शुरू होता है. काफूर ने अमरोहा की लड़ाई में अजेय माने जानेवाले मंगोलों को हराया.

मगर काफूर की मह्तवाकांछा यहीं खत्म नहीं हुई. वो सुल्तान बनने के ख्वाब देखने लगा था. इसमें सबसे बड़ी अड़चन थी उसका पुरुष न होना. दूसरे अमीर उसे इज्जत के साथ नहीं देखते थे. कहा जाता है उसने खिलजी को धीमा जहर देना शुरू किया. खिलजी जब ज्यादा बीमार हुआ तो उसने उसे नजरबंद कर दिया. खिलजी के मरते ही काफूर ने खिलिजी के बेटों को गिरफ्तार कर लिया. उन्हें अंधा करवा दिया. सारे सरदारों को मरवा दिया.

सीरी का किला (सीरी फोर्ट)

सीरी का किला (सीरी फोर्ट)

1303 में अलाउद्दीन ने सीरी का किला बनवाया था. इसे अब सीरी फोर्ट ऑडिटोरियम के नाम से  जाना जाता है. काफूर ने इसमें ही खिलजी के बेटों को कैद करवा दिया. उसने हुक्म दिया कि शहजादों की आंखें तरबूज की तरह चीरा लगाकर निकाली जाएं. ऐसा हुआ भी. इन सबके बीच खिलजी का एक बेटा मुबारक खिलजी कैसे भी बचकर भाग निकला. उसने 36 दिन बाद कुछ सैनिकों के साथ मिलकर सोते समय काफूर की हत्या करवा दी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi