S M L

मुंबई में बोले मोदी, बेईमानों की बर्बादी का वक्त शुरू हो चुका है

प्रधानमंत्री मोदी महाराष्ट्र में हैं जहां वह शिवाजी स्मारक और मेट्रो रेल परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे.

| December 24, 2016, 05:40 PM IST

FP Staff

0

Dec 24, 2016

  • 17:19(IST)

    मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं कि ये लड़ाई तब तक नहीं रुकेगी जब तक हम जीतेंगे नहीं.

  • 17:18(IST)

    बेईमानों को मोदी का डर न लगता हो तो न लगे, सरकार का डर न लगता है तो न लगे, लेकिन बेईमान लोगों आपको इस देश के लोगों से तो डरना पड़ेगा. यह देश अब भ्रष्टाचार सहने को तैयार नहीं है.

  • 17:16(IST)

    ये सरकार आपको फांसी पर लटकाने के लिए तुली हुई है, लेकिन गरीबों का जो हिस्सा आपके पास पड़ा है वह आपको देना पड़ेगा. अगर आप सोचते हैं कि आप कोई रास्ता निकाल कर बच जाएंगे तो आपको पता होना चाहिए कि सरकार बदल चुकी है. बेईमानों की बर्बादी वक्त शुरू हो चुका है.

  • 17:15(IST)

    मैंने कहा था कि 50 दिन तकलीफ होगी. लोगों ने झेला है. आगे जितने भी दिन तकलीफ होगी, देश झेलने को तैयार है. 
    50 दिन बाद ईमानदारों की तकलीफ कम होनी शुरू होगी और बेईमानों की तकलीफ बढ़नी शुरू होगी.

  • 17:14(IST)

    परतें खुल रही हैं. उनको लगता है कि बैंक में आ गया तो हो गया काम, अरे बैंक में आने के बाद ही तो काम शुरू हुआ है. 

  • 17:13(IST)

    कुछ लोगों को लगता था कि बैंक वालों को पटा लो तो काला सफेद हो सकता है. अरे गोरे काले वालों, आप तो मरे, उन बैंक वालों को भी मरवा दिया.

  • 17:12(IST)

    नोटबंदी के मामले में लोगों ने तकलीफ झेली, लेकिन मेरा साथ नहीं छोड़ा. उनको बहकाने का प्रयास किया गया लेकिन लोगों ने मेरा साथ दिया. मुंबई के लोगों चुनाव में मुहर लगा कर दिखा दिया कि सत्य किसके साथ है. मैंने गोवा में कहा था कि लड़ाई आसान नहीं है, 70 साल जिन्होंने मलाई खाई है ऐसे तगड़े लोग पूरी ताकत लगा देंगे कि यह सफल हो. किसी ने कोई कसर नहीं छोड़ी है. लेकिन सवा सौ करोड़ लोगों के सामने मलाई खाने वाले टिक नहीं सकते. देश कभी पराजित नहीं हो सकता. 

  • 17:10(IST)

    हमारे यहां हर काम का सबूत मांगा जाता है. अगर आप चुनाव जीत जाते हैं, तो आपने अच्छा काम किया. अगर आप चुनाव हार जाते हैं तो आपका निर्णय गलत था. 

  • 17:08(IST)

    आज जिनका उद्घाटन हुआ है वे एक लाख छ हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं हैं. अकेली मुंबई में इतना बड़ा प्रोजेक्ट शुरू हुआ है. 

  • 17:08(IST)

    कौन कहता है कि देश बदल नहीं सकता. सवा सौ करोड़ लोगों के भरोसे देश बदल सकता है. देश बदलेगा, देश आगे बढ़ेगा और सिर उंचा करके दुनिया के सामने खड़ा हो जाएगा.

  • 17:07(IST)

    आजादी से 70 साल बाद 18 हजार गांव ऐसे थे जो 18वीं शताब्दी में जीने को मजबूर थे, उनको बिजली नहीं मिलती थी. हमने एक हजार दिन में 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाने का बीड़ा उठाया है. आधे से ज्यादा पूरा कर दिया है. एक हजार दिन में ये काम पूरा करना है. 
     

  • 17:07(IST)

    हमें गरीब परिवारों को चूल्हे के धुएं से मुक्त कराना है. करोड़ों लोगों को गैस चूल्हा दिलाने का बीड़ा हमने उठाया है. 
     

  • 17:04(IST)

    हमने बीड़ा उठाया कि गरीब को देश में सस्ती दवाई मिले और कोई उसका शोषण न कर सके. 

  • 17:03(IST)

    मेरे पास एक कागज आया. लोगों की पेंशन का कागज था. किसी को 7 रुपया किसी को दस रुपया. हमने निर्णय किया कि उनको कम से कम एक हजार रुपया मिलने की व्यवस्था होनी चाहिए, पैसे चाहे ​जितने लगें. सैकड़ों करोड़ का बोझ सरकारी खजाने पर पड़ा लेकिन बुजुर्गों को अच्छी जिंदगी देने के लिए हमारी सरकार ने अच्छा कदम उठाया.

  • 17:02(IST)

    विकास ही एकमात्र प्रेरणा है, लोगों के अरमान पूरे करने की ताकत सिर्फ विकास में है. सम्मान से जीने के लिए विकास ही एक मार्ग होता है. इसलिए आपने जबसे हमें दायित्व दिया है तब से हमने विकास को ही केंद्रबिंदु में रखा है. 
    विकास वो हो, जो स्थायी हो, विकास वो हो जो गरीबों को अपनी जिंदगी में बदलाव लाने का मौका देता हो. अपने आशा अरमान पूरे करने की ताकत देता हो. इसलिए हमारी सारी योजनाओं के केंद्र में गरीब का कल्याण है.

मुंबई में बोले मोदी, बेईमानों की बर्बादी का वक्त शुरू हो चुका है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक दिन के लिए महाराष्ट्र के दौरे पर हैं. वह मुंबई से सटे अरब सागर में 3600 करोड़ की लागत से बनने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज के भव्य स्मारक की आधारशिला रखेंगे. साथ ही पीएम पुणे सहित मुंबई मेट्रो रेल परियोजना की भी आधारशिला रखेंगे.

मुंबई समेत 10 महानगरपालिकाओं के चुनाव होने वाले हैं, जिसके देखते हुए सियासी लिहाज से भी पीएम की महाराष्ट्र यात्रा अहम मायने रखती है.

मुंबई के चौपाटी के पास तट से कुछ किलोमीटर अंदर छत्रपति शिवाजी महाराज के स्मारक का निर्माण होगा. स्मारक की आधारशिला रखने के दौरान पीएम जल पूजन भी करेंगे. इसके लिए शोभायात्रा के तहत लोग राज्य के कोने-कोने से मिट्टी और नदियों का जल कलश में भरकर मुंबई ला रहे हैं.

छत्रपति शिवाजी महाराज का स्मारक दुनिया का सबसे बड़ा स्मारक होगा. स्मारक की कुल ऊंचाई 192 मीटर होगी. स्मारक के लिए बनने वाला प्लेटफॉर्म 77 मीटर का होगा. इस प्लेटफॉर्म पर घोड़े पर बैठे छत्रपति शिवाजी की मूर्ति 114 मीटर की होगी. अमेरिका के स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से भी बड़ी मूर्ति होगी. पूरे स्मारक को 13 हेक्टेयर में फैले चट्टानों पर बनाया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi