live
S M L

नए साल की पूर्व संध्या पर पीएम मोदी का देश के नाम संबोधन: 11 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री ने गरीबों, मध्यम वर्ग, किसानों, गर्भवती महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों के लिए कई घोषणाएं कीं.

Updated On: Dec 31, 2016 10:30 PM IST

FP Staff

0
नए साल की पूर्व संध्या पर पीएम मोदी का देश के नाम संबोधन: 11 बड़ी बातें

नए साल की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में जनता को कई नई योजनाओं का तोहफा दिया. पीएम मोदी का फोकस आम लोगों की आशियाने की चाहत पूरा करने की खातिर नई योजनाओं पर रहा. उन्होंने अपने संबोधन में किसानों, गर्भवती महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी कई घोषणाएं कीं.

पीएम मोदी के देश के नाम संबोधन की 11 बड़ी बातें

दो नए आवास स्कीम की घोषणा

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरी और ग्रामीण इलाकों के लिए दो नई स्‍कीमों की घोषणा की गई. इन स्‍कीमों के तहत मकान बनवाने के लिए कर्ज लेने पर ब्‍याज दरों में छूट मिलेगी. प्रधानमंत्री ने कहा, 'आजादी के इतने बरसों बाद भी देश के लाखों गरीबों के पास अपना घर नहीं है. काला धन बढ़ने से मिडिल क्लास की पहुंच से अपना घर खरीदना दूर हो गया. गरीब, लोअर मिडिल क्लास और मिडिल क्लास घर खरीद सकें, इसके लिए सरकार ने कुछ बड़े फैसले लिए हैं'.

घर बनाने या मरम्मत के लिए सस्ता कर्ज

साल 2017 में घर बनाने के लिए 9 लाख रुपये तक के कर्ज पर ब्याज में 4 फीसदी छूट दी गई है. इसके अलावा, 12 लाख रुपये तक के कर्ज में 3 फीसदी की छूट दी गई है. ग्रामीण इलाकों में 33 फीसदी अलग से घर बनाने का टारगेट है. इसके तहत घरों के एक्सटेंशन आदि के लिए 2 लाख रुपये तक के कर्ज पर 3 फीसदी की छूट मिलेगी.

वरिष्ठ नागरिकों को 8 % दर से मिलेगा ब्याज

पीएम मोदी ने वरिष्ठ नागरिकों की जमा रकम पर अगले 10 साल तक के लिए सालाना 8 फीसदी दर से स्थिर ब्याज देने की घोषणा की. मोदी ने कहा कि बैंकों में पैसे ज्यादा आने लगते हैं तो वो जमा राशि पर ब्याज दर घटा देते हैं. उन्होंने कहा, 'हम ये पक्का करना चाहते हैं कि बुजुर्गों पर इसका कोई असर न पड़े'.

2 करोड़ रुपये तक लोन पर क्रेडिट गारंटी

पीएम मोदी ने कहा कि, छोटे कारोबारियों को अब बैंकों से 2 करोड़ रुपये तक के लोन पर क्रेडिट गारंटी दी जाएगी. अब तक कारोबारियों को एक करोड़ तक के कर्ज पर क्रेडिट गारंटी फंड के तहत सरकार की तरफ से गारंटी मिलती थी. अब यह गारंटी 2 करोड़ रुपये हो जाएगी. इसके अलावा एनबीएफसी के जरिए कर्ज लेने वाले छोटे कारोबारियों को भी ये सुविधा मिलेगी.

मोदी ने कहा कि, बैंकों को निर्देश दिया जाएगा कि वो छोटे कारोबारियों को 20 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कैश क्रेडिट करें.

किसानों का 60 दिन का ब्याज चुकाएगी सरकार

मोदी ने कहा कि, जिन किसानों ने डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक और प्राइमरी एग्रीकल्चर सोसाइटी से कर्ज लिया है. सरकार उनके 60 दिन का ब्याज चुकाएगी. साथ ही, 3 महीने में 3 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को रुपे कार्ड में बदला जाएगा. नाबार्ड को 20 हजार करोड़ रुपये अलग से दिए जाएंगे.

गर्भवती महिलाओं को 6 हजार की आर्थिक मदद

मोदी ने कहा कि, गर्भवती महिलाओं के लिए देशव्यापी योजना शुरू होगी. देश भर के 650 जिलों में सरकार गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में पंजीकरण और डिलीवरी, टीकाकरण और पौष्टिक आहार के लिए 6 हजारु रुपये की आर्थिक मदद करेगी. ये राशि सीधे गर्भवती महिला के बैंक खाते में जमा की जाएगी. इससे देश में मातृ मुत्यु दर को कम करने में मदद मिलेगी. वर्तमान में यह राशि 4 हजार रुपये है और देश के 453 जिलों में चलाई जा रही है.

बैंकिंग सिस्टम में पैसा आना फायदेमंद

मोदी ने कहा कि, बैकिंग सिस्टम से बाहर बहुत सारी ब्लैकमनी पड़ी थी. नोटबंदी के तहत बहुत सारा पैसा बैंकिंग सिस्टम में आ गया है. ऐसे में बैंकों के लिए जरुरी है कि वह अपने पारंपरिक काम करने के तरीके में बदलाव लाए. बैंक ज्यादा से ज्यादा गरीब और वंचित वर्ग पर फोकस कर अपने कामों का आयोजन करें.

10 लाख रुपये से ज्यादा आय वालों पर निशाना

प्रधानमंत्री ने देश में हर साल 10 लाख रुपये से ज्यादा कमाई करने वालों की संख्या पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि, केवल 24 लाख लोग ऐसा मानते हैं कि उनकी इनकम 10 लाख से ज्यादा है. पीएम ने कहा, ये आंकड़े गले नहीं उतरते हैं. साफ है कि बहुत से लोग अपनी सही इनकम नहीं बता रहे हैं.

बेईमानों के लिए कठोर होगा कानून

प्रधानमंत्री ने कहा कि, यह सवाल उठ रहा है कि नोटबंदी के अभियान से बेईमानों का क्या होगा. मोदी ने कहा कि, मैं यह कहना चाहता हूं कानून सभी के लिए समान होगा. बेईमानों के लिए कानून पूरी तरह से सख्ती से काम करेगा. वहीं, कोशिश होगी कि ईमानदार आदमी को किसी तरह की कोई परेशानी न हो.

भ्रष्ट बैंक कर्मचारियों को बख्शेंगे नहीं

मोदी ने कहा कि नोटबंदी के दौर में बैंक कर्मचारियों ने बहुत मेहनत से काम किया है. महिला बैंक कर्मचारियों ने देर रात तक काम किया है. इसके लिए वो सब लोग बधाई के पात्र हैं. लेकिन कुछ बैंक  कर्मचारियों के भ्रष्टाचार के मामले भी सामने आए हैं. ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाएगा

ईमानदार नागरिकों का आदर करें

मोदी ने कहा कि, वक्त आ चुका है कि सभी नेता और राजनीतिक दल देश के ईमानदार नागरिकों की भावनाओं का आदर करें. यह बात सही है कि राजनीतिक दलों ने सुधार के सार्थक प्रयास भी किए हैं. अपने पर बंधनों को स्वीकार किया है. आज जरूरत है कि सभी नेता और दल मिल बैठकर पारदर्शिता को प्राथमिकता देते हुए भ्रष्टाचार और कालेधन से राजनीति को मुक्त करें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi