S M L

मोदी चौक विवादः घटना की वजह को लेकर उलझे BJP नेता

सुशील मोदी ने कहा हत्या की वजह जमीन विवाद, नित्यानंद राय ने कहा बहाना है जमीन विवाद

FP Staff Updated On: Mar 17, 2018 09:59 PM IST

0
मोदी चौक विवादः घटना की वजह को लेकर उलझे BJP नेता

बिहार के दरभंगा जिले में बीते शुक्रवार को एक व्यक्ति को अपने गांव में एक चौक का नाम पीएम मोदी के नाम पर रखना भारी पड़ गया. बीजेपी समर्थक 70 वर्षीय रामचंद्र यादव ने गांव के चौक का नाम 'नरेंद्र मोदी चौक' रखा था.

इस घटना के बाद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय शनिवार को मृतक के परिजनों से मिलने दरभंगा पहुंचे.

गिरिराज सिंह ने कहा मैं जान रहा था कि चुनाव में जहर बोया जा रहा है. एक खास समुदाय, दल की ओर से. आज वही चुनाव परिणाम के बाद, तेजु यादव और उनके परिवार के लोगों ने बयान दिया कि मोदी चौक जबसे उसने बनाया है तबसे उसके ऊपर आफत का पहाड़ टूट पड़ा है.

वहीं नित्यानंद राय ने कहा कि 'जिस जमीन विवाद की बाद पुलिस बात रही है, वह हो सकती है. लेकिन ये जो हत्या हुई है, वह अलग घटना है, पुलिस दोनों को एक साथ जोड़कर मामले की गंभीरता को अलग कर रही है. पुलिस अधिकारियों की शिकायत वह सरकार से करेंगे.'

सुशील मोदी ने कहा था जमीन विवाद की वजह से हुई है हत्या 

वहीं उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा था कि जमीन विवाद की वजह से हत्या हुई है. इसमें मोदी चौक के नाम पर रखे बोर्ड को हटाने जैसी कोई बात नहीं है. सुशील मोदी ने हत्या की वजह को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि 'मोदी चौक की नाम की वजह से दरभंगा में हत्या का मामला पूरी तरह से झूठा है. यह भूमि विवाद का मामला है. मोदी चौक के नाम का बोर्ड काफी पहले ही रखा गया था, इस हत्या का उस बोर्ड से कोई लेना-देना नहीं है.

वहीं इस हमले में घायल रामचंद्र के बेटे कमलेश यादव को इलाज ने बताया कि 2 साल पहले उक्त चौक का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखा गया था, जिसका स्थानीय आरजेडी समर्थकों ने विरोध करते हुए नामकरण पट्टिका हटाने की कोशिश की.

वहीं एसएसपी दरभंगा सत्य वीर सिंह ने कहा था कि यह मामला एक पुरानी जमीन विवाद का है. इसका चौक के नाम करण से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने अपनी निजी संपत्ति का नाम नरेंद्र मोदी चौक रखा था. हर पहलू से मामले की जांच की जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi