S M L

मुजफ्फरपुर हादसा: मनोज बैठा बीजेपी से सस्पेंड लेकिन पुलिस गिरफ्त से बाहर

शराब के नशे में गाड़ी चला रहे बीजेपी के नेता ने मुजफ्फरपुर में स्कूली बच्चों पर ही अपनी गाड़ी चढ़ा दी थी जिसमें 9 बच्चों की मौत हो गई थी

FP Staff Updated On: Feb 27, 2018 09:08 AM IST

0
मुजफ्फरपुर हादसा: मनोज बैठा बीजेपी से सस्पेंड लेकिन पुलिस गिरफ्त से बाहर

बिहार के मुजफ्फरपुर में 9 बच्चों की मौत के मामले में बीजेपी के सीतामढ़ी जिला महामंत्री को पार्टी के प्राथमिक सदस्यता से 6 साल के लिए निलंबित कर दिया गया है. शनिवार को हुए इस हादसे में मनोज बैठा के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की एफआईआर भी दर्ज हुई है. हालांकि वह पुलिस के गिरफ्त से बाहर है.

मुजफ्फरपुर पुलिस सीतामढ़ी पुलिस से संपर्क कर जल्द से जल्द गिरफ्तारी की कोशिश में लगी हुई है. बताया जा रहा है कि बैठा अभी घर से फरार है. पुलिस उसके मोबाइल लोकेशन के आधार पर पकड़ने की कोशिश कर रही है.

वहीं इस हादसे के आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर विपक्ष भी हमलावर हो गया है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि मनोज बैठा को राज्य सरकार का संरक्षण प्राप्त है इसलिए उसकी अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है.

आरजेडी विधायकों के साथ तेजस्वी ने राजभवन जाकर राज्यपाल से मिलकर आरोपी को शीघ्र गिरफ्तार किए जाने की मांग की.

उधर, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि चाहे किसी भी दल से जुड़ा कोई भी व्यक्ति हो, पुलिस को आरोपी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

तेजस्वी ने प्रदेश में शराबबंदी को मात्र एक दिखावा बताते हुए ट्वीट कर मुख्यमंत्री से पूछा, ‘नीतीश कुमार जी, क्या शराबबंदी में अमीरों को होम डिलीवरी करवाना और बच्चों के भाजपाई हत्यारे को बचाना ही आपका राजधर्म है?’ उन्होंने पूछा कि क्या शराबबंदी में अब तक करीब 1.30 लाख गरीबों को जेल भेजना ही सुशासन है.

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के सीधे संरक्षण के चलते अभी तक गिरफ्तारी नही हो सकी है.

उन्होंने पूछा कि क्या मुख्यमंत्री का नैतिक और मानवीय दायित्व नहीं बनता कि वह एक बार पीड़ितों से जाकर मिले.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को इस मामले में ट्वीट कर कहा कि ‘नशामुक्त बिहार’ में नशे में धुत एक बीजेपी नेता ने 9 मासूम बच्चों को मार दिया.’ उन्होंने ट्वीट के जरिए सीएम नीतीश से सवाल किया कि ‘नीतीश जी क्या यही है आपकी शराबबंदी की सच्चाई?’ उन्होंने नीतीश से पूछा, ‘आपकी अंतरात्मा की आवाज आज किसे बचा रही है, आरोपी बीजेपी नेता को या बिहार में शराब की सच्चाई को?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi