विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

राहुल गांधी की सोशल मीडिया पर लोकप्रियता में है इस लड़की का हाथ

हाल में राहुल गांधी के ट्विटर फॉलोवर्स में तेजी से बढ़ोत्तरी देखी गई है

FP Staff Updated On: Oct 08, 2017 03:41 PM IST

0
राहुल गांधी की सोशल मीडिया पर लोकप्रियता में है इस लड़की का हाथ

हाल के दिनों में ऑफिस ऑफ राहुल गांधी यानी कांग्रेस उपाध्यक्ष का ट्विटर हैंडल काफी सक्रिय दिखने लगा. कभी पप्पू कहे जानेवाले राहुल गांधी अचानक समझदार दिखने लगे. समझदारी वाली बात करने लगे. कदम-कदम पर मोदी सरकार को घेरने लगे. लोगों को एकबारगी लगा कि यह सब अचानक हुआ कैसे.

इस सब के पीछे जिस शख्स का हाथ है, वह हैं दक्षिण भारत में राम्या के नाम से मशहूर कन्नड़ अभिनेत्री दिव्य स्पंदना. फिलहाल कांग्रेस का सोशल मीडिया कम्युनिकेशन देख रही हैं.

न्यूज 18 में छपी खबर के मुताबिक जबसे उन्होंने कांग्रेस की सोशल मीडिया कम्युनिकेशन का कार्यभार संभाला, कांग्रेस की सोशल मीडिया कम्युनिकेशन को समर्थकों और विरोधियों के बीच समान लोकप्रियता मिल रही है.

स्पंदना पहले से ही सोशल मीडिया पर सक्रिय थीं. वह केंद्र सरकार, खासकर पीएम नरेंद्र मोदी की कड़ी आलोचना के लिए जानी जाती थीं.

इसी साल मई में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राम्या को सोशल और डिजिटल मीडिया पर कांग्रेस के प्रचार का नेतृत्व करने के लिए चुना था. अब तक माना जाता था कि सोशल मीडिया पूरी तरह से बीजेपी के नियंत्रण में है.

राम्या ने बताया कि 'राहुल जी ने हाल ही में गुजरात में पूछा था कि विकास का क्या हुआ. तो लोगों ने जवाब दिया कि वो पागल हो गया है.' गुजरात में जल्द ही चुनाव होने वाले हैं और ऐसे में बीजेपी को टारगेट करने के लिए कांग्रेस सोशल मीडिया ट्विटर और फेसबुक पर लोकप्रिय मीम्स का इस्तेमाल कर रही है.

पिछले कुछ महीनों में कांग्रेस की सोशल मीडिया स्ट्रेटेजी में प्रत्यक्ष बदलाव को साफ देखा जा सकता है. एक दशक से ज्यादा वक्त से शुरुआती बढ़त लेने वाली बीजेपी को भी अब इसकी तपिश महसूस होने लगी है. राम्या कहती हैं, 'अगर हम राजनीति में हैं, हम भी इस खेल को खेल सकते हैं.'

राम्या की सोशल मीडिया टीम में 85 प्रतिशत महिलाएं हैं 

पिछले तीन महीनों में उन्होंने कई पेशेवरों की भर्ती कर अपनी टीम की ताकत को दोगुना किया है. कांग्रेस की नई सोशल मीडिया टीम की 85% सदस्य महिलाएं हैं. राम्या ने जब पार्टी के डिजिटल वॉर-रूम में पहली बार कदम रखा था तो केवल तीन महिलाएं थीं.

राम्या दावे के साथ तो नहीं कहतीं कि उनकी टीम में महिलाओं के दबदबे से सोशल मीडिया पर कांग्रेस एक प्रभावी कम्यूनिकेटर के तौर पर उभरी है, लेकिन वह कहती हैं, 'महिलाएं चीजों को अलग ढंग से करती हैं, वो अलग तरीके से सोचती भी हैं. मैं इस बात को नकार नहीं सकती कि टीम में अधिकतर महिलाओं का रहना सकारात्मक है.'

राम्या की टीम के पास सबसे बड़ी चुनौती है ट्रोल्स और फेक न्यूज को काउंटर करना. वे कहती हैं 'चुनौती अंदर और बाहर, दोनों जगह है. इंटरनेट किसी को माफ नहीं करता.'

2009 में केवल शशि थरूर का ट्विटर अकाउंट था 

कांग्रेस नेताओं के लिए ये बहुत बड़ा कदम है क्योंकि कभी ये नई मीडिया की ताकत का मजाक उड़ाते थे. हालांकि पार्टी में कुछ लोग डिजिटल मीडिया की ताकत को पहले से ही समझते थे.

मई 2009 में शशि थरूर इकलौते भारतीय नेता थे जिनका ट्विटर अकाउंट था. उनके 6 हजार फॉलोवर्स थे. आज थरूर के 60 लाख फॉलोवर्स हैं, कांग्रेस नेताओं में सबसे अधिक. हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के थरूर से 6 गुना ज्यादा फॉलोवर्स हैं.

हाल में राहुल गांधी के ट्विटर फॉलोवर्स में तेजी से बढ़ोत्तरी देखी गई है. राम्या कहती हैं, 'सभी ऑर्गेनिक है.' जहां हर एक वोट का महत्व है, वहां ये महत्वपूर्ण है कि कौन आपसे जुड़ रहा है.

(न्यूज 18 के लिए ऐश्वर्या की रिपोर्ट) 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi