S M L

मिशन 2019: एक्शन में प्रशांत किशोर, अब आगे क्या होगा?

क्या प्रशांत किशोर नए राजनीतिक विकल्प की तलाश में हैं?

FP Staff Updated On: Jul 10, 2018 07:25 PM IST

0
मिशन 2019: एक्शन में प्रशांत किशोर, अब आगे क्या होगा?

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान प्रशांत किशोर का नाम हर वक्त सुर्खियों में रहा. अब जैसे-जैसे 2019 नजदीक आ रहा है एकबार फिर प्रशांत किशोर को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. प्रशांत किशोर ने हाल ही में नेशनल एजेंडा फोरम लॉन्च करके नई अटकलों को हवा दे दी है.

दरअसल, नेशनल एजेंडा फोरम के तहत देश के लोगों को चार सूत्री एजेंडे पर आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने की योजना है. नेशनल एजेंडा फोरम में लगभग 25,000 युवा जुड़ गए हैं. ये लोग देशभर के 500 जिलों और 1500 कॉलेज से हैं. इस फोरम के माध्यम से महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर देश के लोगों के सामने एक बेहतर एजेंडा तय करने की योजना है.

क्या है पीके की रणनीति?

प्रशांत किशोर की रणनीति के मुताबिक, देश के लोगों के सामने एक विकल्प देने की तैयारी है. इस प्रोग्राम के मुताबिक, 11 जुलाई 2018 से देश के सामने अहम प्राथमिकता और नेता चुनने के लिए वोटिंग की शुरुआत होगी. जिसके नतीजे 15 अगस्त को आएंगे.

हालाकि, इसके पहले प्रशांत किशोर के अगले कदम को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जाते रहे हैं. कभी उनके फिर से बीजेपी के लिए काम करने की संभावना जताई जाती है, तो कभी उनके जेडीयू के साथ जुड़ने की बात कही जाती है. फिलहाल प्रशांत किशोर जेडीयू के साथ बतौर एडवाइजर काम भी कर रहे हैं. लेकिन, उसके अलवा अब नेशनल एजेंडा फोरम के माध्यम से एक अलग विकल्प तलाशने की उनकी कोशिश को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं.

क्या प्रशांत किशोर नए राजनीतिक विकल्प की तलाश में हैं. क्योंकि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर उनकी तरफ से नेशलन एजेंडा फोरम को लॉन्च करना चर्चा का विषय है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi