S M L

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश में कम हुई महिला विधायकों की संख्या

15 वीं विधानसभा चुनाव में केवल 17 महिला विधायक ही निर्वाचित हुईं, जबकि पिछली विधानसभा में उनकी संख्या 31 थी

Updated On: Dec 13, 2018 05:05 PM IST

Bhasha

0
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश में कम हुई महिला विधायकों की संख्या

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के परिणाम अनुसार मध्यप्रदेश में महिला विधायकों की संख्या में भारी कमी आई है. 15 वीं विधानसभा चुनाव में केवल 17 महिला विधायक ही निर्वाचित हुईं, जबकि पिछली विधानसभा में उनकी संख्या 31 थी.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार निर्वाचित 230 विधायकों में 114 सीटें कांग्रेस और 109 सीटें बीजेपी को मिली हैं. बीएसपी को दो और एसपी को एक सीट मिली है. चार सीटें निर्दलीय उम्मीदवारों के खाते में गई हैं. नवनिर्वाचित 17 महिला विधायकों में से नौ बीजेपी और आठ कांग्रेस की हैं.

कांग्रेस की आठ विधायकों में डबरा से इमरती देवी, लांजी से हिना लिखीराम कांवरे, गाडरवारा से सुनीता पटेल, नेपानगर से सुमित्रा देवी कास्देकर, भीकनगांव से झूमा सोलंकी, महेश्वर से डॉ विजयालक्ष्मी साधौ, पानसेमल से चंद्रभागा किराड़े, और जोबट से कलावती भूरिया हैं.

बीजेपी की नौ निर्वाचित विधायकों में शिवपुरी से यशोधरा राजे सिंधिया, जैतपुर से मनीषा सिंह, मानपुर से मीना सिंह, सीहोरा से नंदनी मरावी, बासौदा से लीना जैन, गोविन्दपुरा से कृष्णा गौर, धार से नीना वर्मा, इंदौर-4 से मालिनी गौड़ और डॉ अंबेडकर नगर :महू: से उषा ठाकुर शामिल हैं. पिछली विधानसभा में 31 महिला विधायक थीं जिनमें बीजेपी की 24, कांग्रेस की पांच और बीएसी की दो विधायक थीं.

कांग्रेस और बीजेपी के बीच मंगलवार को हुए जबरदस्त मुकाबले के बाद मध्य प्रदेश में नतीजे साफ हो चुके हैं. राज्य में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 114 सीटें जीत ली हैं, जबकि बीजेपी के पास 108 सीटें हैं. वहीं अन्य के खाते में 7 सीटें आई हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi