S M L

EVM के खिलाफ एकजुट हुआ विपक्ष, सोमवार को चुनाव आयोग के साथ होगी बैठक

कांग्रेस और कई अन्य विपक्षी दलों के शीर्ष नेताओं ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के साथ कथित छेडछाड़ के मुद्दे पर गहन चर्चा की

Updated On: Feb 02, 2019 05:51 PM IST

FP Staff

0
EVM के खिलाफ एकजुट हुआ विपक्ष, सोमवार को चुनाव आयोग के साथ होगी बैठक

आगामी लोकसभा चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के इस्तेमाल से जुड़ी परेशानियों को लेकर विपक्षी दल काफी चिंतित नजर आ रही है. इसी के चलतेविपक्षी दलों ने बीते शुक्रवार को आपस में इसे लेकर बातचीत की और आगामी सोमवार को अपनी चिंताओं से चुनाव आयोग को अवगत कराने का फैसला किया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार कांग्रेस और कई अन्य विपक्षी दलों के शीर्ष नेताओं ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के साथ कथित छेडछाड़ के मुद्दे पर गहन चर्चा की. सूत्रों की मानें तो चुनाव आयोग के साथ होने वाली बैठक में कागज के मतपत्रों का फिर से इस्तेमाल करने की मांग की जाएगी.

विपक्ष ने रोजगार और राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार पर विचार किया

बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, विपक्षी नेता ईवीएम के गलत इस्तेमाल की आशंका से चिंतित हैं. इन्हीं चिंताओं पर उन्होंने विचार-विमर्श किया. साथ ही विपक्ष ने रोजगार, कृषि, संस्थाओं पर सरकार के हमले और राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार के मुद्दों पर भी विचार किया. हम इन समस्याओं का हल निकालने के लिए आपस में मुलाकात करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, इन्हीं मुद्दों पर चुनाव लड़ा जाएगा. उन्होंने अंतरिम बजट को सर्जिकल स्ट्राइक जैसा बताया. उन्होंने कहा कि रोजगार, राफेल और नोटबंदी के मुद्दे पर अब विपक्ष मोदी सरकार पर सर्जिकल स्ट्राइक करेगा.

चुनाव को निष्पक्ष बनाने के लिए मतपत्र का इस्तेमाल किया जाना चाहिए

राहुल गांधी ने कहा, ईवीएम में गड़बड़ी करने की चिंता को लेकर विपक्षी नेता आगामी सोमवार को चुनाव आयोग जाएंगे. बैठक में शामिल कई विपक्षी नेताओं का मत था कि महज दो-तीन देशों में चुनाव के दौरान ईवीएम का इस्तेमाल हो रहा है. इसलिए चुनाव को निष्पक्ष बनाने के लिए कागज के बने मतपत्र का इस्तेमाल फिर से किया जाना चाहिए. सूत्रों ने बताया कि मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने विपक्ष के नेताओं को सोमवार को मिलने का समय दे दिया है.

वीवीपैट की 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए

इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख शरद पवार, तेलुगु देशम पार्टी के एन. चंद्रबाबू नायडू, एसपी के रामगोपाल यादव, तृणमूल के डेरेक ओ ब्रायन, नेशनल कॉन्फ्रेंस के उमर अब्दुल्ला, बीएसपी के सतीश चंद्र मिश्रा, डीएमके की कनिमोई, लेफ्ट के डी. राजा, सीपीएम के मोहम्मद सलीम एवं के टी.के. रंगराजन, आरजेडी के मनोज झा, आप के संजय सिंह और आरएलडी के जयंत चौधरी शामिल हुए थे.

इन नेताओं के अलावा आरएसपी, जेएमएम, हम, एआईयूडीएफ, आईयूएमएल और टीजेएस दल भी इस बैठक में पहुंचे थे. कांग्रेस ने कई बार यह मांग उठाई है कि आगामी लोकसभा चुनाव में ईवीएम के उपयोग के साथ ही वीवीपैट की 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi