S M L

मुलायम ने आरएलडी उम्मीदवार को दिया जीत का आशीर्वाद

अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच मतभेद खुलेआम चुनाव प्रचार के मंच पर दिखने लगा है.

Updated On: Feb 12, 2017 11:00 PM IST

FP Staff

0
मुलायम ने आरएलडी उम्मीदवार को दिया जीत का आशीर्वाद

बाप-बेटे की लड़ाई चुनाव प्रचार के दौरान भी थमने का नाम नहीं ले रही है. अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच मतभेद खुलेआम चुनाव प्रचार के मंच पर दिखने लगा है.

शनिवार को इटावा की जसवंत नगर सीट पर मुलायम सिंह की रैली में ऐसा ही देखने को मिला. यहां मुलायम सिंह अपने भाई शिवपाल यादव के लिए वोट मांगने आए थे. यह मुलायम सिंह यादव की पहली चुनावी रैली थी.

इस रैली में मुलायम सिंह ने एसपी प्रत्याशी और अपने भाई शिवपाल यादव के लिए भावनात्मक होकर वोट मांगा.

लेकिन सबसे दिलचस्प बात यह रही कि उन्होंने इस रैली में मंच से इटावा सदर सीट से राष्ट्रीय लोक दल के उम्मीदवार को भी समर्थन दिया.

इटावा सदर से आरएलडी के टिकट पर समाजवादी पार्टी छोड़ने वाले आशीष राजपूत चुनाव लड़ रहे हैं. एसपी में रहते हुए वे शिवपाल और मुलायम सिंह यादव के करीबी माने जाते थे. साइकिल चुनाव चिह्न की जंग जीतने के बाद अखिलेश ने इसी वजह से आशीष का टिकट काट दिया था.

जब मुलायम सिंह रैली कर रहे थे तो आशीष मंच पर चढ़ गए और उनके पैर छुए. इसके बाद मुलायम ने आशीष को जीत का आशीर्वाद दिया. और रैली में पहुंचे समर्थकों की ओर अपने समर्थन का इशारा भी किया.

इटावा सदर सीट से समाजवादी पार्टी ने कुलदीप गुप्ता को उतारा है. शिवपाल और मुलायम सिंह यादव के कई करीबी एसपी नेता, टिकट नहीं मिलने पर लोक दल की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुलायम सिंह की पहली चुनावी रैली में शिवपाल के अलावा मंच पर कोई भी एसपी कार्यकर्ता नजर नहीं आया. इसके साथ ही मुलायम के अलावा यादव परिवार के किसी भी सदस्य ने शिवपाल के लिए प्रचार नहीं किया.

रैली से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद राम गोपाल यादव, डिंपल यादव, धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप यादव और अक्षय यादव भी गायब थे.

रैली में मुलायम सिंह यादव के नाम पर वोट मांगे गए. रैली में मुलायम सिंह यादव के मुख्यमंत्री रहते हुए जिले में किए गए कार्यों का जिक्र किया गया है. लेकिन अखिलेश और उनकी सरकार का नाम नहीं लिया गया.

मुलायम ने चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश का यह चुनाव खासतौर से मेरे और शिवपाल सिंह के लिए बहुत ही खास है.

इटावा में मुलायम सिंह यादव की अच्छी पकड़ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi