S M L

बीजेपी के आरोपों पर मनमोहन का दो टूक जवाब, मेरी सरकार रिमोट कंट्रोल से नहीं चलती थी

बीजेपी के आरोपों पर पहली बार सीधी प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बुधवार को दो टूक शब्दों में कहा कि उनकी सरकार रिमोट कंट्रोल से नहीं चलती थी

Updated On: Nov 21, 2018 04:47 PM IST

FP Staff

0
बीजेपी के आरोपों पर मनमोहन का दो टूक जवाब, मेरी सरकार रिमोट कंट्रोल से नहीं चलती थी

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के आरोपों पर पहली बार सीधी प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बुधवार को दो टूक शब्दों में कहा कि उनकी सरकार रिमोट कंट्रोल से नहीं चलती थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तेज हमला करते हुए सिंह ने कहा कि मोदी सरकार जनता से किए वादे निभाने में नाकाम रही है. उसका हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का वादा सिर्फ जुमला बन कर रह गया है. किसानों की स्थिति भी ठीक नहीं है. किसान कर्ज के बोझ से दबे हैं, उन्हें फसल का उचित दाम नहीं मिल पा रहा है. मनमोहन सिंह ने कहा, ‘मेरी सरकार रिमोट कंट्रोल से नहीं चलती थी, मेरे प्रधानमंत्री रहते हुए सरकार और सत्तारूढ़ पार्टी (कांग्रेस) में मतभेद नहीं थे.’

राम मंदिर के मुद्दे पर पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी को देश की शीर्ष अदालत के फैसले को स्वीकार करना चाहिए.

यूपीए सरकार में बीजेपी शासित राज्यों के साथ भेद-भाव किए जाने के आरोपों पर उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान इस बात की गवाही देंगे कि कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकार ने मध्यप्रदेश के साथ कभी कोई भेद-भाव नहीं किया.

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मोदी सरकार राफेल मामले की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति नहीं बना रही है जिससे लगता है कि दाल में कुछ काला है.

आगे बोलते हुए सिंह ने कहा, 'पीएम मोदी ने देश के विभिन्न संस्थानों को अपने हाथ में कर लिया है. इसके साथ पीएम मोदी राफेल के मुद्दे पर संयुक्त संसदीय समिति के लिए तैयार नहीं हैं. हम सभी को पता है कि वह इसके लिए क्यों तैयार नहीं हैं. नोटबंदी... मोदी सरकार द्वारा जीएसटी और टैक्स ने संगठित और असंगठित क्षेत्रों को एक बड़ा झटका दिया है.'

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi