S M L

सूरज जब ढलता है तो लाल रंग का होता है, उदय होता है तो केसरिया- पीएम मोदी

तीनों ही चुनावी राज्यों में विधानसभा की 60-60 सीटें हैं, लेकिन अलग-अलग वजहों से तीनों में 59-59 सीटों पर ही मतदान हुआ

FP Staff | March 03, 2018, 08:44 PM IST

0

हाइलाइट

Mar 3, 2018

  • 18:55(IST)

    कांग्रेस पार्टी का पद इतना छोटा पहले कभी नहीं हुआ है. सभी राजनीतिक दलों को सतर्क रहना होगा. सभी राजनीतिक दलों को भी सतर्क रहना होगा. मैं इस चुनाव में विशेषकर हमारे सुरक्षबलों को बधाई देना चाहता हूं: मोदी

  • 18:52(IST)

    हम सभी कार्यकर्ता हैं जो भी काम हमें पार्टी देगी. वह हम खुशी-खुशी करेंगे. भ्रम और भय फैलाने वालों को लोकतंत्र में मतदाता ही देता है. अमित भाई को मैंने विद्यार्थी जीवन से देखा है. उनके नेतृत्व में सफलता के बाद जब सफलता आती है तो आप कल्पना कर सकते हैं कितनी खुशी होती है. एक दल ऐसा भी है जिसका अध्यक्ष एक के बाद एक विजय हासिल करता जा रहा है: पीएम मोदी

  • 18:50(IST)

    पार्टी के लिए हमारे पास लोग भी नहीं थे. आज वही बीजेपी हिंदुस्तान के हर कोने में वट वृक्ष बनकर उभरी है- मोदी

  • 18:48(IST)

    बहुत कम लोगों को मालूम होगा. जितने मंत्री 70 साल में नॉर्थ-ईस्ट में गए होंगे. हमने 4 सालों में इतने मंत्री नॉर्थ-ईस्ट में भेजे हैं. बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने ठान ली कि इस काम को करना है. त्रिपुरा में तो हाल ये था कि कार्यकर्ता को पता भी नहीं होता था कि वो वापस लौटेंगे भी या नहीं. कर्नाटक में हमारे दो दर्जन से भी ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई: पीएम मोदी

  • 18:43(IST)

    मेरे पास आंकड़े नहीं है. त्रिपुरा की बीजेपी की टीम सबसे छोटी आयु की टीम है. कुछ उम्मीदवार तो ऐसे थे जिनका हमने बर्थ सर्टिफिकेट चेक किया: पीएम मोदी

  • 18:41(IST)

    इन तीनों राज्यों के सच्चे नेता का आज भी मीडिया को पता नहीं है. संगठन की ताकत देखिए कोई सेलिब्रिटी नहीं फिर भी हमने विजय हासिल की.

  • 18:39(IST)
  • 18:36(IST)

    हिंदुस्तान के राजनीतिक विश्लेषकों को इस बात को समझना होगा. शून्य से शिखर तक की यात्रा हमने तय की है. सूरज जब ढलता है तो लाल रंग का होता है और जब उदय होता है तो केसरिया रंग लेकर उभरता है: पीएम मोदी

  • 18:33(IST)

    लोकतंत्र में विजय और पराजय स्वभाविक होते हैं, लेकिन राजनीतिक दलों को विजय को पचाना बहुत मुश्किल होता है. 2014 से मैं लगातार देख रहा हूं. जो लोग लोकतंत्र की बार-बार दुहाई देते रहे हैं. वह पराजय को नहीं स्वीकार कर पा रहे हैं- मोदी

  • 18:31(IST)

    ये लोकतंत्र की ताकत है. गरीब से गरीब व्यक्ति ने भी इस चोट का जवाब वोट से दिया है. जितना अपने कार्यकर्ता को खोने की पीड़ा हमें थी उतनी ही त्रिपुरा के प्रत्येक व्यक्ति को थी. यह जीत मैं पार्टी के शहीदों को समर्पित करता हूं- पीएम मोदी

  • 18:25(IST)

    मैं सबसे पहले... बीजेपी के उन कार्यकर्ताओं को... अजान के लिए थोड़ी देर रुकेंगे: पीएम मोदी

  • 18:21(IST)

    मैं नरेंद्र भाई को देश के करोड़ों कार्यकर्ताओं की तरफ से कहना चाहता हूं कि आपके साथ हम सब खड़े हैं. आपके नेतृत्व में 2019 में इससे भी ज्यादा बहुमत मिलने वाला है: अमित शाह

  • 18:17(IST)

    नए कार्यालय में पहला विजय उत्सव बीजेपी मना रही है. मोदी के नेतृत्व में जो विजय का दिग्विजय रथ चला है. वो रथ घूमता-घूमता नॉर्थ-ईस्ट से होता हुआ कर्नाटक की तरफ जा रहा है. त्रिपुरा में हमारे 9 कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या कर दी गई थी: अमित शाह

  • 18:13(IST)

    बीजेपी मुख्यालय पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने किया स्वागत.

  • 17:54(IST)

    कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक हाथ में कुछ कागज लिए कैमरे में कैद हुए. इस पर सीटों का मिलान और मेघायल में सरकार बनाने के लिए पार्टी को कितने सीटें चाहिए लिखा हुआ था.

  • 17:50(IST)

    मेघालय में कांग्रेस ने 21 सीटों पर जीत हासिल की है. इसके अलावा NPP को 19, UDP को 6, BJP को 2 और अन्य को 11 सीटें मिली हैं. 

  • 17:46(IST)

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थोड़ी देर में बीजेपी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. यहां कार्यकर्ता ढोल-नगाड़े के साथ जीत का जश्न मना रहे हैं.

  • 16:26(IST)

    पूरे देश में जितने भी चुनाव हमारी सरकार आने के बाद हम यह करीब-करीब जीते हैं. सरकार कैसी चल रही है इसे बताने वाला सबसे सही थर्मामीटर जनादेश होता है. यह जीत बताते हैं कि हमारी सरकार बहुत बेहतर चल रही है. यह विजय साबित करती है कि हमारे कार्यकर्ता अब जीत गए हैं: अमित शाह

  • 16:23(IST)

    नॉर्थ-ईस्ट में शांति बनाने के लिए मोदी सरकार ने बहुत प्रयास किया है. यह जीत बताती है कि नॉर्थ-ईस्ट की जनता को शांति चाहिए. खूनी राजनीति से अब नॉर्थ-ईस्ट बाहर आना चाहता है. मेघालय को ना भी गिनें तो NDA की 21 राज्यों में सरकार है: अमित शाह

  • 16:22(IST)

    लेफ्ट भारत के किसी हिस्से के लिए राईट नहीं है. लद्दाख में भी हमारा सांसद है, कोहिमा में भी हमारा राज है. आज बीजेपी का अखिल भारतीय रूप सबके सामने आया है. मोदी जी के नेतृत्व में जिस प्रकार से सरकार चली. पिछड़े वर्ग, आदिवासियों के लिए हमने काम किया: अमित शाह

  • 16:20(IST)

    आज नगालैंड में भी बीजेपी को 10 सीटें मिली हैं. मैं मानता हूं तीनों राज्यों के चुनाव नतीजे कर्नाटक और 2019 के परिचायक हैं. पहले कहा जाता था कि बीजेपी सिर्फ हिंदी बोलने वाले लोगों की पार्टी है, लेकिन यह सब गलत साबित हुआ है. सबसे ज्यादा हमारे बंगाल और केरल के कार्यकर्ताओं को खुशी है: अमित शाह

  • 16:17(IST)

    भारतीय जनता पार्टी की त्रिपुरा में पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है. गुजरात, हिमाचल के बाद अब त्रिपुरा में हमने जीत दर्ज की है. हमारे कार्यकर्ताओं ने वाम हिंसा का डटकर सामना किया. यही कारण है कि हमने यहां जीत दर्ज की: अमित शाह

  • 16:16(IST)

    2014 के चुनाव में पीएम मोदी ने देश की जनता को कहा था कि पुर्वी हिस्सा और उत्तर पूर्व विकास से अछूता रहा है. हमारी सरकार बनते ही हमने नॉर्थ ईस्ट को विकास के राह पर ले जाने के लिए प्रयास किया: अमित शाह

  • 16:14(IST)

    मोदी जी की सरकार की उत्तर पूर्व के लिए जो रणनीति रही लोगों ने उस पसंद किया. हमारे कार्यकर्ता को बधाई, प्रदेश की जनता का धन्यवाद: अमित शाह

  • 16:13(IST)

    मेघालय में हमारे पास स्पष्ट बहुमत है नागालैंड और त्रिपुरा में हम असफल हुए हैं, हमें उस पर काम करना होगा: अहमद पटेल, कांग्रेस

  • 16:07(IST)

    त्रिपुरा में हुई करारी हार के बाद सीताराम येचुरी ने कहा 'हम त्रिपुरा में इस हार के कारणों का विश्लेषण करेंगे, और इसे सही करने के लिए कदम उठाए जाएंगे.'

  • 16:05(IST)
  • 16:02(IST)
  • 16:01(IST)
  • 16:00(IST)
सूरज जब ढलता है तो लाल रंग का होता है, उदय होता है तो केसरिया- पीएम मोदी

पूर्वोत्तर के तीन राज्यों मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा में शनिवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतगणना होगी. तीनों राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए हाल ही में मतदान हुआ था.

एग्जिट पोल की मानें तो इन तीनों राज्यों में इस बार बीजेपी एक बड़ी ताकत के रूप में उभरेगी. दो एक्जिट पोल में यह कहा गया है कि त्रिपुरा में बीजेपी सत्तासीन होगी जहां पिछले 25 साल से वाम मोर्चे की सरकार है.

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने बताया कि तीनों राज्यों में मतगणना सुबह आठ बजे आरंभ होगी. त्रिपुरा में 18 फरवरी को मतदान हुआ था, जबकि नगालैंड और मेघालय में 27 फरवरी को वोट डाले गए थे. इन तीन राज्यों में विधानसभा की 60-60 सीटें हैं, लेकिन किसी ने किसी कारण से तीनों में 59-59 सीटों पर मतदान हुआ.

अगर एग्जिट पोल की मानें तो इस बार त्रिपुरा में लाल की जगह भगवा झंडा लहरा सकता है. इसके साथ-साथ एग्जिट पोल में नगालैंड और मेघालय में भी बीजेपी के मजबूत होकर उभरने की उम्मीद है. अगर ऐसा हुआ तो यह 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी के लिए उत्साह बढ़ाने का काम करेगा. वैसे तो ये तीनों राज्य लोकसभा की सीटों के दृष्टिकोण से बहुत महत्वपूर्ण नहीं हैं लेकिन इन जगहों पर बीजेपी के एक मजबूत पार्टी के रूप में उभार राजनीतिक दृष्टिककोण से काफी फायदेममंद साबित होगा. पूर्वोत्तर में इससे पार्टी की पैठ गहरी होगी. एग्जिट पोल का अनुमान अगर सही साबित हुआ तो कांग्रेस को पूर्वोत्तर में गहरा झटका लगेगा. त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में उसकी राजनीतिक जमीन खिसकने का अनुमान जताया गया है. 2019 को देखते हुए कांग्रेस के लिए यह परिणाम निराश करने वाला हो सकता है.

त्रिपुरा में हुए विधानसभा चुनाव के बाद दो एग्जिट पोल के नतीजों में वाम मोर्चा की सरकार की जगह बीजेपी सरकार आने का पूर्वानुमान लगाया गया है. एग्जिट पोल के अनुसार मेघालय और नगालैंड में भी बीजेपी अपनी स्थिति मजबूत करेगी. त्रिपुरा में 25 सालों से वाम मोर्चा की सरकार है. जन की बात- न्यूज एक्स ने पूर्वानुमान व्यक्त किया है कि त्रिपुरा में बीजेपी-आईपीएफटी गठबंधन को 35 से 45 के बीच सीटें मिल सकती हैं. वहीं एक्सिस माई इंडिया द्वारा मतदान के बाद कराए गए पोल में इस गठजोड़ को 44 से 50 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की गई है.

दोनों पोल में त्रिपुरा में वाम मोर्चा को क्रमश: 14 से 23 सीटें और 9 से 15 सीटें मिलने की संभावना व्यक्त की गई है.

सी-वोटर के एग्जिट पोल में त्रिपुरा में कांटे की टक्कर बताई गई है और सीपीएम को 26 से 34 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है वहीं बीजेपी और उसके सहयोगी दलों को 24 से 32 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है.

मेघालय में जन की बात-न्यूज एक्स के एग्जिट पोल के नतीजों में नेशनल पीपुल पार्टी (एनपीपी) को 23-27 सीटें, बीजेपी को 8-12 सीटें और कांग्रेस को 13 से 17 सीटें मिलने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है. वहीं सीवोटर के अनुसार कांग्रेस को 13-19, एनपीपी को 17-23 और बीजेपी को 4-8 सीटें मिल सकती हैं.

जन की बात-न्यूज एक्स के एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार नगालैंड में बीजेपी-एनडीपीपी को 27-32 सीटों के साथ एनपीएफ के सामने चुनौती पेश करते हुए बताया गया है जिसे 20 से 25 सीटें मिलने की संभावना है. कांग्रेस को महज 0-2 सीटें मिलने की बात कही गई है.

सी-वोटर के अनुसार नगालैंड में इस बार कांग्रेस महज 0 से चार सीटों के बीच सिमटकर सत्ता से बेदखल हो सकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi