S M L

BJP नेता नरेश अग्रवाल ने बंदर और जानवरों से की राहुल गांधी-विपक्ष की तुलना

अग्रवाल ने कहा, असल बात यह है कि मोदी की बाढ़ में शेर और बकरी भी एक घाट पर खड़े हो गए हैं

Updated On: May 07, 2018 01:12 PM IST

FP Staff

0
BJP नेता नरेश अग्रवाल ने बंदर और जानवरों से की राहुल गांधी-विपक्ष की तुलना
Loading...

अपने बयानों के लिए अकसर चर्चा में रहने वाले बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल ने इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और विपक्षी नेताओं के खिलाफ एक विवादित टिप्पणी की. उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और विपक्ष की तुलना बंदर और जानवरों से की.

अग्रवाल ने हरदोई की एक सभा में कहा, विपक्ष अपरिपक्व नेतृत्व के हाथ में है. बंदर को अदरक पकड़ा दो तो क्या होता है? अगर देश को ऐसे ही नेतृत्व के हवाले कर दिया जाए, तो वह देश नहीं रह जाएगा. वह कई टुकड़ों में टूट जाएगा.

राहुल को कुछ नहीं कहूंगा:अग्रवाल

अग्रवाल ने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थामा है. इसके बाद पहली बार हरदोई पहुंचे अग्रवाल ने एक जनसभा में कहा, ‘मैं राहुल जी को इस मारे कुछ नहीं कहता क्योंकि राजीव जी हमारे नेता थे, राहुल उनके बेटे हैं...... लेकिन इतना कह सकता हूं कि विपक्ष अपरिपक्व नेतृत्व के हाथ में है. बंदर को उस्तरा पकड़ा दो तो क्या होगा. अगर हमने विपक्ष को उस्तरा पकड़ा दिया तो देश टुकड़े-टुकड़े हो जाएगा.’

अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी (एसपी) अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीएसपी मुखिया मायावती की तुलना जानवरों से की. उन्होंने कहा कि अखिलेश बीएसपी की मदद से दो लोकसभा सीटें जीतने के बाद अब कैराना उपचुनाव में समर्थन के लिए मायावती के आगे गिड़गिड़ा रहे हैं. जो समर्थन की चाहत में पार्टी चला रहा हो, तो उसकी पार्टी का क्या मतलब है. असल बात यह है कि मोदी की बाढ़ में शेर और बकरी भी एक घाट पर खड़े हो गए हैं.

जया पर इतने खुश हो गए अखिलेश कि..

एसपी से राज्यसभा सदस्य रह चुके अग्रवाल ने अखिलेश यादव पर भी तंज करते हुए कहा ‘तुम (अखिलेश) फिल्मी कलाकार (राज्यसभा सदस्य जया बच्चन) पर इतना खुश हो गए कि 40 साल का इतिहास बनाए एक व्यक्ति को, जिसने तुम्हें अध्यक्ष बनाया, जिसने समाजवादी पार्टी को मजबूत किया जो पूरे प्रदेश में खुल कर लड़ता रहा. तुमने उसी व्यक्ति को अपमानित कर दिया. अगर इतनी ही शान है तो जाकर बहन जी (मायावती) के पैर क्यों छू लिए.’

अग्रवाल ने आगे कहा कि यूपीए में 18 पार्टियां शामिल हैं. अगर 18 पार्टियों वाले यूपीए के हाथ में देश चला जाएगा तो उसके टुकड़े टुकड़े हो जाएंगे. यहां सवाल मोदी और बीजेपी का नहीं है. यहां सवाल है देश का, क्योंकि केंद्र का चुनाव देश का चुनाव होता है. अग्रवाल ने कहा, ‘मुझे याद है कि इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री थीं. मैं कांग्रेस में था. लोग आलोचना किया करते थे कि इंदिरा जी कुछ नहीं करतीं लेकिन जब चुनाव आता था तो वोट इंदिरा गांधी को ही मिलते थे. क्या मोदी जी के विपक्ष में कोई व्यक्ति है जो सरकार चला सकता है? बता दीजिए क्या राहुल गांधी चलाएंगे.’

(इनपुट भाषा से)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi