S M L

महाराष्ट्र में नौकरी है तो मराठी युवाओं को तरजीह मिले: राज ठाकरे

अगर महाराष्ट्र में नौकरियां हैं तो क्या महाराष्ट्र के युवाओं को नौकरी देना गलत है? अगर यूपी में कल कोई इंडस्ट्री लगती है तो वहां के युवाओं को पहले मौका मिलना चाहिए

Updated On: Dec 02, 2018 10:18 PM IST

FP Staff

0
महाराष्ट्र में नौकरी है तो मराठी युवाओं को तरजीह मिले: राज ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के प्रमुख राज ठाकरे की पूरी राजनीति और राजनीतिक अस्तित्व सिर्फ बाहरी लोगों के विरोध पर आधारित रही है. चचेरे भाई और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के अयोध्या जाने के बाद से राज ठाकरे पर दबाव और बढ़ गया है. इसी क्रम में राज ठाकरे ने उत्तर भारतीय पंडों से आशीर्वाद मांगा है.

राज ठाकरे ने मुंबई में एक कार्यक्रम में कहा- इसमें कोई शक नहीं कि हिंदी बहुत ही सुंदर भाषा है. लेकिन यह गलत है कि हिंदी राष्ट्रभाषा है. राष्ट्रभाषा पर किसी तरह का कोई निर्णय नहीं हुआ है. जैसे हिंदी भाषा है, वैसे ही मराठी, तमिल, गुजराती और बाकी सारी भाषाएं हैं. ये सभी देश की भाषा हैं.

इसके साथ ही राज ठाकरे ने महाराष्ट्र में नौकरियों के मुद्दे पर भी खुलकर बोला. लेकिन यहां वो उत्तर भारतीयों को महाराष्ट्र में नौकरियों पर विरोध करते आए. राज ठाकरे ने कहा- अगर महाराष्ट्र में नौकरियां हैं तो क्या महाराष्ट्र के युवाओं को नौकरी देना गलत है? अगर यूपी में कल कोई इंडस्ट्री लगती है तो वहां के युवाओं को पहले मौका मिलना चाहिए. ऐसा ही बिहार में भी होना चाहिए. इसमें गलत क्या है?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi