S M L

'कश्मीर में मुफ्ती का प्रयोग असफल रहा, PDP अलोकप्रिय हो चुकी है'

कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज ने कहा, 'बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में मुद्दा बनाना है और इसलिए वो गठबंधन से अलग हुए. बीजेपी ने अपनी साख बचाने के लिए ऐसा किया है. अब वो जम्मू में सांप्रदायिकता को हवा देंगे'

Updated On: Jun 24, 2018 01:25 PM IST

Bhasha

0
'कश्मीर में मुफ्ती का प्रयोग असफल रहा, PDP अलोकप्रिय हो चुकी है'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैफुद्दीन सोज अपनी किताब ‘कश्मीर: ग्लिम्पसेज ऑफ हिस्ट्री एंड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल' को लेकर विवादों में हैं. कश्मीर को लेकर हाल में दिए उनके बयानों से राजनीतिक तौर पर नई बहस छिड़ गई है. बीजेपी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उससे इस पर अपना रूख स्पष्ट करने को कहा है.

जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सैफुद्दीन सोज से ‘पीटीआई-भाषा’ ने राज्य में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन टूटने और कश्मीर घाटी के मौजूदा हालात पर खास बातचीत की है..

सवाल: बीजेपी-पीडीपी गठबंधन टूटने पर आप क्या कहेंगे?

सोज: शुरू से ही यह गठबंधन सही नहीं था. यह उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी ध्रुव का मेल था. मुफ्ती मोहम्मद सईद ने एक प्रयोग किया जो कल भी नाकाम था और आज भी नाकाम है.

सवाल: आखिर बीजेपी इस गठबंधन से अचानक क्यों अलग हो गई?

सोज: बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में मुद्दा बनाना है और इसलिए वो अलग हुए हैं. आप देखेंगे कि वो लोग चुनाव के समय कहेंगे कि हमने देश के लिए यह गठबंधन तोड़ा. जबकि सच्चाई यह है कि इन्होंने देश के लिए यह फैसला नहीं किया है, बल्कि अपनी साख बचाने के लिए किया है. अब वो जम्मू में सांप्रदायिकता को हवा देंगे.

बीजेपी ने पिछले हफ्ते पीडीपी के साथ अपना गठबंधन खत्म करते हुए महबूबा मुफ्ती सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था

बीजेपी ने पिछले हफ्ते पीडीपी के साथ अपना गठबंधन खत्म करते हुए महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस ले लिया था

सवाल: घाटी में अब आप पीडीपी का क्या भविष्य देखते हैं?

सोज: पीडीपी ने गठबंधन करके बहुत गलत किया था. वो नाकाम रहे हैं. पीडीपी से लोग बहुत नाराज हैं. मुझे नहीं पता कि आगे क्या होगा. लेकिन इस वक्त वह पार्टी बहुत अलोकप्रिय हो चुकी है.

सवाल: आगे आप घाटी में किस तरह के हालात देखते हैं?

सोज: जब तक भारत सरकार की नीति नहीं बदलती है तब तक कुछ नहीं होने वाला है. राज्य सरकार के पास करने के लिए कुछ नहीं है. इस वक्त केंद्र सरकार की नीति गलत है. अब वह ज्यादा फौजी भेजेगी, ज्यादा सीआपीएफ आएगी. बल प्रयोग करने की नीति अपनाई जाएगी. इस नीति से लोग मर सकते हैं लेकिन कोई हल नहीं निकलेगा, कोई रास्ता नहीं निकलेगा.

सवाल: जम्मू-कश्मीर में नए राज्यपाल को नियुक्ति किए जाने की अटकलें हैं, इस पर आप क्या कहेंगे?

सोज: मैं तो सिर्फ इतना कहूंगा कि एन एन वोहरा को कश्मीर की पहचान है. वो गलत काम नहीं करेंगे और जब तक वह रहेंगे, कश्मीर में अच्छी सरकार ही देंगे. वह एक सूझबूझ वाले इंसान है. मुझे नहीं पता कि भारत सरकार उनको कब तक इस पद पर रखेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi