S M L

पीएम मोदी के मंत्री बोले- एसपी-बीएसपी गठबंधन से बीजेपी को नुकसान होगा

बीजेपी आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटें जीतने के मंसूबे तैयार कर रही है

Updated On: Mar 30, 2018 05:35 PM IST

Bhasha

0
पीएम मोदी के मंत्री बोले- एसपी-बीएसपी गठबंधन से बीजेपी को नुकसान होगा

लोकसभा के आगामी चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटें जीतने के बीजेपी के मंसूबों के बीच केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने शुक्रवार को कहा कि एसपी और बीएसपी के गठबंधन से पार्टी को 25 से 30 सीटों का नुकसान उठाना पड़ सकता है.

अठावले ने बीएसपी प्रमुख मायावती को बीजेपी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल होने का न्यौता देते हुए कहा कि अगर मायावती को दलितों की वाकई चिंता है तो उन्हें राजग का हिस्सा बन जाना चाहिए.

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के अध्यक्ष अठावले ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में माना, ‘एसपी और बीएसपी के साथ आने से हमारा नुकसान होगा. गठबंधन को अगले लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 25 से 30 सीटें मिल सकती हैं, जबकि बीजेपी को 50 से ज्यादा सीटें मिलेंगी. उत्तर प्रदेश में बीजेपी की जो 25-30 सीटें कम हो जाएंगी, लेकिन बाकी के राज्यों में बीजेपी बढ़त बना लेगी. टीडीपी ने भले ही हमारा साथ छोड़ दिया है, लेकिन एआईएडीएमके हमारे साथ आ सकती है.’

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाले नुकसान का आगामी लोकसभा चुनाव के बाद राजग की सरकार बनने की सम्भावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा. नरेंद्र मोदी फिर प्रधानमंत्री जरूर बनेंगे.

बीजेपी आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटें जीतने के मंसूबे तैयार कर रही है. ऐसे में अठावले का यह बयान महत्वपूर्ण है.

आरपीआई अध्यक्ष ने कहा, ‘कुछ लोगों का कहना है कि नरेंद्र मोदी आजकल कुछ ‘डाउन‘ हो गये हैं लेकिन कौन ‘अप‘ हो रहा है, यह नहीं दिखायी देता. जब तक कोई ‘अप’ नहीं हो रहा है, तब तक इन बातों का कोई मतलब नहीं है.’’

अठावले ने कहा कि वह चाहते हैं कि मायावती राजग में शामिल हो जाएं. बीएसपी मुखिया अगर दलितों का हित चाहती हैं तो उन्हें राजग में आ जाना चाहिए.

उन्होंने कहा ‘तब वह मायावती और रामविलास पासवान के साथ मिलकर केंद्र सरकार से दलितों के कल्याण के लिये ज्यादा धन ले सकेंगे.’’

उन्होंने कहा कि बीएसपी की मदद से गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव जीतने वाली एसपी ने हाल में हुए राज्यसभा चुनाव में बसपा के साथ धोखा किया, जिसकी वजह से उसका प्रत्याशी हार गया.

आरपीआई अध्यक्ष ने माना कि उत्तर प्रदेश में एसपी और बीएसपी के गठबंधन से लोकसभा चुनाव में बीजेपी को नुकसान होगा. गठबंधन को 20 से 25 सीटें मिलेंगी, जबकि बीजेपी को 50 से अधिक सीटें हासिल होंगी. मगर इससे केन्द्र में बीजेपी की दोबारा सरकार बनने की सम्भावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला ना तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कर सकते हैं और ना ही एसपी प्रमुख अखिलेश यादव और बीएसपी मुखिया मायावती.

उन्होंने कहा कि देश में दलितों पर अत्याचार अब भी हो रहे हैं, मगर इसके लिये केन्द्र की बीजेपीनीत सरकार जिम्मेदार नहीं है. कांग्रेस, एसपी और बीएसपी के शासन में भी दलितों पर अत्याचार होते थे. कांग्रेस के शासन में भी गोरक्षा के नाम पर दलित उत्पीड़न की घटनाएं हुईं. इस मुद्दे को राजनीति के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिये. दलितों पर जुल्म को रोकने के लिये दलित अत्याचार रोधी कानून को और मजबूत करना चाहिए.

अठावले ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा सरकारी रिकार्ड में आंबेडकर का नाम ‘भीमराव रामजी आंबेडकर‘ किये जाने के कदम की सराहना करते हुए कुछ लोग इसमें प्रभु राम का नाम जुड़ने पर टीका-टिप्पणी कर रहे हैं, जो बिल्कुल गलत है.

उन्होंने अति दलितों और अति पिछड़ों को अलग कोटा दिए जाने पर विचार सम्बन्धी मुख्यमंत्री योगी के बयान का भी स्वागत किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi