S M L

केंद्र पर विपक्ष हमलावर, ममता ने मांगा इस्तीफा

विपक्षी पार्टियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला

Updated On: Nov 22, 2016 02:27 PM IST

IANS

0
केंद्र पर विपक्ष हमलावर, ममता ने मांगा इस्तीफा

नई दिल्ली. नोटबंदी के बाद देश भर में मची अफरा-तफरी के बीच लोग गुस्से में हैं. कई जगहों से परेशान लोगों के दुकान लूटने की खबरें हैं. कुछ जगह पुलिस ने गुस्साई भीड़ से निपटने के लिए लाठी चार्ज किया.
 
इस बीच विपक्षी पार्टियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार का इस्तीफा मांगा है. दूसरी ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी को यह फैसला वापस लेना चाहिए. वे आम जनता को न परेशान करके बड़े भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई करें.
 
ममता बनर्जी ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए. ममता ने यह बात तब कही है, जब 500 और 1000 रुपये के नोट बंद किए जाने के बाद देशभर में जनता पुराने नोट बदलने के लिए बैंकों और एटीएम मशीनों के सामने कतार में खड़े होने को मजबूर हो गई है.
 
यह सरकार गरीब विरोधी, इसे रहने का अधिकार नहीं
 
बनर्जी ने दक्षिण कोलकाता में कुछ बैंकों का दौरा किया और उपभोक्ताओं व बैंककर्मियों से बात की. इसके बाद संवाददाताओं से कहा, 'इस सरकार को बने रहने का अब कोई नैतिक अधिकार नहीं है. इसे जाना चाहिए. यह एक जनविरोधी सरकार है, यह गरीब विरोधी सरकार है. यह चीजों को चलाने का लोकतांत्रिक तरीका नहीं है. पूरी तानाशाही चल रही है.'
 
ममता बनर्जी ने पिछले कुछ दिनों के दौरान देश को हुए आर्थिक नुकसान की सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों से जांच कराने की भी मांग की. उन्होंने कहा, 'इस आर्थिक आपदा की सुप्रीम कोर्ट के पांच न्यायाधीशों से जांच कराई जानी चाहिए और जांच इस बात की भी कराई जानी चाहिए कि कहीं यह निर्णय कुछ अन्य को लाभ पहुंचाने के लिए या देश को बेचने के लिए तो नहीं लिया गया है.'
 
ममता ने कहा, 'इस आपदा से आम जनता को बचाने के लिए हम सभी विपक्षी पार्टियां एकजुट हो जाएं. मैं मरने से भी नहीं डरती. मैं जनता के साथ रहूंगी.'
 
बड़े भ्रष्टाचारियों पर करें कार्रवाई: केजरीवाल
 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बड़े और ताकतवर भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए, आम आदमी को परेशान नहीं करना चाहिए.
 
केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'मोदी जी आम आदमी को परेशान करने के बदले बड़े और ताकतवर भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई करें.' केजरीवाल ने आजादपुर मार्केट का दौरा किया और छोटे कारोबारियों से मुलाकात के बाद यह चिंता जाहिर की. उन्होंने ट्वीट किया, 'आजादपुर मंडी के कारोबारियों और मजदूरों से मिला. यदि नकदी की समस्या सुलझाई नहीं गई तो विमुद्रीकरण का दिल्ली में फलों और सब्जियों की दैनिक आपूर्ति पर प्रतिकूल असर पड़ेगा. मैं इसे लेकर चिंतित हूं.'
 
 
10 फीसदी के चक्कर में 90 फीसदी जनता परेशान: ज्योतिरादित्य
 
नोटबंदी को लेकर कांग्रेसी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि 10 प्रतिशत लोगों के कालेधन के चक्कर में 90 फीसदी जनता को परेशान किया जा रहा है. यहां एक आयोजित हिंदुस्तान शिखर समागम में शिरकत करने पहुंचे सिंधिया ने मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा,'काला धन हम भी लाना चाहते हैं, लेकिन 10 प्रतिशत लोगों की वजह से जनता परेशान है.'
 
 
परेशान लोगों ने राशन की दुकान लूटी
 
नोटबंदी से परेशान लोगों का गुस्स बढ़ता जा रहा है. मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में लोगों ने राशन की दुकान लूट ली. यह घटना छतरपुर जिले के बमीठा थाना क्षेत्र के बरद्वाहा गांव का है. लोगों ने बताया, 'पिछले कई दिनों से सेवा सहकारी समिति की दुकानें नहीं खुल रही हैं. पुराने नोट बाजार में चल नहीं रहे हैं. लोग आटा, चावल, दाल, सब्जी खरीद नहीं पा रहे हैं. शुक्रवार को जैसे ही दुकान खुली, गांव वालों का सब्र टूट गया और उन्होंने दुकान में रखा राशन लूट लिया.' बमीठा थाना पुलिस ने शिकायत दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.
 
 
कार्यकर्ता बैंकों में लोगों की मदद करें: राहुल
 
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बैंकों और एटीएम मशीनों के सामने लाइन लगाए खड़ी जनता की मदद करने का आह्वान किया. राहुल ने ट्वीट किया, 'सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मेरी अपील है कि वे बैंकों के बाहर कतार लगाए खड़े लोगों, खासकर वृद्धजनों और फॉर्म भर पाने में असमर्थ लोगों की मदद करने के लिए आगे आएं.' राहुल ने अगले ट्वीट में लिखा, 'इसके अलावा, अगर आपको कोई ऐसा गरीब व्यक्ति मिलता है, जिसे बैंक खाते में रुपया जमा करवाने में परेशानी हो रही है तो उसकी पूरी मदद करें.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi