S M L

'वन नेशन-वन इलेक्शन' में निकाय चुनावों को भी शामिल करना चाहिए: फडणवीस

फडणवीस ने कहा, वन नेशन-वन इलेक्शन बेहद जरूरी है. यह सिर्फ लोकसभा और विधानसभा चुनावों तक ही सीमित नहीं होना चाहिए. लेकिन इसके तहत सभी स्थानीय निकाय चुनावों को भी लाया जाना चाहिए

Updated On: Oct 27, 2018 11:04 AM IST

FP Staff

0
'वन नेशन-वन इलेक्शन' में निकाय चुनावों को भी शामिल करना चाहिए: फडणवीस
Loading...

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जोर देकर कहा है कि वन नेशन-वन इलेक्शन में सिर्फ लोकसभा और विधानसभा का चुनाव ही एक साथ न हो, बल्कि इसमें निकाय और पंचायत चुनावों को भी शामिल किया जाए. उन्होंने कहा कि जब भी चुनाव होता है तो आदर्श आचार संहिता लागू होती है, बार-बार ऐसा होने से विकास कार्य प्रभावित होता है.

फडणवीस ने कहा, वन नेशन-वन इलेक्शन बेहद जरूरी है. यह सिर्फ लोकसभा और विधानसभा चुनावों तक ही सीमित नहीं होना चाहिए. लेकिन इसके तहत सभी स्थानीय निकाय चुनावों को भी लाया जाना चाहिए. राज्य चुनाव आयोग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने ये बातें कहीं.

उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता के लागू हो जाने से निर्णय लेने की प्रक्रिया बाधित होती है. इसके साथ ही विकास कार्य पर भी असर पड़ता है. ऐसे में सभी चुनावों को एक साथ कराने का निर्णय विकास के लिए कारगर साबित होगा.

फडवणीस ने कहा कि चुनाव में खर्च किए गए धन की राशि और चुनावों के लिए किए गए प्रयासों की मात्रा बहुत अधिक है. हम राजनीतिक लोगों को निर्णय लेने के दौरान इतनी सारी बाधाएं आती हैं क्योंकि हर निर्णय एक या दूसरे चुनाव को प्रभावित करता है. चुनाव के कारण निर्णय लेने की प्रक्रिया में भी बाधा आती है.

राज्य की एक समिति द्वारा कराए गए सर्वे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, हमने एक सर्वे किया जिसमें पाया कि 365 दिनों में से 300 दिन आदर्श आचार संहिता लागू रहती है. इसका मतलब हुआ कि प्रशासन को नीतिगत निर्णय लेते समय सावधानी बरतनी पड़ती है. अगर ऐसा नहीं किया जाए तो उसे पॉपुलिस्ट या चुनावी योजना के तौर पर ले लिया जाता है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi