S M L

विधानसभा चुनाव पर नहीं होगा उपचुनाव के नतीजों का असर: चौहान

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा कि हमने ये चुनाव जीतने के लिए लड़े थे, लेकिन थोड़ी सी कसर रह गई

Updated On: Mar 04, 2018 01:05 PM IST

Bhasha

0
विधानसभा चुनाव पर नहीं होगा उपचुनाव के नतीजों का असर: चौहान

मध्यप्रदेश के मुंगावली और कोलारस विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस के हाथों बीजेपी को मिली हार पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा कि हमने ये चुनाव जीतने के लिए लड़े थे, लेकिन थोड़ी सी कसर रह गई.

ये दोनों सीटें कांग्रेस के उम्मीदवारों के निधन के कारण खाली हुई थीं. इन दोनों सीटों पर 24 फरवरी को उपचुनाव हुआ था और 28 फरवरी को इसके परिणाम आये थे. कांग्रेस ने इन पर अपना कब्जा बरकरार रखा हालांकि, जीत का अंतर काफी कम हो गया.

यहां मुख्यमंत्री निवास पर चौहान ने मुंगावली और कोलारस विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को मिली हार पर एक सवाल का जवाब देते हुए संवाददाताओं को बताया, ‘बीजेपी ने चुनाव जीतने के लिए लड़ा था लेकिन थोड़ा सी कसर रह गई.’ उन्होंने कहा कि इन दोनों सीटों पर चुनाव नहीं जीतने की भी कसक है, क्योंकि हमने जीतने के लिए यह चुनाव लड़े थे.

बीजेपी के सपोर्ट बेस ही बंट गया

चौहान ने बताया कि कोलारस और मुंगावली उपचुनाव के बारे में पहले से ही सबकी यह धारणा थी कि यह चुनाव बीजेपी के लिए जीतना कठिन है, क्योंकि वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में कोलारस में कांग्रेस लगभग 25,000 वोटों से जीती थी और करीब 24,000 वोट बीएसपी को भी मिले थे, जिसने इस बार इस सीट पर उम्मीदवार खड़ा नहीं किया था. इसलिए हमने 48,000 वोट के अंतर को लेकर लड़ाई शुरू की और उसको हम 8,000 तक लेकर आए.

उन्होंने कहा कि ठीक इसी तरह से वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में मुंगावली में कांग्रेस 22,000 वोटों से जीती थी. 12,000 वोट बीएसपी को मिले थे. वहां पर भी इस बार बीएसपी ने उम्मीदवार खड़ा नहीं किया. मुंगावाली उपचुनाव में हम लगभग 2,100 वोट से हारे.

चौहान ने बताया, ‘राजनीतिक दृष्टि से देंखे तो कांग्रेस ने मुंगावली में बीजेपी का जो सपोर्ट बेस था, उस वोट को ही बांट दिया. पहले और दूसरे राउंड में हमें 5,000 से 7,000 वोटों की लीड लेने की उम्मीद थी, लेकिन वहां मामला बराबरी पर रहा. बाकी के राउंड में देखें तो बीजेपी ने वहां पर कुल मिलाकर अच्छा प्रदर्शन किया.’

एक अन्य सवाल पर उन्होंने कहा कि इस साल नवंबर-दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को किसी भी दल से चुनौती नहीं है. यह सच्चाई है कि वर्ष 2018 में शानदार बहुमत और पूरी शान से बीजेपी मध्यप्रदेश में जीतेगी. उन्होंने कहा, ‘मुंगावली और कोलारस उपचुनाव की हार का असर वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी पर जरा सा भी नहीं होगा.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi