S M L

मेरठ रैली: मायावती ने बीजेपी पर लगाया साजिश का आरोप

मायावती ने कहा, बीजेपी ने षडयंत्र करके बीएसपी को नुकसान पहुंचाया है

Updated On: Sep 18, 2017 02:51 PM IST

FP Staff

0
मेरठ रैली: मायावती ने बीजेपी पर लगाया साजिश का आरोप

राज्यसभा से इस्तीफा देने के बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती सोमवार को मेरठ में एक विशाल महारैली को संबोधित कर रही हैं. रैली में मायावती ने कहा कि बीजेपी ने षडयंत्र के तहत बीएसपी को नुकसान पहुंचाया. इसके विरोध में हमारी पार्टी ने देशभर में प्रदर्शन किया. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने ईवीएम में गड़बड़ी से बीएसपी को नुकसान पहुंचाया.

माया ने कहा कि मामले को लेकर बीएसपी को सुप्रीम कोर्ट जाना पड़ा. उन्होने बीजेपी पर षडयंत्र के तहत सहारनपुर में दंगा कराने का आरोप भी लगाया. मायावती ने कहा कि महाराणा प्रताप जयंती पर दंगा कराया गया और सहारनपुर कांड पर सदन में बोलने नहीं दिया गया. इसलिए मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया.

पिछड़ों को बीएसपी ने दिलाया आरक्षण

मायावती ने कहा, बीएसपी पीड़ित कमजोर वर्गों के लिए लड़ रही है. उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग को आरक्षण दिलाने के लिए बीएसपी ने दबाव बनाया. उन्होंने कहा कि मंडल कमीशन की रिपोर्ट लागू कराने के लिए हमने धरना दिया. हमने वीपी सिंह से कुछ शर्तें मानने के लिए कहा.

बाबा साहब ने कमजोर वर्गों के लिए संघर्ष किया. उन्होंने कानून मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. वह तब महिलाओं के लिए हक की लड़ाई लड़ रहे थे. बाबा साहब ने महिलाओं के लिए हिन्दू कोड बिल तैयार किया था. वह महिलाओं को बराबरी का हक दिलाने चाहते थे. बाद में हिन्दू कोड बिल टुकड़ों-टुकड़ों में पास हुआ. यह बाबा साहब अंबेडकर की देन है.

ठीक से लागू नहीं हुआ आरक्षण

मायावती ने कहा कि दलितों, आदिवासियों के आरक्षण को ठीक ढंग से लागू नहीं किया गया. 'सही ढंग से आरक्षण लागू न करने पर बाबा साहब ने आपत्ति जताई थी. माया ने कहा कि पदोन्नति में आरक्षण का मामला अभी तक लटका है और प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण देने का मामला भी लंबित है. बीजेपी की शुरू से ही आरक्षण विरोधी मानसिकता रही है.

उन्होंने कहा कि बाबा साहब का तीसरा मुद्दा पिछड़े वर्ग के लिए था. ओबीसी वर्गों के लिए भी बाबा उन्होंने काम किया. धारा-340 के तहत ओबीसी वर्ग के लिए काम किया. वह अति पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण चाहते थे.

बीएसपी की इस रैली में मेरठ, सहारनपुर और मुरादाबाद मंडल के हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं के शामिल होने की बात कही जा रही है . मायावती दिल्ली से सड़क मार्ग से सीधे मेरठ रैली स्थल पर पहुंचीं.

निशाने पर रहे मोदी, योगी

बीएसपी की इस रैली में मायावती के निशाने पर पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी रहे. बीएसपी नेता हाजी याकूब कुरैशी ने कहा कि बहनजी इस महारैली में दलित उत्पीड़न के मुद्दे को उठाया. कुरैशी ने कहा कि यूपी में योगी सरकार के आने के बाद राज्य में दलितों के साथ लगातार उत्पीड़न हो रहा है.

गौरतलब है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ही बीएसपी का मजबूत गढ़ माना जाता है. मायावती दलितों में जाटव समाज से आती हैं और पश्चिमी यूपी में इसकी बड़ी आबादी है. इसके साथ ही पश्चिमी यूपी में मुस्लिमों की भी बड़ी आबादी है.

रैली की सुरक्षा को लेकर जिला प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए हैं. रैली स्थल के पास 4 एएसपी, 15 डिप्टी एसपी, 18 एसओ और 75 एसआई तैनात किए गए है. रैली में सुरक्षा के लिए 2 कम्पनी पीएसी भी लगाई गई है.

(न्यूज 18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi