S M L

चार साल पहले किए गए मोदी के वादे खोखले साबित हुए: येचुरी

सीताराम येचुरी ने कहा ‘इन परिस्थितयों के मद्देनजर यह स्पष्ट रूप से हमारे देश और लोगों पर गंभीर हमला है.’

Updated On: May 24, 2018 05:03 PM IST

Bhasha

0
चार साल पहले किए गए मोदी के वादे खोखले साबित हुए: येचुरी

CPM महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा है कि मोदी सरकार ने चार साल के कार्यकाल में चुनाव से पहले अपने वादों से मुकरने के अलावा कोई अन्य काम नहीं किया है.

येचुरी ने मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर एक लेख में कहा ‘देश से अच्छे दिनों का वादा किया गया था, साथ ही विकास और समृद्धि के जरिए देश को मजबूत और सक्षम राष्ट्र में तब्दील करने का वादा किया गया था. देश से वादा किया गया था ‘सबका साथ सबका विकास’ होगा लेकिन हर किसी के लिए यह वादे खोखले साबित हुए.’

उन्होंने कहा कि इन सभी वादों के साथ धोखा किया गया. येचुरी ने आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक मोर्चों पर मोदी सरकार को नाकाम बताते हुए कहा कि पिछले चार सालों में लोगों की आजीविका पर अप्रत्याशित हमले हुए. देश के सामाजिक सौहार्द को नष्ट करने वाला सांप्रदायिक ध्रुवीकरण तेजी से हुआ, संसदीय लोकतंत्र, संवैधानिक प्राधिकारियों और संस्थाओं पर चौतरफा हमले बढ़े और भारत की स्वतंत्र विदेश नीति के साथ समझौता किया गया.

येचुरी ने कहा ‘इन परिस्थितयों के मद्देनजर यह स्पष्ट रूप से हमारे देश और लोगों पर गंभीर हमला है.’ उन्होंने कहा कि इन चार सालों में यह सुनिश्चित हो गया है कि देश और देश के लोगों का भविष्य सिर्फ इस सरकार को बाहर का रास्ता दिखाये जाने के बाद ही सुरक्षित किया जा सकता है.

लेख के अंत में येचुरी ने मोदी सरकार के चार साल के अनुभव का हवाला देते हुये कहा कि बीजेपी सरकार को सत्ता से बाहर करना ही होगा. उन्होंने दलील दी कि पिछले चार साल में न सिर्फ प्रत्येक वादा खोखला साबित हुआ बल्कि संसदीय लोकतंत्र और देश के धर्मनिरपेक्ष चरित्र के महत्व को भी कमतर किया गया.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने इस दौरान खुद को जनविरोधी और संविधान विरोधी के रूप में पेश किया है. येचुरी ने मोदी सरकार के अंतिम वर्ष में देश के लोगों से पिछले चार सालों में किए गए जनविरोधी कार्यों के हवाले से सरकार के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन तेज करने का आह्वान किया जिससे इसे सत्ता से बाहर किया जा सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi