S M L

कांग्रेस को सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत चाहिए, तो क्या सैनिक कैमरा लेकर जाएंगे: मोदी

मोदी ने कहा, कांग्रेस ने राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाया, लेकिन जब हमारी इंडियन आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया, तब ये इसका सबूत मांगने लगे

Updated On: Nov 26, 2018 05:31 PM IST

FP Staff

0
कांग्रेस को सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत चाहिए, तो क्या सैनिक कैमरा लेकर जाएंगे: मोदी

जब 26/11 मुंबई हमला हुआ, तब देश में यूपीए की सरकार थी, लेकिन जब हमारी सरकार में हमने पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक किया, तो आज कांग्रेस हम पर सवाल उठा रही है.

एक चुनाव रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर जुबानी हमला करते हुए बोलीं. प्रधानमंत्री आतंकवाद और नक्सलवाद के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि उस वक्त 'मैडम' रिमोट कंट्रोल से दिल्ली चलाती थीं. मुझे याद है कि इन आतंकवादी हमलों से तत्कालीन सत्तारूढ़ पार्टी की कितनी आलोचना की जाती थी.

कांग्रेस ने राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाया, लेकिन जब हमारी इंडियन आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया, तब ये इसका सबूत मांगने लगे. हमारे सैनिकों अपनी हथेली में उनकी जिंदगी थी, ना की कैमरा. देश कभी भी 26/11 की घटना नहीं भूल सकता. मैं देशवासियों को आश्वस्त करता हूं कि न्याय जरूर दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने आतंकवादियों और नक्सलियों को अपनी भाषा में जवाब दिया है. यह दावा करते हुए कि बीजेपी शासन में आतंकवादी हमले कम हुए हैं, प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवादियों को अब कश्मीर से बाहर जाना मुश्किल लगता है.

मोदी ने कहा, मैं केवल काम में डूबे रहता हूं. मैं कामदार हूं

एक तरफ आतंकवाद है, तो दूसरी तरफ नक्सलवाद. वो मासूम बच्चों के हाथ में बंदूक दे रहे हैं और मासूम लोगों की जान ले रहे हैं, लेकिन कांग्रेस नेता और नामदार (राहुल गांधी) इन्हें क्रांतिकारी का नाम दे रहे हैं.

मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को 'नामदार' (राजवंश) कहकर संबोधित किया. इसके साथ ही कथित जातिवादी टिप्पणी के लिए कांग्रेस पर भी हमला किया और कहा कि लोगों से संबंधित मुद्दों से पार्टी को मतलब नहीं है.

'जैसे ही चुनाव नजदीक आ रहे हैं, कांग्रेस मेरी जाति के और मेरे पिता के बारे में जानने में उत्सुक हो गई है. मोदी ने कहा कि जब भारतीय प्रधान मंत्री अमेरिका जाते हैं और राष्ट्रपति से मिलते हैं, तो वे विकास के बारे में बात करते हैं. लेकिन क्या जब राष्ट्रपति उनसे मिलते हैं तो वह उनकी जाति पूछते हैं? प्रधानमंत्री 125 करोड़ लोगों की जाति का प्रतिनिधित्व करते हैं.

मोदी ने कहा, मैं केवल काम में डूबे रहता हूं. मैं कामदार हूं, जिसके पीछे 125 करोड़ लोग खड़े हैं. आपने कभी सुना है कि मैंने छुट्टी ली है? आपने कभी सुना है कि मैं कहीं गया और एक हप्ते तक गायब रहा? मैं वो हर एक चीज सार्वजनिक करता हूं, जो मैं करते हूं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi