S M L

विशेष राज्य ओडीशा का अधिकार है, जनता बीजेपी को हराकर मुंहतोड़ जवाब देगी: नवीन पटनायक

'बीजेपी और बीजेडी का गठबंधन टूटने के बाद से अभी की एनडीए सरकार 2014 के अपने चुनावी घोषणापत्र के वादों को भी भूल चुकी है’

Updated On: Nov 02, 2018 09:23 PM IST

FP Staff

0
विशेष राज्य ओडीशा का अधिकार है, जनता बीजेपी को हराकर मुंहतोड़ जवाब देगी: नवीन पटनायक
Loading...

2019 के लोकसभा चुनाव अब कुछ महीने ही दूर हैं. ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियों के बीच गठजोड़ और जोड़ तोड़ का सिलसिला शुरु हो गया है. बीजेपी के लिए संकट गहराता जा रहा है. विपक्ष के साथ साथ उनका साथ देने वाली कई पार्टियां भी अब विरोध कर रही हैं और अपने वादे पूरे न करने का आरोप लगा रही हैं.

ओडीशा के विधानसभा चुनाव भी लोकसभा चुनावों के साथ ही होने हैं. ऐसे में बीजेपी के लिए ओडीशा में भी मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. ओडीशा के सीएम नवीन पटनायक ने कहा- 'पहले हमने बीजेपी का साथ इसलिए दिया था कि वो ओडीशा को 'विशेष राज्य' का दर्जा देंगे. बीजेपी ने हमें भरोसा दिलाया था कि वो केंद्र में सत्ता में आने पर राज्य को विशेष राज्य का दर्जा देंगे.'

इसके बाद नवीन पटनायक ने आरोप लगाया कि- 'बीजेपी और बीजेडी का गठबंधन टूटने के बाद से अभी की एनडीए सरकार 2014 के अपने चुनावी घोषणापत्र के वादों को भी भूल चुकी है. ओडीशा की जनता बीजेपी को आने वाले चुनावों में हार का मुंह दिखाकर मुंहतोड़ जवाब देगी. विशेष राज्य का दर्जा हमारा अधिकार है और हम इसके लिए लड़ाई लड़ते रहेंगे.'

ध्यान देने वाली बात ये है कि विशेष राज्य के ही मुद्दे पर आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री और एनडीए सरकार की सहयोगी टीडीपी ने भी बीजेपी से रिश्ता तोड़ लिया. यही नहीं कभी कांग्रेस के मुखर विरोधी और बीजेपी के निकट सहयोगी माने जाने वाले नायडु अब विपक्ष के साथ मेलजोल बढ़ा रहे हैं. आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबु नायडू ने बीजेपी पर जमकर हमले तो बोले ही साथ ही विपक्ष के नेताओं से भी मुलाकात कर रहे हैं. नायडु ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात की. और माना जा रहा है कि 2019 के चुनावों में एनडीए के खिलाफ गुट बनाने में वो सक्रिय हो गए हैं.

 

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi