S M L

LIVE Updates: UP में SP-BSP साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव, 38-38 सीटों का हुआ बंटवारा, कांग्रेस के लिए छोड़ी अमेठी-रायबरेली

लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश से देश की राजनीति पर व्यापक असर डालने जा रहे समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाजवादी पार्टी (BSP) गठबंधन का औपचारिक ऐलान हो गया है

| January 12, 2019, 01:01 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Jan 12, 2019

  • 13:36(IST)

    एसपी-बीएसपी गठबंधन पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि बीजेपी की हार की शुरुआत उत्तर प्रदेश और बिहार से हो चुकी है.

  • 13:29(IST)

    गठबंधन के ऐलान के बाद एसपी-बीएसपी का झंडा एक साथ

  • 13:09(IST)

    एसपी-बीएसपी गठबंधन पर बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि दोनों पार्टियां बस अपनी जमीन बचाने के लिए एक साथ चुनाव लड़ रही हैं. इन पार्टियों ने बीते समय में एक दूसरे पर हत्या का आरोप भी लगाया है. खैर, यह उनकी पसंद है. हमें आत्मविश्वास है, अगर सभी पार्टियां भी एक साथ आ जाएं तब भी हम चुनाव जीतेंगे.

  • 13:06(IST)

    गठबंधन के ऐलान के बाद जश्न मनाते एसपी-बीएसपी के कार्यकर्ता

  • 13:05(IST)

    एसपी-बीएसपी गठबंधन पर बोलते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आज पूरे देश में गठबंधन की जरूरत है. 2014 में बीजेपी ने मात्र 31 प्रतिशत वोट प्राप्त किया था और दावा किया कि यह जनता का फैसला है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वोट बंट जाते हैं.

  • 12:54(IST)

    समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से जब इस बारे में पूछा गया कि क्या वो प्रधानमंत्री पद के लिए मायावती का समर्थन करेंगे? इस पर उन्होंने कहा कि आप मेरी पसंद जानते हैं. उत्तर प्रदेश से देश के कई प्रधानमंत्री बने हैं और हम उसे फिर से दोहराने जा रहे हैं.

  • 12:48(IST)

    प्रेस कॉन्फ्रेंस में मायावती ने कहा कि अमेठी और रायबरेली की लोकसभा सीट कांग्रेस के साथ गठबंधन किए बिना ही उनके लिए छोड़ दी है, ताकि बीजेपी के लोग कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष को यहीं उलझा कर ना रख सकें.

  • 12:46(IST)

    अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के अहंकार को हराने के लिए बीएसपी और एसपी का साथ आना जरूरी था. बीजेपी हमारे कार्यकर्ताओं में मतभेद पैदा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है, हमें एकजुट होना होगा और ऐसी किसी भी रणनीति का मुकाबला करना होगा.

  • 12:38(IST)

    मायावती ने बड़ा ऐलान कर दिया है. उन्होंने कहा कि एसपी-बीएसपी दोनों उत्तर प्रदेश में 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. दो लोकसभा सीट अन्य दलों के लिए छोड़ दिया गया है. मायावती ने कहा कि अमेठी और रायबरेली को कांग्रेस के लिए छोड़ा गया है.

  • 12:36(IST)

    मायावती ने कहा कि हमें कांग्रेस को गठबंधन में शामिल कर कुछ हासिल नहीं होगा. एसपी-बीएसपी दोनों ने अनुभव किया है कि कांग्रेस का वोट ट्रांसफरेबल नहीं है.

  • 12:34(IST)

    हम बीती बातें भुलाकर साथ आए हैं. एसपी-बीएसपी के गठबंधन ने जनता को एक नई उम्मीद दी है. हम पिछड़ों, गरीबों और अल्पसंख्यकों की ताकत बनेंगे. बीजेपी ने जनता को धोखा देकर प्रदेश और केंद्र में सरकार बनाई है. हमने बीजेपी को पहले ही उपचुनाव में हरा दिया है. यह गरीबों, मजदूरों, कारोबारियों, युवाओं, महिलाओं, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों का गठबंधन है- मायावती

  • 12:29(IST)

    मायावती ने कहा कि ये प्रधानमंत्री मोदी जी की और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, दोनों गुरु-चेले की नींद उड़ाने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस है.

  • 12:28(IST)

    बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि सत्ता में कोई भी रहे, नीति एक ही रहती है. उदाहरण के लिए आप देख लीजिए तब भी रक्षा सौदों में भ्रष्टाचार होता था अब भी हो रहा है. कांग्रेस ने तो घोषित तौर पर आपातकाल लगा दिया था लेकिन फिलहाल अघोषित आपातकाल है.

  • 12:22(IST)

    मायावती ने कहा कि मुलायम सिंह यादव और कांशीराम ने मिलकर 1993 में बीजेपी को हराया था. हम भी ऐसा करने जा रहे हैं.

  • 12:21(IST)

    बीएसपी सुप्रीमो मायवती ने कहा कि ये गुरु-चेला यानी मोदी-शाह की नींद उड़ाने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस है.

  • 12:19(IST)

    उन्होंने कहा कि उपचुनाव में हमारा गठबंधन बेहद कारगर रहा.

  • 12:18(IST)

    बीजेपी को 2019  में सत्ता में आने से रोक सकते हैं. आरएलडी भी होगी महागठबंधन का हिस्सा. मायावती ने कहा कि देशहित को ध्यान में रखकर किया गया है यह गठबंधन

  • 12:17(IST)

    बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमने तय किया है कि एसपी-बीएसपी आने वाले लोकसभा चुनाव में एक साथ मैदान में उतरेंगे. यह देश में एक नई राजनीतिक क्रांति की शुरुआत होगी.

  • 12:09(IST)

    अखिलेश यादव और मायावती की लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू हो गई है.

  • 12:07(IST)

    अखिलेश यादव और मायावती की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू

  • 12:01(IST)

    समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव लखनऊ के ताज होटल पहुंच चुके हैं. यहां पर वे मायावती के आने का इंतजार कर रहे हैं. उनके आने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत होगी.

  • 11:57(IST)

    एसपी-बीएसपी की प्रेस कॉन्फ्रेंस बस कुछ ही देर में शुरू होने वाली है. मायावती इसमें शामिल होने के लिए अपने घर से निकल चुकी हैं.

  • 11:49(IST)

    समाजवादी पार्टी के किरणमय नंदा, जूही सिंह, धर्मेंद्र यादव और राजेंद्र चौधरी होटल ताज पहुंच गए हैं. जबकि संतीश चंद्र मिश्रा मायावती के घर पहुंच गए हैं.

  • 11:48(IST)

    न्यूज-18 के मुताबिक, उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि एसपी-बीएसपी का गठबंधन यूपी की जनता के साथ एक धोखा है. यह नापाक गठबंधन है. इस गठबंधन के पास कोई कार्यक्रम और मुद्दे नहीं है. यह स्वार्थों का गठबंधन है. इसे जनता से कोई लेना-देना नहीं है. यह बीजेपी को रोकने का गठबंधन है. यह लोग बीजेपी से मुकाबला तो दूर की बात है, पीछा भी नहीं कर पाएंगे.

  • 11:46(IST)

    योगी सरकार के मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने यूपी में समाजवादी पार्टी-बहुजन समाजवादी पार्टी गठबंधन पर कहा कि बीजेपी किसी गठबंधन से नहीं डर रही है. इस बार बीजेपी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी. एसपी-बीएसपी को यूपी की जनता ने नकारा है. हमें ताज्जुब है कि गरीबों की नेता कहने वाली पार्टियां पांच सितार होटल में मिल रही हैं. इस बार यूपी में बीजेपी 73 से बढ़कर 74 सीट जीतेगी एक सीट भी कम नहीं जीतेंगे.

  • 10:25(IST)

    सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटों में से एसपी और बीएसपी की योजना 37-37 सीटों पर चुनाव लड़ने की है. इसके अलावा राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) को भी दो या तीन सीटें देने की चर्चा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सीट अमेठी और सोनिया गांधी की सीट रायबरेली पर महागठबंधन अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगा.

  • 10:25(IST)

    अखिलेश ने कहा, 'हम लोगों को अब अफवाह फैलाने वालों से सावधान रहने की जरूरत है. हम लोगों को इन अफवाह फैलाने वालों यानी बीजेपी के लोगों से बच के रहना होगा. मेरा तो इतना ही कहना है कि अगर हमको उन्नति करनी है तो जाति-पाति की बात छोड़नी होगी. बीजेपी सरकार लोगों को हर स्तर पर गुमराह कर रही है.

  • 10:23(IST)

    समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि SP और बहुजन समाज पार्टी (BSP) मिलकर लोकसभा चुनाव में जीत का परचम लहराएंगे. उन्होंने कहा कि पिछले साल लोकसभा उप-चुनाव में हम साथ आए तो प्रदेश के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री की सीट पर BJP चुनाव हार गई. इस बार भी हमारा गणित सटीक बैठेगा और BJP को हार का मुंह देखना पड़ेगा.

  • 10:10(IST)

    मायावती-अखिलेश यादव के जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले पूरे लखनऊ में एसपी-बीएसपी के पोस्टर नजर आ रहे हैंं. गठबंधन के औपचारिक ऐलान से पहले कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह है.

  • 10:08(IST)

    फ़र्स्टपोस्ट हिंदी के लाइव ब्लॉग में आपका स्वागत है

LIVE Updates: UP में SP-BSP साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव, 38-38 सीटों का हुआ बंटवारा, कांग्रेस के लिए छोड़ी अमेठी-रायबरेली

लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश से देश की राजनीति पर व्यापक असर डालने जा रहे समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाजवादी पार्टी (BSP) गठबंधन का औपचारिक ऐलान होगा. शनिवार को एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीएसपी सुप्रीमो मायावती दोपहर को एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. माना जा रहा है इसमें लोकसभा चुनावों में महागठबंधन की सीटों को लेकर घोषणा हो सकती है. यह खास प्रेस कॉन्फ्रेंस लखनऊ के ताज होटल में होगा.

26 साल पहले हुए गेस्ट हाउस कांड के बाद एसपी-बीएसपी में काफी दूरियां बढ़ गई थी. अब दोनों दलों के नेता बीती बातों को भूलाकर आगे की योजना बना रहे हैं. इसी सिलसिले में यह पहला मौका होगा जब दोनों पार्टी के नेता एक साथ मीडिया के सामने होंगे. हाल ही में दोनों दलों के नेताओं ने दिल्ली में भेंट कर लोकसभा चुनावों में महागठबंधन के स्वरूप पर चर्चा की थी.

सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटों में से एसपी और बीएसपी की योजना 37-37 सीटों पर चुनाव लड़ने की है. इसके अलावा राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) को भी दो या तीन सीटें देने की चर्चा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सीट अमेठी और सोनिया गांधी की सीट रायबरेली पर महागठबंधन अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगा.

निषाद पार्टी को भी महागठबंधन में शामिल किया जा सकता है. 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश की 80 सीटों में से भारतीय जनता पार्टी गठबंधन ने 73 सीटें जीती थीं और इस बार उसके नेता 73 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं.

एसपी-बीएसपी और आरएलडी ने साथ मिलकर उपचुनाव लड़ा था जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सीट और उप मुख्यमंत्री की फूलपुर सीट से सपा प्रत्याशियों को जीत मिली थी. जबकि कैराना सीट पर आरएलडी प्रत्याशी ने बीजेपी से यह सीट छीनी थी.

बीएसपी सुप्रीमो मायावती गुरुवार शाम दिल्ली से लखनऊ पहुंची. पहले यह अनुमान लगाया जा रहा था कि वह 15 जनवरी को अपने जन्म दिन के दिन महागठबंधन की साझा प्रेस कांफ्रेंस कर सकती है लेकिन अब जन्म दिन के तीन दिन पहले ही इस प्रेस कांफ्रेस का आयोजन किया जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi