S M L

मायावती ने योगी सरकार को दलित विरोधी बताया

जालौन में दलितों पर पुलिस लाठीचार्ज की घटना का हवाला देकर कहा- बीजेपी सरकार का रवैया जातिवादी, राजनीतिक द्वेषपूर्ण, भेदभावपूर्ण और दलित विरोधी

Updated On: Sep 25, 2017 05:26 PM IST

Bhasha

0
मायावती ने योगी सरकार को दलित विरोधी बताया

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार को दलित विरोधी करार दिया है. मायावती ने जालौन जिले में अंबेडकर की प्रतिमा के अनादर का विरोध कर रहे लोगों पर कथित तौर पर हुई लाठीचार्ज के संबंध में यह बात कही.

मायावती ने सोमवार को जारी अपने एक बयान में कहा कि जालौन में अंबेडकर प्रतिमा का अपमान किए जाने के विरोध में विरोध-प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने लाठियां बरसाईं और उनमें से कई लोगों को जेल भेज दिया.

उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार के इस रवैये को जातिवादी, राजनीतिक द्वेषपूर्ण, भेदभावपूर्ण और दलित-विरोधी नहीं तो और क्या कहा जाएगा.

मायावती ने आंदोलनकारियों पर लाठीचार्ज करने वाले पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की. उन्होंने कहा कि इस प्रकार के संगीन अपराध करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं किया जाना, इस बारे में सरकार की मिलीभगत को दर्शाता है.

रविवार को जालौन जिले के काशीखेड़ा गांव में सड़क किनारे लगी अंबेडकर प्रतिमा का शरारती तत्वों ने अपमान किया था. इसके विरोध में बीएसपी कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया था. पुलिस ने इस दौरान सुबोध गौतम नाम के एक पुलिस अधिकारी पर हमला करने वाली कुछ महिलाओं को हिरासत में ले लिया था.

बीएसपी अध्यक्ष ने बीएचयू घटना पर छात्राओं पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज की भी कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के गलत और भेदभावपूर्ण रवैये के कारण बीएचयू कैंपस में पुलिस ज्यादती के चलते हिंसा, आगजनी और उपद्रव हुआ. इस मामले में विश्वविद्यालय के वीसी का रवैया भी अड़ियल और तानाशाहीपूर्ण है.

उन्होंने योगी सरकार से पीड़ित छात्र-छात्राओं को इंसाफ दिलाने और उनकी सुरक्षा का ठोस इंतजाम करने की मांग की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi