S M L

एयरपोर्ट पर कैद किए गए TMC के सदस्य, ममता बोलीं- 'सुपर इमरजेंसी'

मता बनर्जी ने बीजेपी पर देश में 'सुपर आपातकाल' लगाने और बाहुबल दिखाने का आरोप लगाया.

Bhasha Updated On: Aug 03, 2018 08:19 AM IST

0
एयरपोर्ट पर कैद किए गए TMC के सदस्य, ममता बोलीं- 'सुपर इमरजेंसी'

राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मसौदे के प्रकाशन के बाद असम में हालात का जायजा लेने के लिए आए तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को हवाई अड्डा पर ही रोक दिया गया. बाद में इसके सदस्यों को हिरासत में ले लिया गया. इस पर ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि बीजेपी देश में ‘सुपर इमरजेंसी’ लगा रही है. एडीजीपी मुकेश अग्रवाल ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को सीआरपीसी की धारा 151 के तहत एहतियाती हिरासत में लिया गया. तृणमूल कांग्रेस नेताओं को शुक्रवार को पश्चिम बंगाल भेज दिया जाएगा.

ममता का बीजेपी पर आरोप

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घटना की निंदा की और दावा किया कि उनकी पार्टी के सदस्यों से हवाईअड्डा पर हाथापाई की गई.

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर देश में 'सुपर आपातकाल' लगाने और बाहुबल दिखाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बीजेपी इस घटना से बेनकाब हो गई है. उन्होंने जानना चाहा कि किस कानून के तहत तृणमूल प्रतिनिधिमंडल को रोका गया. यह मुद्दा लोकसभा में भी उठा. सौगत राय के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस सदस्यों ने पार्टी के कुछ सांसदों को हिरासत में लिए जाने के खिलाफ प्रदर्शन किया और सदन में सरकार से एक जवाब मांगा.

तृणमूल कांग्रेस सांसद काकोली घोष दस्तीदार, अर्पिता घोष, ममता ठाकुर, सुखेंदू शेखर रॉय और नदीमुल हक के अलावा राज्य में मंत्री फरहद हकीम और विधायक महुआ मित्रा को हिरासत में ले लिया गया है.

राय ने कहा, 'असम पुलिस ने उन्हें सिलचर में हिरासत में लिया है. वे (असम पुलिस) लोगों की मुक्त आवाजाही में दखल दे रहे हैं. यह विशेषाधिकार हनन है. हम चाहते हैं कि सरकार इस पर जवाब दे.' दिल्ली से कोलकाता लौटने पर ममता ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि एनआरसी के मुद्दे पर किसी को नहीं सताया जाएगा. लेकिन तृणमूल प्रतिनिधिमंडल को सिलचर हवाईअड्डा नहीं जाने दिया गया. उनसे हाथापाई की गई. यहां तक कि महिला सदस्यों को भी नहीं बख्शा गया.

ममता के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

इस बीच, ममता के खिलाफ उनकी कथित ‘भड़काऊ टिप्पणियों' के लिए असम में दो और प्राथमिकी दर्ज की गईं. असम के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) कुलधर सैकिया ने कहा कि उनकी टिप्पणियों से देश की एकता को खतरा उत्पन्न हुआ. डीजीपी ने कहा कि बनर्जी के खिलाफ दो मामले गुवाहाटी में पान बाजार और बशिष्ठा पुलिस थानों में दर्ज किये गए. यह मामले तृणमूल कांग्रेस प्रमुख के खिलाफ कल लखीमपुर जिले में दर्ज किये गए एक मामले से अलग हैं.

उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने प्रतिदिन एक प्राथमिकी दर्ज कराई. उन्होंने कहा ,'उन लोगों ने तब भी एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी जब मैं अरविंद केजरीवाल के आवास गई थी. मैं डरती नहीं हूं. मैं लोगों के लिए बोलती हूं. वे मेरे खिलाफ लाखों प्राथमिकी दर्ज करा सकते हैं, मुझे परवाह नहीं है.' प्रतिनिधिमंडल के सदस्य सुखेंदु रॉय ने बताया कि पुलिस ने उनके पहुंचने के बाद हवाई अड्डे पर उन्हें यह कहकर रोक दिया कि उनकी यात्रा से समस्या खड़ी हो सकती है.

उन्होंने कहा, 'यह लोकतंत्र की हत्या है. हमें बाहर नहीं जाने दिया गया.' पार्टी नेता यहां एक सभागार में एक बैठक करने वाले थे. अधिकारियों ने बताया कि बराक घाटी क्षेत्र के कछार जिले में यहां कुंभीग्राम हवाई अड्डे पर तृणमूल प्रतिनिधिमंडल को वीआईपी विश्रामालय में ठहराया गया. उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक और पांच मजिस्ट्रेट तृणमूल प्रतिनिधिमंडल से बातचीत करने के लिए हवाई अड्डे पर मौजूद थे.

कछार जिला प्रशासन ने गुरुवार रात सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा जारी की थी . हालांकि जिला प्रशासन के सूत्रों ने कहा कि निषेधाज्ञा का तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल की यात्रा से कोई लेना-देना नहीं है. तृणमूल प्रतिनिधिमंडल पार्टी सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर वहां गया. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (विशेष शाखा) पल्लब भट्टाचार्य ने कहा कि सिलचर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. उन्होंने कहा, 'कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जो भी कदम जरुरी होगा, उठाया जाएगा. '

इस बीच आसू महासचिव लुरिंगज्योति गोगोई ने ममता बनर्जी पर वोटबैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा वह असम में ध्रुवीकरण कर रही हैं और शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ रही हैं. हमारे पास मुख्यमंत्री है. कोई बाहरी मुख्यमंत्री असम के मूल लोगों की तकदीर नहीं तय कर सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi