S M L

एक साल से पुलिस के साथ कर रहा था ड्रामा, अब घर की अलमारी से हुआ गिरफ्तार

पत्नी ने एक साल पहले अपने पति के अपहरण की फर्जी शिकायत दर्ज करवाई थी ताकि वह उसे नशीली दवाएं बेचने के मामले में पुलिस के हाथों से बचा सके

Updated On: Sep 10, 2018 04:24 PM IST

FP Staff

0
एक साल से पुलिस के साथ कर रहा था ड्रामा, अब घर की अलमारी से हुआ गिरफ्तार

48 वर्षीय एक शख्स की पत्नी ने पिछले साल अपने पति के अपहरण की फर्जी शिकायत दर्ज करवाई थी ताकि वह उसे नशीली दवाएं बेचने के मामले में पुलिस के हाथों से बचा सके. हालांकि अब उसका पति गिरफ्तार हो गया है. वह शख्स अपने घर की अलमारी में छुपा हुआ था जहां से उसे बरामद कर लिया गया है. गुलाब सिंह को उसके 18 वर्षीय बेटे रोहित के साथ उनके घर डीएलएफ शंकर विहार से गिरफ्तार किया गया है. गुलाब सिंह की पत्नी अंजू फिलहाल फरार है. वह अपने पति को इन गैर कानूनी कामों में मदद करने के साथ-साथ उसे पुलिस के हाथों से भी बचा रही थी. गुलाब सिंह के अपहरण के फर्जी शिकायत पर एक कॉन्सटेबल को सस्पेंड भी कर दिया गया था. एक साल की जांच के बाद जब उस कॉन्सटेबल के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला तो उसे दोबारा ड्यूटी पर रख लिया गया.

वहीं पुलिस की पूछताछ में गुलाब सिंह ने बताया कि जब भी पुलिस उसे ढूंढने उसके घर पर आती थी तो वह इसी अलमारी में छुप जाता था. वह अपने रिश्तेदारों और मेहमानों से भी छुपता रहता था. एक बार तो वह इस अलामरी में 2 दिन तक रहा था क्योंकि घर पर कुछ मेहमान आ गए थे. उसकी पत्नी उसे अलमारी में ही खाना दे देती थी. पुलिस का कहना है कि गुलाब सिंह का एनसीआर के नारकोटिक्स सिंडिकेट के साथ गहरा कनेक्शन है और वह साल 2011 से दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर के इलाकों में गैर कानूनी तरीकों से दवाइयों का कारोबार कर रहा है. पुलिस ने बताया कि दिल्ली में उसके खिलाफ 4 क्रिमिनल केस दर्ज हैं. सिर्फ इतना ही नहीं उसके खिलाफ अटेम्ट टू मर्डर, आर्म्स एक्ट और छेड़खानी के मामले भी दर्ज हैं.

जब दिल्ली पुलिस गुलाब सिंह को ढूंढने लगी तो वह अपने परिवार के साथ गाजियाबाद के लोनी में शिफ्ट हो गया. 13 जुलाई 2017 को लोनी बॉर्डर पुलिस स्टेशन के एक कॉन्सटेबल ने गुलाब सिंह को पूछताछ के लिए थाने बुलाया था और फिर कुछ घंटे बाद उसे छोड़ दिया गया. गुलाब सिंह की पत्नी अंजू ने इसके बाद ही शिकायत दर्ज करवाई थी कि पुलिस स्टेशन में पूछताछ के लिए जाने के बाद से ही वह लापता है. पत्नी ने उसके अपहरण की फर्जी शिकायत भी दर्ज करवाई थी. पत्नी ने अपनी शिकायत में साफ लिखा था कि कॉन्सटेबल अजय शंकर और उसके साथ 2 अन्य साथियों ने मिलकर उसके पति का अपहरण कर लिया है.

गाजियाबाद के एसपी (ग्रामीण) अरविंद मौर्य ने कहा कि गुलाब सिंह को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया है. वह अलमारी में छुपकर बैठा था. एसपी मौर्य ने बताया कि गुलाब सिंह की पत्नी दिल्ली के सभी कोर्ट में अपने पति के अपहरण की एफआईआर की कॉपी दिखाती रहती थी ताकि पुलिस उसके पति तक न पहुंच सके और उसे लापता समझे. वहीं पुलिस की पूछताछ में गुलाब सिंह ने बताया कि जुलाई 2017 से वह पश्चिमी यूपी में नशीली दवाएं बेचने का कारोबार कर रहा था. गुलाब सिंह ने कहा कि उसने ही अपनी पत्नी से कहकर फर्जी अपहरण का मामला बनाया था ताकि वह पुलिस को सबक सिखा सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi