S M L

BJP से मतभेदों के बीच JDU की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में शामिल होंगे नीतीश

नीतीश और पासवान दोनों की कोशिश है कि एनडीए में बने रहने के बदले में बीजेपी के साथ सौदेबाजी में अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ा जाए

Updated On: Jul 07, 2018 12:00 PM IST

FP Staff

0
BJP से मतभेदों के बीच JDU की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में शामिल होंगे नीतीश
Loading...

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार आज यानी शनिवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होंगे. इसके पूर्व वो पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में भी शिरकत करेंगे. बीजेपी के साथ चल रही रिश्तों की रस्साकशी के बीच नीतीश की यह बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है.

समझा जा रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर नीतीश सीटों के बंटवारे के साथ विभिन्न मुद्दों पर पार्टी का स्टैंड क्लियर कर सकते हैं. यह बात  छुपी नहीं कि नीतीश और बीजेपी के बीच लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर मतभेद जारी हैं.

ऐसे में कहा जा रहा था कि नीतीश शायद दोबारा से आरजेडी के नेतृत्व वाले महागठबंधन में शामिल होना चाहें. लेकिन इन सारी अटकलों पर उस समय विराम लग गया जब पिछले दिनों तेजस्वी यादव ने यह ऐलान करते हुए कहा था कि नीतीश के लिए महागठबंधन के दरवाजे बंद हो चुके हैं.

नीतीश के पास बचे हैं सीमित विकल्प

जहां नीतीश को यह लग रहा था कि उनके पास बहुतेरे विकल्प हैं. वहीं अब उन्हें सीमित रास्ते ही नजर आ रहे हैं. इस स्थिति में नीतीश इस कोशिश में जुटे हैं कि बीजेपी को ही सीटों के बंटवारे को लेकर मनाया जाए.

पार्टी के कार्यकारिणी की बैठक में इसी विषय पर चर्चा होने की संभावना है. बता दें वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में उम्दा प्रदर्शन के बाद बीजेपी की राज्य में जड़े मजबूत हुई हैं और ऐसे में जेडीयू को बड़े भाई का दर्जा देने की संभावना नहीं है. राजनीतिक जानकार मानते हैं कि नीतीश कुमार 2019 में करीब 15 सीटों पर चुनाव लड़ने की जुगत में लगे हैं.

वर्ष 2014 के आम चुनाव में बीजेपी ने बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से 22 सीटें जीती थीं. वहीं रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने 6 और उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी ने 3 सीटों पर जीत दर्ज की थी. तब जेडीयू के खाते में केवल 2 सीटें गई थीं.

अधिक से अधिक सीटों पर लड़ने की मांग कर सकती है एलजेपी और जेडीयू

हालांकि 12 जुलाई को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पटना आने वाले हैं. यहां वो नीतीश कुमार से मुलाकात करेंगे. इससे पहले नीतीश 2 दिन के दिल्ली दौरे पर आने वाले हैं. शनिवार को नीतीश दिल्ली में केंद्रीय मंत्री और एलजेपी के बॉस रामविलास पासवान के साथ बैठक करेंगे.

इस मौके पर एनडीए के सहयोगियों में बिहार और आसपास के राज्यों में सीटों के बंटवारे को लेकर चर्चा की जाएगी. नीतीश और पासवान दोनों की कोशिश है कि एनडीए में बने रहने के बदले में बीजेपी के साथ सौदेबाजी में अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ा जाए.

(साभार: न्यूज़18)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi