S M L

'एक राष्ट्र-एक चुनाव' भारतीय लोकतंत्र के लिए खतरा: हामिद अंसारी

अंसारी ने कहा, भारत विविधिता की धरती है. एक बड़े देश के लिए एक चुनाव कराने की बात सिर्फ एक असंभव विचार है

Updated On: Jul 12, 2018 05:05 PM IST

FP Staff

0
'एक राष्ट्र-एक चुनाव' भारतीय लोकतंत्र के लिए खतरा: हामिद अंसारी

पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने के विचार का विरोध किया है. उन्होंने एक राष्ट्र, एक चुनाव की थ्योरी को 'भारतीय लोकतंत्र पर हमला बताया है.'

न्यूज18 को दिए एक इंटरव्यू में अंसारी ने कहा, 'भारत विविधिता की धरती है. एक बड़े देश के लिए एक चुनाव कराने की बात सिर्फ एक असंभव विचार है. विधानसभा चुनाव के दौरान भी आपको कई चरणों में सुरक्षा की आवश्यकता है. तो चुनाव एक साथ आयोजित किए जाने पर आप देश भर में सुरक्षा कैसे देंगे?'

'फर्स्ट पास्ट द पोस्ट' पर क्या बोले अंसारी?

पूर्व उपराष्ट्रपति ने भारत में चुनावी जीत के लिए 'फर्स्ट पास्ट द पोस्ट' व्यवस्था पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा समस्या यह है कि बड़ी संख्या में नेता 50 फीसदी से भी ज्यादा वोट नही पाते. इसके बावजूद वह कैसे इस बात का दावा करते हैं कि वह पूरे क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं?'

बता दें कि अंसारी की यह टिप्पणी उस वक्त आई है जब लॉ कमीशन राजनीतिक दलों के साथ चर्चा के बाद एक साथ चुनावों पर रिपोर्ट तैयार कर रहा है.

अंसारी ने भारत के अल्पसंख्यकों के बीच 'असुरक्षा के माहौल' के बारे में भी काफी समय तक बात की. उन्होंने कहा, 'हमें समझना होगा कि इतने सालों के बाद भी, सच्चर पैनल की सिफारिशों को पूरी तरह कार्यान्वित नहीं किया गया है. 'अन्य' बनाने का यह पर्यावरण हमारे लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाता है.'

अल्पसंख्यक संस्थानों में दलितों के लिए आरक्षण को लेकर क्या होले अंसारी

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय जैसे अल्पसंख्यक संस्थानों में दलितों के लिए आरक्षण मांगने के विशिष्ट प्रस्ताव पर, प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र अंसारी ने कहा, 'लोगों को कानून को ध्यान से देखना चाहिए. बहुत स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है वह कौन सी एजेंसी है जो किसी भी विश्वविद्यालय के लिए धन का प्रबंधन कर सकती है.'

(न्यूज 18 के लिए भूपेंद्र चौबे की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi