S M L

मणिपुर में सरकार पर संग्राम, कौन बनेगा सम्राट?

कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए केवल 3 विधायकों की जरूरत है, जबकि, बीजेपी को 10 विधायक और चाहिए

IANS Updated On: Mar 12, 2017 07:33 PM IST

0
मणिपुर में सरकार पर संग्राम, कौन बनेगा सम्राट?

मणिपुर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 28 सीटें जीत कर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, लेकिन यह संख्या बहुमत के आंकड़े से कम है, लिहाजा सरकार गठन को लेकर अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है.

निर्दलीय विधायक अशाब उद्दीन नई सरकार के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं, लेकिन अभी तक उन्होंने किसी पार्टी को अपने समर्थन की घोषणा नहीं की है.

अशब उद्दीन ने जिरिबाम सीट से कांग्रेस के थौदम देबेंद्र सिंह को 1,650 मतों के अंतर से हराया है. रविवार को तृणमूल कांग्रेस के नेता मुकुल रॉय ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में कांग्रेस का समर्थन करेगी.

शनिवार को घोषित चुनाव नतीजों में 60 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस को 28 सीटें मिली हैं, जबकि बीजेपी ने 21 सीटों पर जीत दर्ज की है. इसके पहले के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने केवल दो सीटें जीती थी.

नागा पीपुल्स फ्रंट, नेशनल पीपुल्स पार्टी और लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन का हिस्सा हैं. सरकार गठन में ये सभी पार्टियां बीजेपी का समर्थन कर सकती हैं.

ऐसा होता है तो बीजेपी गठबंधन की सीटों की संख्या बढ़कर 30 पहुंच जाएगी, जो सामान्य बहुमत से केवल एक कम है.

बीजेपी को समर्थन

नागालैंड के मुख्यमंत्री शुरहोजिले लीजीत्सू ने कोहिमा में कहा कि उनका एनपीएफ बीजेपी का समर्थन करेगा. एनपीएफ के पास चार सीटें हैं. एनपीएफ ने इस बारे में राज्यपाल को एक पत्र भेजा है.

Bjp Supporter 2

पिछले चुनाव से इस बार नतीजों में बीजेपी की सीटों की संख्या 2 से बढ़कर 21 पहुंच गई है (फोटो: पीटीआई)

एनपीपी के पास भी चार सदस्य हैं और एलजेपी के पास एक विधायक है. कांग्रेस को सामान्य बहुमत के लिए तीन सीटों की जरूरत है.

बीजेपी के पूर्वोत्तर के प्रभारी राम माधव संख्याबल के इस खेल की निगरानी के लिए इंफाल में डेरा डाले हुए हैं. कांग्रेस के मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह ने शनिवार रात राज्यपाल से संक्षिप्त मुलाकात की थी.

राम माधव ने कहा है कि जनता का फैसला कांग्रेस के खिलाफ है इसलिए समान विचारधारा वाली छोटी पार्टियों के समर्थन से बीजेपी राज्य में अगली सरकार बनाएगी.

उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि उनकी पार्टी सरकार बनाने का दावा कब पेश करेगी और इसके लिए क्या उनके पास सीटों की पर्याप्त संख्या है?

कांग्रेस इबोबी नेशनल पीपुल्स पार्टी के संपर्क में हैं

कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि ओकराम इबोबी सिंह नेशनल पीपुल्स पार्टी के संपर्क में हैं. कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए केवल तीन विधायकों की जरूरत है, जबकि, बीजेपी को कम से कम 10 विधायक और चाहिए.

पार्टी से जुड़े सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस नेता सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए राज्यपाल से जल्द ही मुलाकात करेंगे.

congress

कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते मणिपुर में सरकार बनाने का दावा पेश करने की तैयारी में है (फोटो: पीटीआई)

कांग्रेस के एक नेता ने कहा, 'सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते कांग्रेस को पहले मौका मिलना चाहिए.'

बीजेपी के प्रवक्ता नोंगथोमबाम बिरेन सिंह ने कहा, 'लोकतंत्र में सारा खेल संख्या का होता है. हमारे पास समान विचारधारा वाली पार्टियों के समर्थन से बहुमत है. हम जल्द ही दावा पेश करेंगे.'

बिरेन सिंह ने हीनगैंग सीट से तृणमूल कांग्रेस के पंगीजाम सरतचंद्र सिंह को पराजित किया है. उन्हें मुख्यमंत्री पद का दावेदार भी माना जाता है.

मणिपुर विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 36.3 फीसदी मत मिले हैं, जबकि कांग्रेस को 35.1 फीसदी वोट हासिल हुए हैं.

Manipur Election Results 2017

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi